ENGLISH HINDI Tuesday, August 22, 2017
Follow us on
अंतर्राष्ट्रीय

दादी ह्रदय मोहिनी संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में भारत गौरव पुरस्कार से सम्मानित

July 09, 2017 06:54 PM

संयुक्त राष्ट्र  ब्रह्माकुमारीज संस्था की अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका दादी ह्रदयमोहिनी को राष्ट्र के लिए उनकी प्रतिष्ठित सेवाओं और उत्कृष्ट व्यक्तित्व की उपलब्धि के लिए भारत गौरव पुरस्कार संयुक्त राष्ट्र संघ न्यूयॉर्क में प्रदान किया गया। इस समारोह में विश्व भर से पधारे गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। स्वास्थ्य ठीक न होने कारण, दादी जी व्यक्तिगत रूप से पुरस्कार प्राप्त करने के लिए अमरीका की यात्रा नहीं कर सके, इसलिए उनकी ओर से ब्रह्माकुमारी भूमिका बहन ने दादीजी के मानवता की उत्कृष्ट सेवा के लिए पुरस्कार स्वीकार किया। साथ ही, ब्रह्माकुमारी मोहिनी बहन (ब्रह्माकुमारीज के उत्तरी अमेरिका निदेशिका) को मानवता की विश्व सेवा में उत्कृष्ट योगदान के लिए घोषित पुरस्कार भी ब्रह्माकुमारी भूमिका बहन ने विनम्र पूर्वक स्वीकार किया।

दादी हृदयमोहिनी जी नाम का अर्थ है सबके दिल को आकर्षित करने वाली । 1936 में शुरूआत में ब्रह्माकुमारीज संस्था को ओम मंडली के नाम से जाना जाता था। जब दादी जी ओम मंडल के संपर्क में आयी तब उनकी उम्र आठ साल की थी और उनको सभी प्यार से गुल्जार कहते थे। उनको बाल्यकाल से ही उन्हें दिव्य दृष्टि का ईश्वरीय वरदान प्राप्त हुआ। जिससे पता चला कि निकट भविष्य में जहां सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक व्यवस्था उच्चतम मानवीय मूल्यों के साथ होगी, और जहां शांति एकमात्र धर्म होगा ।
इस साल पुरस्कार प्राप्त करने वाले अन्य महानुभावंों में शामिल हैं, फिल्म निर्देशक - मधुर भंडारकर, सुलभ शौचालय के संस्थापक - बिंदेश्वर पाठक, टीवी एशिया के प्रमुख - एच आर शाह और अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला। कुल मिलाकर 26 प्रतिष्ठित व्यक्ति इस साल इस पुरस्कार से सम्मानित हुए। भारत गौरव पुरस्कार के पूर्व प्राप्तकर्ताओं में पेप्सी के सीईओ - इंदिरा नूयी, उड़ान परिचारक - नीरजा भनोट और अनुभवी अभिनेता मनोज कुमार शामिल हैं।
भारत गौरव पुरस्कार या भारत का गौरव पुरस्कार
भारत गौरव पुरस्कार की स्थापना एक अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जयपुर-मुख्यालय स्थित गैर सरकारी संगठन, संस्कृति युवा संस्था द्वारा की गई है। 2012 में संस्कृति युवा संस्था ने भारत गौरव पुरस्कार सम्मान समारोह शुरू किया। विश्व के जो लोग अपने कार्य क्षेत्र में विशेष उपलब्धि हासिल करते हैं और भारत का गौरव बढ़ाते हैं, कोफ़ी टेबल बुक लॉन्च के साथ उनको भव्य समारोह में सम्मानित किया जाता है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें