ENGLISH HINDI Monday, July 23, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
चंडीगढ़

राधाष्टमी पर राधा रानी के चरण दर्शन से हुए हजारों कृष्ण भगत कृतार्थ

August 30, 2017 08:34 PM

वृषभानु की पुत्री श्रीमती राधा रानी जी का जन्म रावल ( मथुरा ) में हुआ गौर तलब है के वृषभानु जी को नदी में स्नान करने के दौरान बहते हुए कमल के फूल में प्राप्त हुई थी राधा रानी की कृपा होने से कृष्ण भगवान की कृपा शत प्रतिशत आज भी गारंटी पूर्वक है राधा रानी जी का पंचामृत से अभिषेक किया गया गुलाब के फूलों की उनके ऊपर वर्षा की गई विशेष डिजाइन किये हुए वस्त्र श्रीमती राधा रानी जी को भेंट किए गए राधा रानी जी को 56 तरह के व्यंजनों का भोग लगाया गया जिसमें शाही पनीर, मलाई कोफ्ता, मीठे चावल, कश्मीरी चावल, रसगुल्ले, आदि स्वादिष्ट वयंजन भक्तों द्वारा बनाकर राधा रानी जी को भोग लगाया,

चंडीगढ़, फेस2न्यूज

 श्री चैतन्य गोडिया मठ मंदिर सेक्टर 20 चंडीगढ़ में राधाष्टमी का उत्सव बड़ी धूम-धाम से मनाया गया l प्रात: काल मंगल आरती का आयोजन किया गया तथा कीर्तन का सैकड़ों भक्तों ने आनंद लिया, तत्पश्चात वृंदावन से पधारे हुए श्री विष्णु दयित महाराज जी ने भक्तों को संबोधित करते हुए बताया कि साल में यही एक ही दिन होता है जिस दिन सभी कृष्ण भक्त राधा रानी के चरणों के दर्शन कर पाते हैं.

 
 
 
 
 
 
 वृषभानु की पुत्री श्रीमती राधा रानी जी का जन्म रावल ( मथुरा ) में हुआ गौर तलब है के वृषभानु जी को नदी में स्नान करने के दौरान बहते हुए कमल के फूल में प्राप्त हुई थी राधा रानी की कृपा होने से कृष्ण भगवान की कृपा शत प्रतिशत आज भी गारंटी पूर्वक है राधा रानी जी का पंचामृत से अभिषेक किया गया गुलाब के फूलों की उनके ऊपर वर्षा की गई विशेष डिजाइन किये हुए वस्त्र श्रीमती राधा रानी जी को भेंट किए गए राधा रानी जी को 56 तरह के व्यंजनों का भोग लगाया गया जिसमें शाही पनीर, मलाई कोफ्ता, मीठे चावल, कश्मीरी चावल, रसगुल्ले, आदि स्वादिष्ट वयंजन भक्तों द्वारा बनाकर राधा रानी जी को भोग लगाया, हजारों भक्तों ने उसके पश्चात भंडारा प्रसाद का पान किया.

 
 
इस अवसर पर विशेष तौर पर बच्चों का ड्राइंग कंपटीशन का भी आयोजन किया गया जिसमें बच्चों ने राधा रानी के जीवन से संबंधित कई प्रकार के चित्र बनाए.

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें