ENGLISH HINDI Wednesday, August 22, 2018
Follow us on
चंडीगढ़

हरियाणा, पंजाब, हिमाचल को नशामुक्त बनाने के लिए दो दिवसीय शिविर 17-18 फरवरी से चंडीगढ़ में

February 13, 2018 04:18 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज

भगवती मानव कल्याण संगठन एक अखिल भारतीय रजिस्टर्ड जनकल्याणकारी आध्यात्मिक संगठन है, जिससे देश के करोड़ों लोग जुडे हुये है। संगठन समाज मे आपसी, भाईचारा बनाने नशामुक्त, मांसाहारमुक्त, चरित्रवान् एवं चेतनावान् समाज के निर्माण के साथ ही जातिभेद, छुआछूत, साम्प्रदायिकता आदि सामाजिक बुराइयों को दूर करके सभी जाति धर्म-सम्प्रदायों को एक सूत्र मे पिरोते हुये समाज के बीच आध्यात्मिक वातावरण निर्मित करके समाज को आत्मचेतनावान् बनाते हुये मानवता के पथ पर बढ़ाने का कार्य कर रहा हैं।

 संगठन उपर्युक्त जनकल्याणकारी लक्ष्यों की पूर्ति हेतु समय पर विभिन्न क्षेत्रों में शक्ति चेतना जनजागरण शिविरों एवं यात्राओं का आयोजन करता है। इन आयोजनों मे भगवती मानव कल्याण संगठन एवं पंचज्योति शक्तितीर्थ सिद्धाश्रम (ट्रस्ट) के संस्थापक-संचालक धर्मसम्राट युग चेतना पुरुष सद्गुरुदेव परमहंस योगीराज श्री षक्तिपुत्र जी महाराज स्वयं उपस्थित होते है।
इसी सन्दर्भ में भगवती मानव कल्याण संगठन के केन्द्रीय महासचिव श्री अजय अवस्थी जी ने बताया कि सद्गुरुदेव श्री शक्तिपुत्र जी महाराज के द्वारा विश्वअध्यात्म की धर्मधुरी के रूप मे स्थापित अलौकिक साधनास्थल, तपोभूमि पंचज्योति शक्तितीर्थ सिध्दाश्रम में श्री दुर्गाचालीसा का अखण्ड पाठ दिनांक 15 अप्रैल 1997 से अनन्तकाल के लिये अनवरत चल रहा है। इससे उत्पन्न विशिष्ट चेतनात्मक ऊर्जा का लाभ करोड़ों लोग प्राप्त कर रहे हैं।
श्री अवस्थी जी ने बताया कि समाज को नशामुक्त, मंासाहारमुक्त, भय-भूख-भ्रष्टाचारमुक्त, अपराधमुक्त व चरित्रवान् एवं चेतनावान् बनाने के लिए परमहंस योगीराज श्री शक्तिपुत्र जी महाराज के द्वारा अब तक कुल 117 शक्तिचेतना जनजागरण शिविर आयोजित किये गये हैं। जिनके माध्यम से करोड़ों लोग आत्मकल्याण एवं जनकल्याण का मार्ग अपना चुके हैं तथा इसी क्रम में हरियाणा, पंजाब एंव हिमाचल प्रदेश को नशामुक्त, मांसाहारमुक्त, चरित्रवान् एवं चेतनावान् बनाने के लिए 17-18 फरवरी 2018 को खुला ग्राउण्ड, फर्नीचर मार्केट के सामने, सेक्टर-34, चंडीगढ़ में नषामुक्ति महाष्ंाखनाद षिविर का विषाल अयोजन किया जा रहा है। जिसमें पूज्य गुरूवरश्री के साथ अपार जनसमुदाय एक साथ मिलकर नशामुक्ति महाश्ंाखनाद करेंगे।
इस लक्ष्य की पूर्ति के लिये श्री अवस्थी जी ने बताया कि नशामुक्ति महाश्ंाखनाद के इस वृहद आयोजन मे सम्मिलित होने हेतु भगवती मानव कल्याण संगठन सभी धार्मिक संस्थाओं के धर्मप्रमुखों एवं कार्यकर्ताओं, स्वयंसेवी संगठनांेे, शिक्षा संस्थानों, समस्त राजनीतिक दलांे, समाज के बुद्धिजीवीवर्गांे तथा युवाओं सहित सभी जाति-धर्म-सम्प्रदाय के लोगांे को सादर आमंत्रित करता है।

अशोक आहुजा,प्रदेष अध्यक्ष व प्रदीप कलेसर मीडिया प्रभारी, ने बताया कि इस वृहद व अद्वितीय शिविर मंे उचित सहयोग की अपेक्षा हेतु समस्त कार्यक्रम का विवरण निम्नवत् प्रस्तुत है-

16 फरवरी 2018, दिन शुक्रवार-धर्मसम्राट युग चेतना पुरुष सद्गुरुदेव परमहंस योगीराज  श्री षक्तिपुत्र जी महाराज का चंडीगढ़ नगर में आगमन होगा, 17 फरवरी 2018 दिन शनिवार-प्रातः 07.00 बजे से 09.00 बजे तक  मंत्र जाप, योग-ध्यान-साधना अपरान्ह 01.00 बजे से 02.00 बजे तक, माता के भजन एवं जयकारें
अपरान्ह 02.00 बजे से 04.00 बजे तक, परम पूज्य सद्गुरुदेव परमहंस योगीराज श्री शक्तिपुत्र जी महाराज के चेतनात्मक प्रवचन शाम 04.00 बजे से 05.00 बजे तक , दिव्य आरती, प्रणाम और प्रसाद वितरण 18 फरवरी 2018, दिन रविवार-प्रातः 07.00 बजे से गुरूदीक्षा का कार्यक्रम अपरान्ह 01.00 बजे से 02.00 बजे तक माता के भजन एवं जयकारें अपरान्ह 02.00 बजे से 04.00 बजे तक,  परम पूज्य सद्गुरुदेव परमहंस योगीराज श्री शक्तिपुत्र जी महाराज के चेतनात्मक प्रवचन शाम 04.00 बजे से 05.00 बजे तक दिव्य आरती, प्रणाम और प्रसाद वितरण.

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां 22 को पहुंचेगी चंडीगढ राजीव गांधी के दूरदर्शी निर्णयों से देश आईटी क्षेत्र की विश्व महाशक्ति बना: नागपाल श्रावण मास का आखिरी सोमवार: सनातन धर्म सभा सेक्टर 46 ने लगाया खीर मालपुड़े का लंगर सतयुग दर्शन ट्रस्ट द्वारा आयोजित अनूठा अंतर्राष्ट्रीय मानवता ई-ओलम्पियाड-2018 विश्व हिन्दू परिषद-बजरंग दल चंडीगढ़ ने किया संगठन विस्तार पूर्वांचल विकास महासंघ, चण्डीगढ़ के प्रधान सुनील गुप्ता नेकालका-पिंजौर में ध्वजारोहण किया। समस्या-समाधान टीम ने मनाया जश्न ए आजादी महोत्सव पूजा बख्शी राष्ट्रीय गौरव अवॉर्ड 2018 से सम्मानित टंडन के देहांत से एक युग का अंत: भाजपा नेता आतंकवाद-पत्थरबाजों को करारा जवाब है करीम मोहम्मद