ENGLISH HINDI Wednesday, January 17, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
सेना के वाहन से टकराया रिक्शा, एक परिवार के दो लोगों की मौतगुरप्रीत सिंह हैप्पी ने नवनियुक्त एसएचओ खान को कार्यभार के लिए शुभकामनाएँ दींमकर संक्रांति पर पतंग महोत्सव का किया आयोजन हरियाणा राजभवन कर्मचारी कल्याण संघ की वार्षिक बैठक, रामकुमार को सर्वसम्मति से एसोसिएशन का प्रधान चुना बरनाला में एक करोड़ की गांजा भरी 35 बोरी समेत पांच तस्कर काबू. 19 जनवरी तक का पुलिस रिमांड विविधताएं हमारी संस्कृति की चुनरी में सितारों की तरह हैं चमकती: प्रो.सोलंकीदादा की मौत को बर्दाश्त नहीं करते कांग्रेस के युवा विंग नेता ने दादी व खुद को मारी गोलीमाघ मकर संक्रान्ति 14 और 15 जनवरी को, खाएं व बाटें खिचड़ी
पंजाब

अपनों को छोड दूसरों पर शिकंजा कसने की सूचि का हुआ पर्दाफाश

October 10, 2017 08:08 PM

मैरिज पैलेस के मालिकों व ठेकेदारों द्वारा गठित कथित संगठन के नेता ने कर विभाग को थमायी थी सूचि

बरनाला, अखिलेश बंसल/विपन गुप्ता।
प्रशासनिक एवं समाजिक तौर पर अपनी छवि साफ-सुथरी रखने के लिए कारोबारी यूनिअनों के नेता किस तरह अपनी नेतागिरी चमकाने को लेकर अपने ही लोगों का शोषण करते हैं उसका भंडाफोड़ सरकार के कर विभाग के एक कर्मचारी द्वारा बेनकाब की सूचि से हुआ है। जिसमें यूनिअन नेता ने अपने खास कारोबारियों  पर आंच नहीं आने देने के लिए छोटे कैटरर्ज एवं लेबर क्लास के 19 लोगों को अपना निशाना बनाया है। 
यह बताया मामला:
मैरिज पैलेसों, विवाह शादियों में काम करते कुछ कैटरर्ज मंगलवार की दोपहर जिला प्रबन्धकीय परिसर में स्थित कर विभाग कार्याल्य पहुंचे थे। जहां मौजूद स्टाफ कर्मचारियों के पास उन्होंने मुद्दा उठाया था कि चलते समारोहों के दौरान लेबर जमात एवं कैटरिंग क्षेत्र से जुड़े छोटे-छोटे कैटरर्ज को अधिकारी वर्ग परेशान कर रहा है। उसी वक्त एक कर्मचारी ने सभी के समक्ष एक सूचि का पर्दाफाश किया। उसने बताया कि आपके कारोबार से ही  जुड़े नेता ने सूचि पकड़ाते कहा है कि किसके खिलाफ कार्यवायी करनी है और किन मैरिज पैलेसों व कैटरर्ज के खिलाफ नहीं। उस कर्मचारी ने कार्याल्य पहुंचे पैलेस मजदूरों व कैटरर्ज को यह भी बताया कि कार्याल्य की ओर से उसनेता को कोरा जवाब भी दे दिया गया था।  
यह बताया दर्द:
कैटरर्ज व लेबर जमात ने बताया कि कुछ दिनों से दो पैलेसों को छोड़ कई मैरिज पैलेसों में कर विभाग के अधिकारियों द्वारा चलते समारोहों के दौरान मेहनताना वगैरह के बारे में पूछताछ करने की कोशिशें भी की हैं। जिसके बाद  उनकी वर्षों पुरानी कार्यप्रणाली पर अंगुली उठने लगीं। उन्होंने बताया कि  जिन पैलेसों में जो अधिकारी पहुंचे हैं, किस किस से क्या क्या सवाल किए  हैं, किस नेता ने किस जगह बैठ सूचि तैयार की है और उस नेता का उक्त काली  सूचि कर विभाग को देने के पीछे मकसद क्या था का जलिद ही पर्दाफाश किया जाएगा। एक कैटरर्ज व हल्वाई ने अपना नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि हम अपने आप को हल्वाईयों, पैलेस मालिकों का नेता समझने वाला जो पैसे के बल पर हमारे जैसे मध्यवर्गीय लोगों का किस प्रकार शोषण करता रहा है और अपने मुफाद के लिए झूठी गवा हीयां डलवाता रहा है, अपने पैलेस में काम नहीं करने देने की धमकियां तक देता रहा है। जिसका पर्दाफाश किया जाएगा। भूखे मर जाएंगे ज़मीर से गिर रहे नेताओं के नीचे काम नहीं करेंगे।

सूचि में 19 के नाम हैं शामिल:
खुद समेत बड़े मगरमच्छों को बचाने व दूसरों पर शिंकजा कसवाने को लेकर आरोपी नेता ने जिन कैटरर्ज पर छापामारी करवाने को सूचि दी है उनमें युनीक कैटरर्ज, वी.वी. कैटरर्ज, सीजन फोर कैटरर्ज, ज्ञान कैटरर्ज, प्रकाश  कैटरर्ज, प्रिंस कैटरर्ज, नंबर-वन कैटरर्ज, अमन कैटरर्ज, प्यारा कैटरर्ज, जीत कैटरर्ज, बरनाला कैटरर्ज, झल्ली कैटरर्ज, नीरज स्टालां वाला कैटरर्ज, अनमोल अरमान कैटरर्ज, जिन्दू कैटरर्ज, दावत कैटरर्ज, स्वर्ण कैटरर्ज, अनोखे लाल कैटरर्ज तथा स्टार कैटरर्ज के नाम शामिल हैं।
यह कहते हैं अधिकारी:
आबकारी व कर विभाग के सहायक कमिशनर राजीव गर्ग का कहना है कि जो कोई विभाग को कुछ कैटरर्ज की सूचि पकड़ा कर गया है उसकी गहरायी से जांच की जाएगी। चाहे कोई हल्वाई या मैरिज पैलेस व होटल व रैस्टोरेंट वाला हो जो  कोई भी प्रति प्लेट कारोबार करता है बेशक वह हल्वाई का काम करता हो जो भी  टैक्स की चोरी करेगा या जीएसटी नंबर नहीं लेगा और जीएसटी लेने के बाद भी टैक्स की चोरी करेगा उसे किसी कीमत पर छोड़ा नहीं जाएगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें