ENGLISH HINDI Wednesday, August 22, 2018
Follow us on
राष्ट्रीय

किसी भी पेशे में अनुशासन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास बेहद महत्वपूर्ण: उप-राष्ट्रपति

February 12, 2018 10:55 AM

हैदराबाद, फेस2न्यूज:
भारत के उप-राष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने कहा कि किसी भी पेशे के लिये अनुशासन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास बेहद अहम है। हैदराबाद में आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं तमिलनाडु के पूर्व राज्यपाल श्री के. रोसैया को सम्मानित करने के उपरांत एक सभा को संबोधित करते हुये उन्होंने ऐसा कहा। तेलंगाना के उप-मुख्यमंत्री श्री मोहम्मद महमूद अली एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।
श्री रोसैया के बारे में चर्चा करते हुये उप-राष्ट्रपति ने कहा कि उनकी प्रतिबद्धता एवं समर्पण नये राजनेताओं के लिये प्रेरणादायी है। उन्होंने आगे कहा कि सार्वजनिक जीवन जीने वाले व्यक्तियों को जिम्मेदारी भरा और ऐसा आचरण करना चाहिये जिससे अन्य लोग प्रेरणा ले सकें।
उप-राष्ट्रपति ने संसद एवं राज्य विधानमण्डलों में बहुधा होने वाले व्यवधानों पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि ऐसे घटनाक्रम केवल व्यवस्था को कमजोर ही करेंगे और यह लोकतंत्र के लिये अच्छा नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह से संसद एवं राज्य विधानमण्डल काम कर रहे हैं उस पर व्यापक बहस की आवश्यकता है।
उप-राष्ट्रपति ने कहा कि निरक्षरता, भूख एवं भेदभाव मुख्य चिंतायें हैं। उन्होंने कहा कि इन समस्याओं का समाधान ढूंढ़ना वर्तमान नेतृत्व की जिम्मेदारी है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
"स्वास्थ्य अनुसंधान में जैव सूचना विज्ञान" परियोजना का नेतृत्व करेंगे नाईपर के प्रो. प्रसाद वि. भारतम उत्तरी राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा नशों संबंधी डाटा सांझा करने, पंचकुला में केंद्रीय सचिवालय स्थापित करने का फैसला बीआईएस ने बोतलबंद पेयजल उत्‍पादन इकाई पर छापा मारा प्रखर कवि, दूरदर्शी नेता देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने की संसारिक यात्री पूरी अपनी ही बनाई बेड़ियों से जकड़ा आज़ाद भारत डीएसी ने छह एनजीओपीवी के अधिग्रहण को दी मंजूरी लोकसभा सियासी रंगमंच पर कितना नाचेगा वोटर? नकली उत्‍पादों की बिक्री, उपभोक्‍ताओं को मुआवजा के अधिकार राष्‍ट्रपति ने त्रिशूर के सेंट थॉमस कॉलेज के शताब्‍दी समारोह का उद्धाटन किया निरंकारी मत के माता सविंदर हरदेव जी ब्रह्यलीन