ENGLISH HINDI Sunday, July 22, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
तम्बाकू छुड़वाने के लिए सहायक सिद्ध हो सकते हैं बच्चे: डा. रुपिन्दर कौर15 लाख से लगवाए 12 सीसीटीवी कैमरे हैं खराब, ट्रैफिक पुलिस ने एमसी को लिखे 13 लेटर, फिर भी नहीं हुए रिपेयरशिव और सावन जीरकपुर में सारी रात दौड़ती रही संदिग्ध नंबर वाली कार, सोई रही पुलिसविदेश ले जाने के नाम पर पादरी ने किया रेप, इंगलैंड भागने की फिराक में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तारजीरकपुर के दशमेश नगर में 20 घंटे गुल रही बत्ती मचा हाहाकार बिजली गुल तो गुल पनाग ने ट्विटर पर बारिश के बावजूद तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की प्रशंसा के पुल बांधे 104 साल बाद लगेगा 27 व 28 जुलाई की रात्रि सबसे लंबा चंद्र ग्रहण
धर्म

डेराबस्सी में तीन दिवसीय गुरमत समागम आयोजित

May 05, 2017 12:05 PM

डेराबस्सी(मेजर अली)
डेराबस्सी के निकटवर्ती गांव पंडवाला में गुरू मान्यो ग्रंथ सेवक जत्थे की ओर से पंथ के प्रसिद्घ प्रचारक संत रणजीत सिंह ढ़डरियां वालों के तीन दिवसीय समागम करवाए गए। एक मई से शुरू हो कर तीन मई को समाप्त हुए समागम में हज़ारों की संख्या में संगतों ने गुरू की गुरबानी का आनन्द प्राप्त किया। संत रणजीत सिंह ने उपस्थित संगतों को गुरू ग्रंथ साहिब जी के अस्ली ज्ञान से रूबरू करवाया। संत ढडरियां वालों ने कहा कि गुरू ग्रंथ साहिब खुद बोलते हैं। इस लिए प्रत्येक इंसान गुरू ग्रंथ साहिब को खुद पढ़े ताकि सच्चाई को पहचाना जा सके। उन्होंने कहा कि दशम पिता द्वारा बताई गई वाणी को जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिंदगी चालाकियों से नहीं चलती। इंसान को जीवन का असली उद्देश्य पहचानना चाहिए। तीन दिनों में 50 हज़ार संगतों ने हाजरी भरी। इस दौरान गुरू का लंगर भी अटूट चला।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और धर्म ख़बरें