ENGLISH HINDI Saturday, September 23, 2017
Follow us on
चंडीगढ़

पूरी तरह से स्वस्थ व नए पेड़ काटने पर रोष

September 11, 2017 07:44 PM

 चण्डीगढ़, एक तरफ ग्लोबल वार्मिंग के दिनों-दिन बढ़ते खतरों व सामने पेश आ रहे दुष्प्रभावों के चलते बड़े पैमाने पर पेड़ बचाने एवं पौधरोपण के अभियान चलाए जातें हैं तो दूसरी तरफ हरे-भरे पेड़ों को बेदर्दी से काटने में भी कोई संकोच नहीं किया जाता। ताज़ा मामला सेक्टर 44 का है जहां देखते ही देखते 4 पेड़ों की बुरी तरह से कटाई-छंटाई कर दी गई जबकि 1184 से 1187 नंबर के ये पेड़ पूरी तरह से स्वस्थ व नए थे।

एक तरफ ग्लोबल वार्मिंग के दिनों-दिन बढ़ते खतरों व सामने पेश आ रहे दुष्प्रभावों के चलते बड़े पैमाने पर पेड़ बचाने एवं पौधरोपण के अभियान चलाए जातें हैं तो दूसरी तरफ हरे-भरे पेड़ों को बेदर्दी से काटने में भी कोई संकोच नहीं किया जाता। ताज़ा मामला सेक्टर 44 का है जहां देखते ही देखते 4 पेड़ों की बुरी तरह से कटाई-छंटाई कर दी गई जबकि 1184 से 1187 नंबर के ये पेड़ पूरी तरह से स्वस्थ व नए थे।

इस सेक्टर के मकान नंबर 3046/1 की निवासी जस पंडोरी, जो अंतर्राष्ट्रीय ताइक्वांडो खिलाड़ी हैं व स्टेट अवार्डी भी हैं, ने उक्त जानकारी देते हुए बताया स्थानीय लोगों ने इसका विरोध भी किया परन्तु बागवानी विभाग के कर्मी इससे बेपरवाह होकर आपने काम करके चलते बने।

इसी क्षेत्र के निवासी व भाजपा नेता नरेंद्र पाण्डे ने कहा कि यहां आस-पास कुछ पेड़ बुरी तरह से सूख कर ठूंठ हो चुके हैं व पिछले दिनों एक पेड़ तो गिर कर एक कार को भी क्षतिग्रस्त कर चुका हैं। बाकी के पेड़ों के भी गिरने का भय बना हुआ है। इनके बारे में कई बार सम्बन्धित अधिकारियों को कई बार शिकायत की गई परन्तु कोई सुनवाई नहीं हुई जबकि हरे-भरे पेड़ों को काटने का काम बेहद फुर्ती से निपटा डाला जिसकी कोई जरूरत नहीं थी। स्थानीय लोगों में इस कार्यवाई को लेकर बेहद रोष व्याप्त है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
मनोज तिवारी 28 को चण्डीगढ़ में करेंगे महामाई का गुणगान एचडीएफसी अर्गो इंश्योरेंस कंपनी का बैंक खाता अटैच 75 साल से लेकर नव निर्माण कार्यक्रम चित्र प्रदर्शनी का समापन, डीएवीपी की प्रशंसा चंडीगढ़ युवा कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी के जनमदिन पर प्रधानमंत्री मोदी को बडे चश्मे भेंट करके कटाक्ष किया युवा कांग्रेस चुनाव ने पवन बंसल के जनाधार की पोल खोली: राज नागपाल नीम हकीम खतरा ए जान, बिना डिग्री के प्रैक्टिस कर रहा था बंगाली डॉक्टर हरियाणा, पंजाब, सहित दिल्ली व एनसीआर की 40 टीमे होंगी प्रीमियर लीग का हिस्सा काम करवाती हूं, पर श्रेय लेना नहीं आता: किरण खेर गौरी लंकेश को श्रद्धांजलि देने के लिए शोक सभा का आयोजन तेज रफ़्तार से आगे निकलने की जदो—जहाद का परिणाम