ENGLISH HINDI Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
पंजाब

प्राइवेट बिल्डर ने नाजायज तौर पर सड़क खोदी, सीवरेज जोड़ने की कोशिश

February 19, 2018 07:42 PM
जीरकपुर (जे एस कलेर) 
ज़ीरकपुर शहर के सिंघपुरा गाँव व भी आई पी रोड को जाती लिंक सड़क को नामी प्राईवट बिल्डर द्वारा सोसाइटी के सिवरेज को कनेक्ट करने के लिए नवनिर्मित सड़क को बीचोबीच से खोद डाला। जिससे इस सड़क का आने जाने के लिए प्रयोग करने वालों व पास के घरों के लिए खतरा बन गया है। यह रास्ता वी आई पी रोड से सिंघपुरा में से होता रामगढ़ भूडा से हो कर पटियाला रोड पर मिलता है। इस रोड से रोज़मर्रा की काफ़ी लोगों का आना जाना है। इस रोड पर छोटे बच्चों का किंडर गार्टन स्कूल और सिंघपुरा सरकारी प्राथमिक स्कूल भी है।
इस रोड पर नगर कौंसिल ज़ीरकपुर की तरफ से सिंघपुरा गाँव में स्थित सिवरेज ट्रीटमेंट पलांट तक शहर का मेंन सिवरेज सिस्टम डाला गया था जो कि बहुत बढ़िया तरीको साथ चल रहा है और लोगों को कोई प्रेशानी नहीं हो रही, परन्तु करीब डेढ़ साल पहले बनी "द एमिनेंस" नामक एक प्राईवेट सोसायटी मालिकों ने इस सिवरेज सिस्टम के साथ अपना सिवरेज सिस्टम  नाजायज तौर पर जोड़ने के लिए नयी बनी सड़क खोद दी। सिवरेज जोड़ने के लिए सड़क को बिना किसी विभागीय मंज़ूरी से खोद कर सड़क के बीचोबीच खड्डा कर दिया गया जिस कारण आसपास रहने वाले और इस सड़क से निकलने वाले लोगों के लिए प्रेशानी का सबब बन गया है।
जिकरयोग है कि यह सारी कारवाही रविवार के दिन की गई वही ठेकेदार के पास सरकारी सीवरेज लाइन का कोई मैप नही था और न ही मौके पर जीरकपुर नगर कौंसिल का कोई अधिकारी ही था। बातचीत करते सिंघपुरा निवासियों और वी आई पी रोड रैसिडेंट्स फेडरेशन के प्रधान सचिन शर्मा ने बताया कि प्राईवेट सोसायटी के बिल्डर की तरफ से सड़क नाजायज तौर पर उखाड़ नजाजय तौर पर सिवरेज का कनेक्शन करने की कोशिश की जा रही थी। जब बिल्डर से परमिशन लैटर मांगा गया तो वह आनाकानी करने लगा जब इसकी शिकायत अधिकारियों से की गई तो ठेकेदार जे सी बी मशीन समेत मोके से फरार हो गया। उन्होंने आरोप  लगाया कि इस सड़क का निर्माण हाल ही में किया गया था जिसे खोद दिया गया, ना ही इस सोसाइटी के पास ओक्योपेंसी सर्टिफिककेट है और ना ही कंप्लीशन सर्टिफिककेट फिर किसकी मंजूरी से अवैध तरीके से यह कनैक्शन जोड़ कर सड़क को नुकसान पहुचाया गया। इसकी शिकायत नगर कौंसिल अधिकारियों को भी दी गई परन्तु सबंधित विभाग से मौका देखने नही पहुचा।
इस बारे में जब विभाग के कार्यकारी अधिकारी मनवीर सिंह गिल के साथ बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि यह मामला मेरे ध्यान में नहीं है अब पता चला है और हम इस की जांच करेंगे और जो भी दोशी पाया गया उस के ख़िलाफ़ बनती कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
नगर कौंसिल के विकास के दावों की निकली हवा आवारा कुत्तों के आतंक से लोगों में दहशत, कुत्तों के झुंड से डरते बच्चे घरों में रहने को मजबूर बिना एटीएम विजय बैंक से निकले 32 हजार, बैंक मैनेजर ने किया दुर्व्यवहार भारी बारिश होने से फिर से मुश्किलों में घिरे जीरकपुर के लोग जीत के साथ सरकार की नीतियों पर मोहर लगी: जसपाल सिंह पत्रकार एकता मंच ने सम्मानित किए जनूनी पत्रकार पोल्ट्री फार्म बंद करने की माँग को लेकर प्रदर्शन अध्यापकों ने किया कांग्रेस के पूर्व विधायक की कोठी का घेराव चोटी की कंपनियों के नाम पर नकली पदार्थ बनाने वाले का पर्दाफाश कांग्रेस पार्टी की जि़ला परिषद और पंचायत समिति चुनाव में भारी जीत