धर्म

आस्था के आगे ज़हरीली मिट्टी की भी नहीं की प्रवाह

April 04, 2017 08:00 PM
कस्बा हंड्याया नज़दीक स्थित जगह पर बीबड़ियें माई की मिट्टी निकालतीं श्रद्धालू महिलाएं।

बरनाला, अखिलेश बांसल/विपन गुप्ता:

चैत्र के नवरातों एवम आस्था के चलते इलाके की हज़ारों श्रद्धालू महिलाओं ने ज़हरीली जगह की भी परवाह नहीं की। जिन्होंने नज़दीकी फैक्ट्री से निकलती ज़हरीली राख के साथ ढकी हुई जगह पर श्रद्धा पूवर्क मिट्टी निकाल पूजा अर्चना की।
चण्डीगढ़ -बठिंडा रोड पर स्थित कस्बा हंडियाया के नज़दीक से गुज़रते राष्ट्रीय राज मार्ग पर पुरातन समय से श्रद्धालू लोग नवरात्रों के अवसर पर बीबड़ी माई की पूजा अर्चना की रस्म अदा करते हुए मिट्टी निकालते आ रहे हैं। जो यहाँ साल में कम से कम दो बार इकट्ठे होते हैं। परन्तु गत अकाली—भाजपा सरकार ने इस जगह को कथित तौर पर बेचने के इरादों के साथ पूर्व उप -मुख्यमंत्री के दाहिने बाजू माने जाते रहे ज़िला के नामी उद्योगपति की फैक्ट्री से निकलती ज़हरीली राख के साथ ढक दिया था। इसके बावजूद ज़हरीली जगह की भी परवाह करते हुए श्रद्धालू महिलाएं ने जगह पर श्रद्धा पूवर्क मिट्टी निकाल पूजा अर्चना की।  

गत अकाली—भाजपा सरकार ने इस जगह को कथित तौर पर बेचने के इरादों के साथ पूर्व उप -मुख्यमंत्री के दाहिने बाजू माने जाते रहे ज़िला के नामी उद्योगपति की फैक्ट्री से निकलती ज़हरीली राख के साथ ढक दिया था। इसके बावजूद ज़हरीली जगह की भी परवाह करते हुए श्रद्धालू महिलाएं ने जगह पर श्रद्धा पूवर्क मिट्टी निकाल पूजा अर्चना की।


मंज़ूर हुई राशि कर दी खुर्द -बुर्द:
ज़िला शिकायत निवारण समिति सदस्य गोरा लाल ‘दिलवाले’ के अनुसार उक्त जगह की मर्यादा को शाश्वत रखने के लिए उनकी तरफ से नगर पंचायत के द्वारा डेढ़ लाख रुपए चार दीवारी के लिए मंज़ूर करवाए गए थे। परन्तु समिति के लापरवाह और तत्काल राजसी नेताओं के चमचे अधिकारियों ने धर्म के काम के लिए मंज़ूर हुई राशि कथित तौर पर खुर्द -बुर्द कर दी। जिसका आज तक कोई सुराग बाहर नहीं आने दिया गया।
कंज्यूमर फोरम ने भी लगायी थी फटकार:
यह भी बताना भी उचित है कि कस्बा हंडियाया की एक महिला वकील श्रीमति अणु शर्मा की तरफ से धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वालों के ख़िलाफ़ 5 साल पहले कंज्यूमर फोरम में केस भी दायर किया था। जिसका प्रभाव लंबे समय तक रहा। लेकिन नगर पंचायत हंड्याया के आधिकारियों और तत्काल राजसी नेताओं की मनमानियों के चलते हुए उक्त जगह पूरी तरह दूषित कर दी गई।
कैप्टन सरकार से लगायी गुहार:
श्रद्धालू लोगों में से सिकन्दर सिंह, चरना सिंह, गोपाल दास, सोमनाथ, प्रिंस गर्ग, चमकौर सिंह, अवतार सिंह, शाम लाल, चिमन लाल, गुरप्रीत सिंह, संजीव कुमार, हरीओम का कहना है कि विगत अकाली—भाजपा सरकार को इस जगह की बेअदबी करने की सज़ा मिली है।इलाका वासियों की तरफ से उक्त धार्मिक स्थान के पास के एक मैरिज पैलेस और दूसरे फ़ैक्टरियाँ के मालिकों के ख़िलाफ़ फेंकी जाती गन्दगी को लेकर चिंता प्रकट की। उन्होंने पंजाब में नई बनी कैप्टेन सरकार से माँग की है कि इस पवित्र स्थान की साफ़ -सफ़ाई करवाई जाये।
रख—रखाव हेतु समिति का होगा गठन:
कांग्रेसी नेता अश्वनी कुमार ने कहा कि कांग्रेस सरकार की तरफ से समस्त धार्मिक स्थानों की मर्यादा को कायम रखा जायेगा। इस जगह को साफ़ करके यहाँ ख़ूबसूरत छाया वाले पौधे लगाऐ जाएंगे, पीने के पानी का ख़ास प्रबंध होगा, पक्का फर्श और तालाब का निर्माण करवाया जायेगा। श्रद्धालुओं के लिए हर तरह के योग्य प्रबंध करवाए जाएंगे। जिसके लिए निर्माण समिति का गठन किया जायेगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें