ENGLISH HINDI Sunday, June 24, 2018
Follow us on
पंजाब

हमले से गुस्साये हिन्दू नेता पहुंचे राजभवन, राज्यपाल से लगाई सुरक्षा की गुहार

November 13, 2017 08:04 PM

सोशल मीडिया पर खालिस्तान विचारधारा को प्रोत्साहित करने वालों पर हो कार्यवाही: शिवसेना हिन्दुस्तान
दंगा पीडितो की तर्ज पर आतंकवाद पीडित हिन्दुओं के लिये मांगा मुआवजा

चंडीगढ:
शिव सेना हिन्दुस्तान के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन कुमार गुप्ता की अगुवाई में पंजाब के कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों  पर ध्यान केन्दýीत करने की दिशा में आज पंजाब के राज्यपाल श्री वीपी सिंह बदनौर को एक ज्ञापन सौंपा । ज्ञापन सौंपने के बाद प्रेस कल्ब में आयोजित एक पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुये गुप्ता ने कहा प्रदेश में सुरक्षा का माहौल बनाने की अत्यंत आवश्यकता है । गत दिनो हिन्दू नेताओं की हत्याओं का हवाला देते हुये उन्होनंे कहा कि सरकार प्रदेश में कानून और सुरक्षा व्याव्स्था बनाने में नाकारी सिद्व हो रही है । उन्होनंे चेताया कि यदि समय चलते सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो आम आदमी भी अपने आप को असुरक्षित महसूस करता रहेगा । 
शिव सेना हिन्दुस्तान ने सोशल मीडिया में प्रसारित हो रही खालिस्तान विचारधारा पर भी गहन चिंतन किया । उन्होनंे राज्यपाल से खालिस्तान के प्रचार प्रसार के लिये सोशल मीडिया के नजायज प्रयोग करने वालोे पर तुरंत पाबंदी लगाकर सख्त कार्यवाही की मांग की । उन्होनंे खेद व्यक्त किया कि प्रदेश सरकार गर्मपंथी विचारधारा के डर अपने ही घर पंजाब में इंदिरा गांधी का बूत तक स्थापित नही कर पा रही है । उन्होनंे कहा कि पंजाब में खालिस्तान कट्टरपंथी आतंकी संगठनों के खिलाफ संघर्ष करते हुये शहीद  होने वाले सभी लोगों तथा राजनैतिक, समाजिक और पुलिस आफिसरों तथा पत्रकारों का शानदार स्मृति स्मारक बनवाया जाये । इनमें विशेषकर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह, पूर्व डीजीपी  केपीएस गिल आदि की तस्वीरें हो जिन्होनंे आतंकवाद का डटकर मुकाबला करते हुये शहीद हुये ताकि पंजाब की आने वाली पीढी खालिस्तानी आतंकवाद के खिलाफ प्रेरित हो जाये । 
गुप्ता ने आतंकवाद पीडित हिन्दुआंें को 1984 के दंगापीडितों की तर्ज पर पंजाब सरकार जो पिछली कांग्रेस सरकार ने पारित कर 781 करोड रुपये का पैकेज सरकार की मंजूरी के लिये भेजा गया था, वह पैकेज तुरंत रिलीज कर पंजाब के आतंकवाद पीडित परिवारों को मुआवजा दिया जाये । 
गुप्ता ने पंजाब में गत दिनो प्रदेश में पंजाबी भाषा को मान सम्मान दिलवाने के नाम पर हिन्दी और अंग्रेजी साईनबोर्डो पर कालिख पोतने पर भी अत्यंत दुख जताया । उन्होनंे मांग राज्यपाल से मांग है कि ऐसी गतिविधियों पर अंकुश लगाया जाये । उन्होंने पंजाब में कालेज और विश्वविद्यालयों में हिन्दी और संस्कृति भाषा में विकास तथा प्रचार के लिये कमेटियों का गठन कर उत्साह बढाया जाये । 
इस अवसर पर पंजाब प्रदेश के अध्यक्ष कृष्ण शर्मा, उपाध्यक्ष संजीव देम, पजांब प्रदेश के लीगल सैल के अध्यक्ष एडवोकेट अमित घई सहित अन्य नेतागण शामिल हुये । 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
भारत की अमन-शान्ति की कोशिशों को कमज़ोरी न समझा जाये, इस्लामाबाद को चेतावनी रेत माफिया विरुद्ध सीबीआई जांच से क्यों भाग रही है कैप्टन सरकार: आप लाडोवाल टोल-प्लाजा के पास मिला फर्जी दस्तावेज बिजली दरों में वृद्धि का फ़ैसला वापिस न लिया तो लोगों के गुस्से के सामने को तैयार रहें मुख्यमंत्री: आप लेबर की कमी होने के कारण धान की फ़सल लगाना हुआ महंगा एरो होम्ज के बिल्डर पर कसा शिकंजा, कर्ज वाला फ्लैट् बेच कर की ठगी, मामला दर्ज, पुलिस कर रही तलाश मोतिया सीटी की औरतों की तरफ से छबील लगाई गई जीरकपुर के पीरमुछल्ला में आयोजित रक्तदान शिविर में 120 यूनिट ब्लड भेजा पंचकूला ‘मिशन तंदरुस्त पंजाब’ के अंतर्गत लगाए जाएंगे 2 करोड़ पौधे अधिकारियों, कर्मचारियों के तबादलों की तारीख़ में वृद्धि