ENGLISH HINDI Tuesday, August 22, 2017
Follow us on
हरियाणा

विद्यार्थियों को कुशल व सक्षम बनाने हेतु शिक्षा विभाग ने बनाया क्विज बैंक

August 11, 2017 07:54 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव, श्री पी.के. दास ने कहा कि राज्य के सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले विद्यार्थियों को कुशल और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए सक्षम बनाने हेतु शिक्षा विभाग ने क्विज बैंक बनाया है। तीसरी कक्षा से लेकर दसवी कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए बनाए गए इस क्विज बैंक में करीब दस हजार प्रश्नोत्तर शामिल किए गए हैं। इस क्विज बैंक को स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में 14 अगस्त को हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी किया जाएगा।
श्री दास आज पंचकूला में स्थित शिक्षा सदन में विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक करने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस क्विज बैंक को तैयार करने में (कौन बनेगा करोड़पति) के प्रोड्यूसर सिद्धार्थ बासु और कई दूसरी नामी संस्थाओं का सहयोग लिया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि इस क्विज बैंक को बनाने में शिक्षा विभाग के करीब 100 लोगों की टीम ने लगभग 6 महिने कड़ी मेहनत की है।उन्होंने बताया कि हर शनिवार सरकारी स्कूलों में क्विज कॉन्टेस्ट आयोजित किए जाएगें जिनमें कक्षा के अध्यापक भी प्रतियोगी के तौर पर हिस्सा लेंगे । उन्होंने बताया कि इस क्विज कॉन्टेस्ट के लिए बकायदा क्विज ट्रेनर के तौर पर ट्रेनिंग दी जा रही है।
एक प्रश्न के उत्तर में श्री दास ने बताया कि यह क्विज कॉन्टेस्ट अंतरकक्षा से लेकर राज्य स्तर तक आयोजित करवाया जाएगा।राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों की विडियो रिकॉर्डिंग करके प्रसारित की जाएगी।
हरियाणा स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने एक अन्य महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा सरकार कॉरपोरेट संस्थाओं के साथ मिलकर सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों का जहां कौशल निर्माण करेगी,वहीं स्कूलों में मुलभूत सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी।
उन्होंने बताया की राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी कार्यक्रम (सीएसआर) के तहत प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बेहतर शिक्षा और बेहतर सुविधाएं देना है। ये संस्थाएं अपने खर्चे पर सरकारी स्कूलों में स्किल डेवलेपमेंट से लेकर स्कूलों में बुनियादी सुविधाएं जैसे स्कूलों में साइंस लैब बनवाना,खेलों का सामान उपलब्ध कराना,पीने के शुद्ध पानी (आर.ओ.)की व्यवस्था करना,कोचिंग क्लास में मदद करना और दूसरे प्रोजेक्ट निर्माण में मदद करना शामिल है।
उन्होंने बताया कि भारती फांउडेशन और श्रीराम फाउंडेशन जैसी नामी 29 संस्थाएं शिक्षा विभाग के साथ मिलकर कार्य कर रही हैं। उन्होंने बताया कि आज शिक्षा विभाग की बेहतर नीतियों से प्रभावित होकर कई अन्य संस्थाओं ने भी सरकारी स्कूलों में अपने अनुभव का योगदान देने की इच्छा जताई है।
श्री दास ने बताया कि राज्य के सरकारी स्कूलो में अब पहली कक्षा से लेकर पांचवी कक्षा तक के बच्चे भी कॉन्वेंट स्कूलों की भांति आपसी बातचीत में अंग्रेजी भाषा का अधिक से अधिक प्रयोग करेंगे।इसके लिए विभाग ने खाका तैयार किया है कि प्रत्येक कक्षा में हरेक बच्चे को कम से कम दो सौ अंग्रेजी के वाक्य (ओरल ट्रांजेक्शन ऑफ इंग्लिंश) सिखाए जाएं, इस प्रकार पांचवी कक्षा तक सरकारी स्कूल का बच्चा करीब एक हजार अंग्रेजी के वाक्य बोलना सीख जाएगा।उन्होंने बताया कि विभाग का मु य उद्देश्य बच्चों को इंग्लिश बोलचाल में उत्कृष्ट बनाने के साथ साथ उनका अंग्रेजी शब्द ज्ञान (वॉकेबलरी) भी बढ़ाना है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
12 आईएएस अधिकारियों के तबादले डेरा प्रमुख पर फैसले के दृष्टिगत 24 व 25 अगस्त को पंचकूला में 5 रास्ते बंद डेरा प्रमुख पेशी मामले को लेकर जींद में 27 अधिकारी डियूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त डेरा प्रमुख की पेशी को लेकर हरियाणा पुलिस अलर्ट, मिली 35 पैरा मिलट्री फोर्स क्षय रोग और कैंसर की अनदेखी करता प्रशासन, सरकार को नहीं सही जानकारी फिर खली ऑडोटोरियम की कमी कॉमेडियन ख्याली के ख्याल के सब दिखे कायल हंसना भी एक योग है: कॉमेडियन ख्याली पुलिस ने रेप के तीन केस दर्ज किए, दो आरोपी काबू डेरा सच्चा सौदा प्रमुख केस , पुलिस कर्मियों की छुट्टियां रद्द , केंद्र से 150 अर्धसैनिक बलों की कम्पनियां मांगी