ENGLISH HINDI Wednesday, August 22, 2018
Follow us on
पंजाब

दादा की मौत को बर्दाश्त नहीं करते कांग्रेस के युवा विंग नेता ने दादी व खुद को मारी गोली

January 14, 2018 07:40 PM

बरनाला, (ब्यूरो )-

 
 
  
  
दादा की मौत को बर्दाश्त ना करते जिला कांग्रेस के युवा विंग नेता एवं  लकड़ी व स्टील फर्नीचर के कारोबारी हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी मित्तल  ने दादी और खुद को अपनी लायसेंसी पिस्टल से गोली मार ली है। जिन्हें घायल  अवस्था में सिविल अस्पताल लेजाया गया। जहां जेरे इलाज दोनों की मौत हो  गई। सिटी थाना की पुलिस ने मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम करवाने के बाद दोनों शव वारिसों के सपुर्द कर दिए। शमशानघाट में तीनों शवों को एक साथ लाया गया और मृतक हनी मित्तल के चचेरे भाई आशीष मित्तल ने तीनों चिताओं  को एक साथ मुखाग्नि भेंट की। इस मौके पर विभिन्न राजसी पार्टियों,  धार्मिक एवं समाजसेवी संगठनों के मुखी शामिल थे।

तीन जिस्म एक थे जान:
भले ही हरमेश हनी (25), दादा हरी चंद मित्तल (75) और दादी कृष्णा देवी (72) के जिस्म अलग अलग थे, लेकिन तीनों की जान एक दूसरे में बसी थी। रिश्तेदारी में होते कार्यक्रमों में तीनों इकठ्ठे शामिल होते। दादा को मानसिक तौर पर बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए हरमेश मित्तल ने शनिवार की रात लोहड़ी पर्व धूमधाम से मनाया था। सुबह दादा की मौत होने के बाद हनी के मन में शायद यही था कि "जन्म लेने से पहले पिता ललित मित्तल छोड़ गए, जन्म लेने के बाद मां और जब वंश को बढ़ने व खुद के संभलने का वक्त आया तो दादा छोड़ गए, जिंदगी बेकार है" इन बातों से परेशान हो हरमेश मित्तल ने खुद को गोली मार दी।

हरमेश हनी (25), दादा हरी चंद मित्तल (75) और दादी कृष्णा देवी (72) के जिस्म अलग अलग थे, लेकिन तीनों की जान एक दूसरे में बसी थी। रिश्तेदारी में होते कार्यक्रमों में तीनों इकठ्ठे शामिल होते। दादा को मानसिक तौर पर बीमारी से मुक्ति दिलाने के लिए हरमेश मित्तल ने शनिवार की रात लोहड़ी पर्व धूमधाम से मनाया था।  

रिश्तेदारों को बुलाया था दादा के संस्कार के लिए:
हरमेश को जन्म देने के अगले दिन ही मां द्वारा परिवार छोड़ने पर पहले उसकी चार बुआओं सोनू, प्रीती, बॉबी, मिनी ने लालन-पालन किया, फिर हरमेश को उसके दादा हरी चंद मित्तल व दादी कृष्णा देवी ने गोद ले लिया था। दादा  हरी चंद मित्तल को कुछ समय पहले ट्यूमर (केंसर) हो गया था। जिसका इलाज  हरमेश ने दिल्ली में केंसर के सबसे महंगे अस्पताल राजीव गांधी केंसर अस्पताल में करवाया। वहां से जवाब मिलने के बाद हरमेश ने दादा का इलाज डीएमसीएच लुधियाना में करवाया। तीन दिन पहले ही हरमेश दादा को लुधियाना से बरनाला लेकर पहुंचा था। दादा की मौत सुबह 6 बजे हो गई। दादा की मौत की खबर रिश्तेदारों को देने लगा उसी दौरान पड़ौस में रहते कांग्रेस नेता  मक्खन शर्मा पहुंच गए। दादा के संस्कार की तैयारियां होने लगी। उसी बीच अचानक हरमेश कुछ खास बात करने का बहाना लगा दादी को दादा के शव के पास  उठाकर ऊपर अपने कमरे में ले गया। वहां कमरे में बैठी एक बूआ को कमरे से  बाहर कर कमरे को कुंडी लगा ली। अन्दर अल्मारी में पड़ी अपनी लायसेंसी पिस्टल से पहले दादी के सिर पर दो फायर कर दिए उसके तुरंत बाद खुद पर भी दो फायर किए। जिनमें से पहला फायर खाली छूट गया था। दुसरे फायर से हनी भी घायल हो गया। करीब साढ़े सात बजे हुई फायरिंग की आवाजे सुन कर नीचे मौजूद  रिश्तेदारों दोस्तों ने जाकर कमरे का दरवाजा तोड़ घायलों को अस्पतालपहुंचाया।

कांग्रेस का युवा स्तंभ गिरा:
मृतक हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (युवा विंग) के वरिष्ठ नेता थे। जो पीपीसीसी के जिला प्रधान मक्खन शर्मा के जरिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केवल सिंह ढिल्लों के संपर्क में आए थे।  इसके बाद हरमेश कुमार मित्तल उर्फ हनी ने बहुत ही कम समय के दौरान कैप्टन  अमरिंदर सिंह से नजदीकियां बना ली थी। जिसके चलते कांग्रेस को उम्मीद जगी थी कि हनी मित्तल राजनीती में जल्दि ही खास जगह बनाएगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
दो पत्रकारों के ख़िलाफ़ जबरन वसूली करने के आरोप में केस दर्ज सरकार द्वारा ईद-उल-ज़ूहा (बकरीद) पर सार्वजनिक छुट्टी का ऐलान नगर निगम का सुपरिडेंट और एजेंट रिश्वत लेते रंगे हाथों काबू नाईजीरियन तस्कर 1.8 करोड़ की हेरोइन सहित गिरफ्तार एंपलाईज़ यूनियन की बैठक, मांगे न मानने पर भूख हड़ताल की चेतावनी जीरकपुर की नाबालिग लड़की की डेंगू से हुई मृत्यु मिशन तंदुरुस्त तहत छापे, दूध और दूध उत्पादों के भरे नमूने बिना लाइसेंस के 70000 कीमत की अंग्रेजी दवाइयां बरामद मिलावट पर रोक के लिए रास्ता ढूँढने का अधिकारियों को निर्देश मंत्रीमंडल ने रखा पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की याद में दो मिनट का मौन