ENGLISH HINDI Tuesday, November 21, 2017
Follow us on
पंजाब

शिक्षा मंत्री द्वारा प्री-प्राईमरी कक्षाओं का औपचारिक आरंभ

November 14, 2017 07:06 PM

मोहाली, फेस2न्यूज:
शिक्षा मंत्री श्रीमती अरुणा चौधरी ने आज यहां स्थित फेज़-7 के सरकारी एलिमेंट्री स्कूल में रंगारंग समागम दौरान प्री प्राईमरी कक्षाओं का औपचारिक आग़ाज़ किया। उन्होंने क्लास रूम का रिबन काट कर प्री प्राईमरी कक्षाओं की औपचारिक शुरुआत की। इस अवसर पर वह बच्चों को मिले और उनके लिए उपलब्ध करवाई खेल सामग्री भी देखी। बाल दिवस के अवसर पर की इस शुरुआत उपरांत स्कूल कैंपस में हुए रंगारंग समागम दौरान प्राईमरी के बच्चों ने अपनी प्रस्तुति से समय बांध दिया। प्रौग्राम की विशेषता यह रही कि कई आईटमों में नये दाखि़ल हुए प्री प्राईमरी कक्षाओं के बच्चों ने भी अपनी कला का जौहर दिखाए।
समागम को संबोधित करते हुये श्रीमती चौधरी ने कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है जब देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नहरू के जन्म दिवस के अवसर पर मनाए जाते बाल दिवस के दिन ही प्री प्राईमरी कक्षाओं की शुरुआत की है और यह शुरुआत करने वाला पंजाब देश का पहला सूबा है। उन्होंने इस ऐतिहासिक कदम का श्रेय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को देते हुये कहा कि इस अहम फ़ैसले से साथ शिक्षा प्रबंध में और सुधार आएगा और प्राईमरी शिक्षा की नींव मज़बूत होगी। उन्होंने कहा कि राज्य के समूह 12,500 प्राथमिक स्कूलों में आज प्री प्राईमरी कक्षाओं की शुरुआत हो गई। आज तक 1.5 लाख बच्चों ने प्री प्राईमरी कक्षाओं में दाखि़ला ले लिया जो नर्सरी, एल.के.जी. और यू.के.जी. कक्षाओं में दाखि़ल हुए हैं। शिक्षा विभाग द्वारा 30 नवंबर तक यह दाखि़ले किये जाएंगे। इस प्रौजेक्ट को ‘खेल महल’ का नाम दिया गया जिसको शिक्षा और सामाजिक सुरक्षा, स्त्री एवं बाल विकास विभाग मिलकर चलाएंगे। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी वर्करों और हैल्परों का काम प्रभावित नहीं होगा और वह पहले की तरह ही अपनी ड्यूटी करेंगी। उन्होंने कहा कि इन कक्षाओं में बच्चों की पढ़ाई पूर्ण तौर पर मुफ़्त होगी और खेलने और सीखने की सामग्री भी निशुल्क दी जायेगी। कक्षाओं का समय कुल 3 घंटे होगा। गर्मियों में प्रात:काल 8.30 बजे से 11.30 बजे तक और सर्दियों में सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक होगा।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा अध्यापकों, विद्यार्थियों और सरकारी स्कूलों के कल्याण के लिए बड़े क्रांतिकारी कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 400 स्कूलों में अंग्रेज़ी माध्यम आप्शन के तौर पर शुरू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग में पदोन्नितया में आई रुकावट को तोडऩे के लिए 1 वर्ष में चार बार विभागीय पदोन्नित कमेटी (डी.पी.सी.) करने का फ़ैसला किया गया है। इस के अलावा सीमावर्ती क्षेत्र के स्कूलों में अध्यापकों की कमी को पूरा करने के लिए अलग सीमावर्ती काडर बनाने का प्रस्ताव बनाया जा रहा है। अध्यापकों की सीनियर्ता सूचीयां जारी कर दीं गई हैं। अध्यापकों के 4-9-14 मामलों और नये भर्ती अध्यापकों के परख काल समय पूरा होने के पत्र जारी करने के अधिकार निम्र स्तर पर दिए गए हैं। बेहतर और रचनात्मक नतीजे लेने के लिए ग्रेस अंक ख़त्म कर दिए गए हैं और नकल को रोकनो के लिए संवेनशील परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे। उन्होंने शिक्षा विभाग के आधिकारियों को बधाई देते हुये जनपक्षीय फैसलों को सफलता से लागू होने का श्रेय भी उनको दिया।
उन्होंने कहा कि प्री प्राईमरी कक्षाओं के शुरू होने से जहां सरकारी स्कूलों में दाखि़ले बढ़ेंगे वहीं इसका सीधा फ़ायदा साधारण और गरीब परिवारों के बच्चों को मिलेगा जो महंगी फ़ीसों के कारण प्राईवेट स्कूलों में दाखि़ले लेने से असमर्थ थे। उन्होंने कहा कि अब नर्सरी की पढ़ाई भी सरकारी स्कूलों में होगी। स. सिद्धू ने शिक्षा विभाग का धन्यवाद भी किया जिन्होंने इस अहम फ़ैसले को लागू करने की औपचारिक शुरुआत उनके क्षेत्र मोहाली से की है।
शिक्षा विभाग के सचिव श्री कृष्ण कुमार ने अपने संबोधन में आज के दिन को शिक्षा विभाग के लिए ऐतिहासिक करार देते हुये कहा कि अध्यापकों की बड़े लंबी अवधि से चली आ रही मांग पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि अध्यापकों की यह मांग होती थी कि सरकारी स्कूलों में दाखि़ले बढ़ाने और अच्छे प्रबंधों के लिए प्री प्राईमरी कक्षाएं शुरू की जाऐं। उन्होंने कहा कि आज शिक्षा प्रबंधों को मज़बूत करने की शुरुआत हो गई है जिसके अच्छे परिणाम आने वाले तीन वर्षो के भीतर आने शुरू हो जाएंगे। उन्होंने सभी अध्यापकों को भी बधाई दी जिन्होंने इस फ़ैसले को अभियान की तरह चलाया और माता-पिता को जागरूक करके कम समय में 1.5 लाख के करीब बच्चों को दाखि़ल किया।
महानिदेशक स्कूल शिक्षा प्रशांत कुमार गोयल ने सभी मेहमानों का धन्यवाद किया और आशा भी व्यक्त की कि आज हुई नई शुरुआत के अच्छे परिणाम आऐंगे। इससे पहले डी.पी.आई. (एलिमेंट्री शिक्षा) श्री इद्रजीत सिंह ने सभी मेहमानों का स्वागत किया। इस अवसर पर डी.पी.आई. (सकेंडरी शिक्षा) श्री परमजीत सिंह, एस.सी.ई.आर.टी. के निदेशक श्री सुखदेव सिंह काहलों, जि़ला शिक्षा अधिकारी (एलिमेंट्री शिक्षा) मोहाली श्री गुरमेज सिंह कैंथ सहित विभाग के अधिकारी, ब्लॉक प्राईमरी शिक्षा अधिकारी, अध्यापक और बच्चे उपस्थित थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
"पढ़ेगी महिला तो बढ़ेगी महिला, महिला पतंजलि योग समिति ने किया महिला सशक्तिकरण दिवस का आयोजन भूमि विवाद में नशेड़ी बेटे ने किया पिता का कत्ल सीमा पर तस्करो व जवानो के बीच फायरिंग, 110 करोड़ की 22 किलो हैरोईन जब्त शराब ठेकेदार के करिंदे ने लडक़ी से किया दुष्कर्म कोर्ट के बाहर से हवालाती फरार सैक्स रैकेट का पर्दाफाश, तीन काबू, सरगना फरार प्रैस दिवस के अवसर पर एक सेमिनार का आयोजन पंजाब में हुए नौ हिन्दु नेताओं के कत्लेआम के लिए इंटैलीजैंसी जिम्मेवार: एसएमपीसी कैप्टन का रवैैया चुने हुये सांसदो तथा विधायकों से पटियाला राजशाही के दरबारीयों जैसा : तरुण चुग सब्जी मंडी से महिन्द्रा पिक-अप चुरा ले गए तीन बाईक सवार