ENGLISH HINDI Wednesday, February 21, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
कौंसिल प्रशासन ने तैयार की रणनीति, पॉलीथिन पर बैन पीएनबी घोटाले को लेकर युवा कांग्रेस ने किया प्रदर्शन प्राइवेट बिल्डर ने नाजायज तौर पर सड़क खोदी, सीवरेज जोड़ने की कोशिशसांपला दुबई के दो दिवसीय दौरे पर: दुबई के गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार में हुए नतमस्तकहरियाणा, एक आईएएस अधिकारी तथा दो एचसीएस अधिकारियों के स्थानांतरण एवं नियुक्ति आदेश यहां ड्राइव करने वालों के लिए तो रांग ही है राइटचुनाव खर्च का विवरण देने में किया परहेज तो यमुनानगर के 64 उम्मीदवार तीन साल पालिका चुनाव के लिए कर दिए अयोग्यहरियणा और यूपी विश्व शांति, एकता, आपसी सदभाव और समृद्धि के लिए बहुत अहम, सूरजकुंड मेले के समापन पर बोले सोलंकी
पंजाब

दादा की मौत को बर्दाश्त नहीं करते कांग्रेस के युवा विंग नेता ने दादी व खुद को मारी गोली

January 14, 2018 07:40 PM

बरनाला, (ब्यूरो )-

 
 
  
  
दादा की मौत को बर्दाश्त ना करते जिला कांग्रेस के युवा विंग नेता एवं  लकड़ी व स्टील फर्नीचर के कारोबारी हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी मित्तल  ने दादी और खुद को अपनी लायसेंसी पिस्टल से गोली मार ली है। जिन्हें घायल  अवस्था में सिविल अस्पताल लेजाया गया। जहां जेरे इलाज दोनों की मौत हो  गई। सिटी थाना की पुलिस ने मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम करवाने के बाद दोनों शव वारिसों के सपुर्द कर दिए। शमशानघाट में तीनों शवों को एक साथ लाया गया और मृतक हनी मित्तल के चचेरे भाई आशीष मित्तल ने तीनों चिताओं  को एक साथ मुखाग्नि भेंट की। इस मौके पर विभिन्न राजसी पार्टियों,  धार्मिक एवं समाजसेवी संगठनों के मुखी शामिल थे।

तीन जिस्म एक थे जान:
भले ही हरमेश हनी (25), दादा हरी चंद मित्तल (75) और दादी कृष्णा देवी (72) के जिस्म अलग अलग थे, लेकिन तीनों की जान एक दूसरे में बसी थी। रिश्तेदारी में होते कार्यक्रमों में तीनों इकठ्ठे शामिल होते। दादा को मानसिक तौर पर बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए हरमेश मित्तल ने शनिवार की रात लोहड़ी पर्व धूमधाम से मनाया था। सुबह दादा की मौत होने के बाद हनी के मन में शायद यही था कि "जन्म लेने से पहले पिता ललित मित्तल छोड़ गए, जन्म लेने के बाद मां और जब वंश को बढ़ने व खुद के संभलने का वक्त आया तो दादा छोड़ गए, जिंदगी बेकार है" इन बातों से परेशान हो हरमेश मित्तल ने खुद को गोली मार दी।

हरमेश हनी (25), दादा हरी चंद मित्तल (75) और दादी कृष्णा देवी (72) के जिस्म अलग अलग थे, लेकिन तीनों की जान एक दूसरे में बसी थी। रिश्तेदारी में होते कार्यक्रमों में तीनों इकठ्ठे शामिल होते। दादा को मानसिक तौर पर बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए हरमेश मित्तल ने शनिवार की रात लोहड़ी पर्व धूमधाम से मनाया था।  

रिश्तेदारों को बुलाया था दादा के संस्कार के लिए:
हरमेश को जन्म देने के अगले दिन ही मां द्वारा परिवार छोड़ने पर पहले उसकी चार बुआओं सोनू, प्रीती, बॉबी, मिनी ने लालन-पालन किया, फिर हरमेश को उसके दादा हरी चंद मित्तल व दादी कृष्णा देवी ने गोद ले लिया था। दादा  हरी चंद मित्तल को कुछ समय पहले ट्यूमर (केंसर) हो गया था। जिसका इलाज  हरमेश ने दिल्ली में केंसर के सबसे महंगे अस्पताल राजीव गांधी केंसर अस्पताल में करवाया। वहां से जवाब मिलने के बाद हरमेश ने दादा का इलाज डीएमसीएच लुधियाना में करवाया। तीन दिन पहले ही हरमेश दादा को लुधियाना से बरनाला लेकर पहुंचा था। दादा की मौत सुबह 6 बजे हो गई। दादा की मौत की खबर रिश्तेदारों को देने लगा उसी दौरान पड़ौस में रहते कांग्रेस नेता  मक्खन शर्मा पहुंच गए। दादा के संस्कार की तैयारियां होने लगी। उसी बीच अचानक हरमेश कुछ खास बात करने का बहाना लगा दादी को दादा के शव के पास  उठाकर ऊपर अपने कमरे में ले गया। वहां कमरे में बैठी एक बूआ को कमरे से  बाहर कर कमरे को कुंडी लगा ली। अन्दर अल्मारी में पड़ी अपनी लायसेंसी पिस्टल से पहले दादी के सिर पर दो फायर कर दिए उसके तुरंत बाद खुद पर भी दो फायर किए। जिनमें से पहला फायर खाली छूट गया था। दुसरे फायर से हनी भी घायल हो गया। करीब साढ़े सात बजे हुई फायरिंग की आवाजे सुन कर नीचे मौजूद  रिश्तेदारों दोस्तों ने जाकर कमरे का दरवाजा तोड़ घायलों को अस्पतालपहुंचाया।

कांग्रेस का युवा स्तंभ गिरा:
मृतक हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (युवा विंग) के वरिष्ठ नेता थे। जो पीपीसीसी के जिला प्रधान मक्खन शर्मा के जरिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवल सिंह ढिल्लों के संपर्क में आए थे।  इसके बाद हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी ने बहुत ही कम समय के दौरान कैप्टन  अमरिंदर सिंह से नजदीकियां बना ली थी। जिसके चलते कांग्रेस को उम्मीद जगी थी कि हनी मित्तल राजनीती में जल्दि ही खास जगह बनाएगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
कौंसिल प्रशासन ने तैयार की रणनीति, पॉलीथिन पर बैन प्राइवेट बिल्डर ने नाजायज तौर पर सड़क खोदी, सीवरेज जोड़ने की कोशिश सांपला दुबई के दो दिवसीय दौरे पर: दुबई के गुरुद्वारा गुरु नानक दरबार में हुए नतमस्तक यहां ड्राइव करने वालों के लिए तो रांग ही है राइट प्रशिक्षण कार्यशाला में अध्यापकों ने बच्चों के मन की भावनाओं को किया व्यक्त राजपुरा से जीरकपुर घर लौट रहे सेंट्रो कार ट्रक में घुसी, मौके पर कार सवार नौजवानों ने तोड़ा दम प्रापर्टी डीलर ने एक प्लाट को 2 अलग-अलग टुकड़ों में बांटा, और फिर एमसी ने कर दिए नक्शे पास.. जीरकपुर : दस्तावेज पूरे तो तीस दिन में नक्शा चकाचक कुकरमुत्तों की तरह डेराबस्सी और जीरकपुर में बनी अवैध कलोनियां एनओसी के बिना रजिस्ट्री पर रोक का निकाला हल पावरकॉम ने बकायेदारों से वसूली के लिए कसी कमर, काटे जाएंगे कनेक्शन