ENGLISH HINDI Monday, February 19, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
प्राइवेट बिल्डर ने नाजायज तौर पर सड़क खोदी, सीवरेज जोड़ने की कोशिशसांपला दुबई के दो दिवसीय दौरे पर: दुबई के गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार में हुए नतमस्तकहरियाणा, एक आईएएस अधिकारी तथा दो एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश यहां ड्राइव करने वालों के लिए तो रांग ही है राइटचुनाव खर्च का विवरण देने में किया परहेज तो यमुनानगर के 64 उम्मीदवार तीन साल पालिका चुनाव के लिए कर दिए अयोग्यहरियणा और यूपी विश्व शांति, एकता, आपसी सदभाव और समृद्धि के लिए बहुत अहम, सूरजकुंड मेले के समापन पर बोले सोलंकीप्रशिक्षण कार्यशाला में अध्यापकों ने बच्चों के मन की भावनाओं को किया व्यक्तकार्यक्षमता में सुधार करने के लिए समय निर्धारण विषय पर कार्यशाला आयोजित
चंडीगढ़

भगवान शनिदेव के बारे बाबा रामदेव ने दिया आपत्तिजनक बयान: शनिभक्त भडक़े

January 04, 2018 08:21 PM

शंभू बैनर्जी ने दिया दस दिन का अल्टीमेटम, मांफी न मांगने की सूरत में देशभर में आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जाएगा

चण्डीगढ़। समाज अधिकार कल्याण पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंभू बैनर्जी ने शनिदेव पर एक बाबा रामदेव के आपत्तिजनक बयान को लेकर मोर्चा खोल दिया है। रेवाड़ी में कुछ दिन पूर्व आयोजित हुए एक कार्यक्रम में बाबा रामदेव ने बयान दिया था कि शनि पर तेल चढ़़ाने से कुछ नहीं होता। इसके अलावा उन्होंने शनिदेव को महज एक काला पत्थर करार दिया था। 

 शंभू बैनर्जी ने इस बयान पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराते हुए कहा कि ढोगी व पाखंडी बाबाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए जिसका वह भी समर्थन करते हैं। पर भगवान शनिदेव कोई बाबा नहीं हैं बल्कि सभी के पूज्य देव हैं। बाबा रामदेव जैसे स्तर के व्यक्तित्व को शनिदेव को महज काला पत्थर बताना शोभा नहीं देता है।

उन्होंने कहा कि भगवान शनिदेव की आरती में भी एक पंक्ति आती हैं कि- विश्वनाथ धरत ध्यान शरण है तिहारी, अर्थात स्वयं महादेव भी शनिदेव का ध्यान करते हैं। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव का उक्त बयान उनके अज्ञानता का प्रदर्शन करता है। उनके बयान से देशभर में करोड़ों शनिभक्तों की भावनाएं आहत हुई हैं।

उन्होंने अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि आगामी शनिवार यानी 1३ जनवरी तक बाबा रामदेव ने अपने बयान को लेकर शनिभक्तों से माफी नहीं मांगी तो वह उनका पुतला फूंकेंगे व धरना प्रदर्शन भी करेंगे। इसके अलावा अदालत की शरण में भी जाएंगे। यह फैसला आज समाज अधिकार कल्याण पार्टी की आपात बैठक में लिया गया जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष अजय सिंगला, चंडीगढ़ के प्रधान दान बहादुर एडवोकेट, पंजाब के प्रधान समुंद्र सिंह, कानूनी सलाहकार विनोद चंदेल एवं सचिव अमरनाथ व बलराज श्रीमाली आदि भी मौजूद थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
कार्यक्षमता में सुधार करने के लिए समय निर्धारण विषय पर कार्यशाला आयोजित महाशिवरात्रि की पूर्व संध्या पर भजन कीर्तन का आयोजन 'भागवत को सेना के अपमान पर माफ़ी मांगनी ही होगी' हरियाणा, पंजाब, हिमाचल को नशामुक्त बनाने के लिए दो दिवसीय शिविर 17-18 फरवरी से चंडीगढ़ में कम्युनिटी सेंटर सेक्टर 22 में रक्तदान शिविर का आयोजन वी आई पी रोड पर लोगों ने किया रक्तदान, 82 यूनिट्स एकत्रित शिव की स्मृति से मन को मिलती है शांति : कुलविंदर सोही जीरकपुर में मुफ़्त आँखों के कैंप में 380 मरीजों की जांच ब्रह्मलीन श्री श्री अखंड हरिनाम सम्राट स्वामी असीमदेव महाराज जी का पुण्य भंडारा आयोजित युवा कांग्रेस ने अधिकारियों को ज्ञापन देकर शिक्षकों की खाली सीटें भरने की मांग की