खेल

पूर्व कैग महानिदेशक नंदलाल ने एयर पिस्टल शूटिंग प्रतियोगिता में जीता स्वर्ण पदक

August 08, 2017 06:30 PM

नन्दलाल ने 33वीं दिल्ली स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप टूर्नामेंट में 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया है। यह प्रतियोगिता दिल्ली स्थित डा. करणी सिंह शूटिंग रेंजिज, तुगलकाबाद में हुई जिसमें कई वर्गों में प्रतिस्पर्धाएं आयोजित की गईं। मूल रूप से हिमाचल के गांव घरोह (जिला कांगड़ा) के निवासी नंदलाल बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं व उन्हें बचपन से ही खेलकूद में काफी रूचि थी।

चण्डीगढ़। पूर्व वरिष्ठ भारतीय प्रशासनिक अधिकारी (आई.ए.ए.एस.) नंदलाल ने राजधानी दिल्ली में आयोजित 10 मीटर एयर पिस्टल शूटिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया है। नन्दलाल यहाँ चण्डीगढ़ से सटे गाँव कंसल (मोहाली) में रहते हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक नन्दलाल ने 33वीं दिल्ली स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप टूर्नामेंट में 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया है। यह प्रतियोगिता दिल्ली स्थित डा. करणी सिंह शूटिंग रेंजिज, तुगलकाबाद में हुई जिसमें कई वर्गों में प्रतिस्पर्धाएं आयोजित की गईं। मूल रूप से हिमाचल के गांव घरोह (जिला कांगड़ा) के निवासी नंदलाल बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं व उन्हें बचपन से ही खेलकूद में काफी रूचि थी। 
 
 
  उन्होंने शूटिंग के अलावा राष्ट्रीय स्तर पर फुटबाल खेला है व तैराकी, ट्रैकिंग एवं राफ्टिंग जैसे साहसिक खेलों में भी उन्होंने हाथ आजमाया है।
इसके अलावा गोल्फ में भी वह सिंगल डिजिट हैंडीकैप के खिलाड़ी रह चुके हैं व कई प्रतिस्पर्धाएं जीत चुके हैं। वर्ष 2012 में दिल्ली में थ्री पोजिशन .22 राइफल शूटिंग प्रतियोगिता में वे पांचवां स्थान प्राप्त कर चुके हैं। नंदलाल सेवानिवृत आई.ए.ए.एस. (भारतीय लेखा एवं लेखा परीक्षा यानी इंडियन ऑडिट एंड एकाउंटस सर्विस) हैं व कई अहम पदों पर महत्वपूर्ण जिम्मेवारियां निभा चुके हैं। वर्ष 2012 में महानिदेशक, कैग (कार्यालय, भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक यानी सीएजी) के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। यह संस्था चारा घोटाला, कोयला घोटाला व 2 जी घोटाले को उजागर करने के चलते काफी चर्चा में रही है व नंदलाल के कार्यकाल में ही यह घोटाले एक के बाद एक जनता के सामने आए।

हिमाचल के एक छोटे से गांव से उठकर उन्होंने अपनी मेहनत के बल पर कई उपलब्धियां हासिल कीं। खेल के साथ-साथ पढ़ाई में भी वह अव्वल रहे। वर्तमान में नंदलाल समाज सेवा कार्य में भी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं व सारथी नाम से एक एनजीओ के संचालक हैं। ये संस्था गरीब बच्चों की पढ़ाई-लिखाई का इंतज़ाम करने के अलावा पर्यावरण सुरक्षा के कार्य में जुटी है। इसके अलावा वे आजकल लेखन कार्य में भी रमे हुए हैं।  

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और खेल ख़बरें
वैदिक स्कूल मनीमाजरा ने जीते दो रजत और एक कांस्य पदक जूनियर एशियन चेंपिअनशिप में रजत पदक लेकर पहुंचे दमनीत का हुआ भव्य अभिनंदन ब्रिक्स गेम्स-2018 साउथ अफ्रीका में 17 जुलाई से, ट्रॉयल पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ के नेटबॉल मैदान में 16 जून से ब्रजेश्वर जसवाल को चंडीगढ़ वॉलीबॉल एसोसिएशन का उपाध्यक्ष चुना गया चैंपस ट्राफी में चैंपस क्रिकेट एकैडमी जीरकपुर ने जीता मनवीर ने ताईकवांडो में गोल्ड मैडल जीत जीरकपुर नाम किया रौशन ग़ैर-कानूनी गतिविधियों के कारण ओहदों से बाहर हुए अधिकारी नेटबॉल खिलाड़ियों से कर रहे धोखा -एनएफआई। आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट के कॉमनवेल्थ में देश से 221 खिलाड़ी लें रहें हैं भाग मनाना की टीम ने जीता दयालपुरा का पहला कबड्डी कप, ट्राफी समेत 51 हज़ार ईनामी राशि जीती भारत-अफगानिस्तान के बीच मोदी दोस्ती कप दिव्यांग क्रिकेट सीरीज का आगाज: सोलंकी बने बल्लेबाज और गेंदबाजी का मोर्चा संभाला बेदी ने