ENGLISH HINDI Monday, February 19, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
प्राइवेट बिल्डर ने नाजायज तौर पर सड़क खोदी, सीवरेज जोड़ने की कोशिशसांपला दुबई के दो दिवसीय दौरे पर: दुबई के गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार में हुए नतमस्तकहरियाणा, एक आईएएस अधिकारी तथा दो एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश यहां ड्राइव करने वालों के लिए तो रांग ही है राइटचुनाव खर्च का विवरण देने में किया परहेज तो यमुनानगर के 64 उम्मीदवार तीन साल पालिका चुनाव के लिए कर दिए अयोग्यहरियणा और यूपी विश्व शांति, एकता, आपसी सदभाव और समृद्धि के लिए बहुत अहम, सूरजकुंड मेले के समापन पर बोले सोलंकीप्रशिक्षण कार्यशाला में अध्यापकों ने बच्चों के मन की भावनाओं को किया व्यक्तकार्यक्षमता में सुधार करने के लिए समय निर्धारण विषय पर कार्यशाला आयोजित
राष्ट्रीय

राम रहीम को दोषी ठहराने के बाद अनुुयाइयों द्वारा उत्पात, कई शहरों में कफ्र्यू

August 25, 2017 08:10 PM

पंचकूला, फेस2न्यूज:
साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार देने के बाद हरियाणा और पंजाब के कई जिलों में डेरा अनुयाइयों ने जमकर हिंसा व उत्पात मचाया। पंचकूला की केन्द्रीय जांच ब्यूरो अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह ने 15 वर्ष पुराने इस मामले में आज राम रहीम को दोषी ठहराया। इस मामले में सजा का एलान 28 अगस्त को किया जाएगा।
राम रहीम को दोषी ठहराने की खबर जैसे ही अदालत के कमरे से बाहर आयी पंचकूला में एकत्रित बाबा के हजारों अनुयाइयों ने उपद्रव और तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। हिंसा में अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी और कम से कम सैंकड़ों लोग घायल हैं। उपद्रव की आशंका को देखते हुए पंजाब और हरियाणा में सुरक्षा के अभूतपूर्व प्रबंध किये गए थे। बावजूद इसके पंजाब में कई स्टेशनों में आग लगा दी गयी। इसके बाद बठिंडा, फिरोजपुर और मानसा में कफ्र्यू लगा दिया गया। पंचकूला में भी कफ्र्यू लगाया गया है।
बाबा के अनुयाइयों ने सरकारी गाडिय़ों में जमकर तोडफ़ोड़ की और मीडिया के वाहनों को भी नहीं बख्शा गया। भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले और हवा में गोलियां भी दागनी पड़ी। पुलिस ने अनुयाइयों के खदडऩे के लिए लाठीचार्ज भी किया।
पंजाब के बठिंडा में चार सुविधा केंद्रों, रामामंडी पांवर हाउस और टेलीफोन एक्सचेंज तथा बलुआना में पॉवर ग्रिड और रेलवे स्टेशन को उपद्रवियों ने फूंक दिया। मोगा में डगरू रेलवे स्टेशन में भी आग लगाने का प्रयास किया।
हालात बिगड़ते देख प्रशासन ने मुख्यमंत्री के गृह शहर पटियाला में भी कफ्र्यू लगा दिया है। राज्य के जालंधर और बरनाला शहरों में भी उधर हरियाणा के सिरसा शहर में सेना बुला ली गई है। यहां भी हिंसक भीड़ ने एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की टीम पर डेरा समर्थकों ने तेज धारदार हथियार से जानलेवा हमला किया। प्रशासन ने सिरसा में कल रात से ही कफ्र्यू लागू कर दिया है। सेना के आने की आहट होते ही शहर से उपद्रवी फरार हो गये। पूरे शहर में सन्नाटा पसरा है।
गौरतलब है कि सिरसा में ही राम रहीम का डेरा सच्चा सौदा का मुख्यालय है। वहां हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में बताई जा रही है। पंचकूला में सुरक्षा बलों और उपद्रवियों के बीच हुई हिंसक घटनाओं में जो लोग मरे हैं और घायल हुए हैं उनमें सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं। हालांकि सरकार की ओर से अभी तक मृतकों को लेकर कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। शहर में सायरन बजाती अनेकों एम्बूलैंस घायलों को सरकारी अस्पताल में लाने में जुटी हुई हैं।
उपद्रवियों ने पंचकूला के रिहायशी इलाकों की ओर भी रूख किया है। उन्होंने सडक़ों और घरों के सामने खड़ी कारों, मोटरसाईकलों और अन्य वाहनों को आग लगा दी। आशंका है कि वे घरों में लूटपाट की घटनाओं को भी अंजाम दे सकते हैं।
हरियाणा के पंचकूला और सिरसा तथा पंजाब के पटियाला, बठिंडा, मानसा, मलोट और फिरोजपुर शहरों में हिंसा भडक़ने के बाद कफ्र्यू लगा दिया गया। हरियाणा से सटे दिल्ली और गाजियाबाद में भी बाबा समर्थकों ने उत्पात मचाया। आंनद विहार रेलवे स्टेशन पर रीवा एक्सप्रेस के दो खाली कोचों को आग के हवाले कर दिया। कई बसों को भी आग लगाने के समाचार हैं।
इस बीच पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने कानून-व्यवस्था की समीक्षा करते हुये कहा कि दोनों राज्यों में हिंसा के कारण हुये नुकसान की भरपाई डेरा और उसकी सम्पत्तियों को कुर्क करके की जाएगी और यह कार्यवाही अगले दो-तीन दिन में शुरू हो सकती है। न्यायाधीश एस.एस. सरों, सूर्यकांत और अवनीश झिंगन की खंडपीठ ने डेरा की सम्पत्तियों को जब्त करने के भी आदेश दिये हैं। डेरा सच्चा सौदा के प्रवक्ता ने समर्थकों से शांति बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि उनके साथ अन्याय हुआ है। वह ऊपरी अदालत में अपील करेंगे।
पंजाब और हरियाणा में बड़े पैमाने पर हिंसा और आगजनी की घटनाएं तथा सुरक्षा बलों और उपद्रवियों के बीच झड़पें होने के समाचार हैं। दंगाइयों को खदेडऩे के लिये सुरक्षा बलों ने आंसू गैस, वॉटर कैनन तथा कहीं-कहीं बल का भी प्रयोग किया गया लेकिन इनका कोई खास असर नहीं हुआ।
पंचकूला में हालात बेहद खराब हैं वहां जगह-जगह सडक़ों पर जले वाहन उपद्रवियों की करतूत बयां कर रहे हैं। इनमें इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की ओबी वैन, अग्नि शमन दलों के वाहन, कारें और मोटरसाइकिलें शामिल हैं। अनेक वाहनों में तोडफ़ोड़ भी की गयी हैं। शहर में जगह-जगह से घने काले धुएं के गुब्बार उठते दिखाई दे रहे हैं।
पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों ने लोगों विशेषकर डेरा समर्थकों से शांति और सदभाव बनाये रखने की अपील करने के साथ ही सुरक्षा बलों को कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये दंगाइयों से कड़ाई निपटने के निर्देश दिये हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि दंगाइयों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस बीच डेरा सच्चा सौदा के कई समर्थकों को भी गिरफ्तार किया है।
हरियाणा के गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राम निवास ने यहां कहा कि दंगों में जिनका भी नुकसान हुआ है उसकी राज्य सरकार भरपाई करेगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
हरियणा और यूपी विश्व शांति, एकता, आपसी सदभाव और समृद्धि के लिए बहुत अहम, सूरजकुंड मेले के समापन पर बोले सोलंकी पीएनबी में 11360 करोड़ का घोटाला, वित्त मंत्रालय कह रहे है - नॉट आउट ऑफ़ कंट्रोल राष्‍ट्रपति ने राष्‍ट्रपति भवन में ‘एपीजी पंचायत’ आयोजित की बर्फबारी और बरसात से जाती सर्दी लौट आई किसी भी पेशे में अनुशासन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास बेहद महत्वपूर्ण: उप-राष्ट्रपति खेलों का युवा शक्ति को सही दिशा देने में महत्वपूर्ण योगदान: जाखड़ आबू धाबी में होगा स्वामीनारायण मन्दिर का निर्माण सरकारी खर्चे पर सैर सपाटा, अधिकारियों की नीजी सूचना, आरटीआई आवेदन खारिज चुनौतियों से समझौता करने की बजाए उनसे पाठ सीखकर आगे बढ़ें नीति आयोग ‘स्वस्थ राज्य, प्रगतिशील भारत’ जारी करेगा रिपोर्ट कल