ENGLISH HINDI Tuesday, September 25, 2018
Follow us on
अंतर्राष्ट्रीय

कनाडा —भारत का रिश्ता केवल राजनैतिक नही, आपसी रिश्ते भी हैं मधुर

February 23, 2018 01:24 PM

चंडीगढ़, कुलबीर कलसी:
कनाडा और भारत का रिश्ता केवल राजनैतिक नही बल्कि लोगों का आपस में मधुर और प्यारा रिश्ता है। इस रिश्ते में खट्टास आना बहुत मुश्किल है। यह कहना है कनाडा के बै्रपटन के सांसद राज ग्रेवाल का। राज ग्रेवाल ने यह शब्द चंडीगढ़ में प्रेस वार्ता के दौरान कहे। इस दौरान उनके साथ कनाडा का प्रतिनीधि मंडल भी मौजूद था।
उल्लेखनीय है सांसद राज ग्रेवाल को यूनाइटेड नेशन ऐसोसिएशन चंडीगढ़ द्वारा खास तौर से आंमत्रित किया गया। ऐसोसिएशन के अध्यक्ष हरचरण सिंहरनोटा ने बताया कि सांसद एवं उनके टीम को आंमत्रित करना का उदेश्य कनाडा़ सरकार एवं निजी प्रौद्यगिक संस्थान द्वारा पंजाब में लघु उद्योग में निवेशकरने का आग्रह करना था। तांकि दोनों देशों के व्यापारी एवं लोग इसका फायदा उठा सकें।
दोनों देशों में करीब 8 बिलियन डालर का व्यापार होता है। इसे चाहे आप व्यापार की नजर से देखे, चाहे राजनतिक तौर पर देखें दोनों देशों का संबध बहुतअच्छा रहा है और आगे भी रहेगा। यही नही मंगलवार को मुम्बई में प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रीडो ने एग्रीमेंट किया है कि भारतीय कंपनिया कनाड़ा में 1 बिलियननिवेश करेगी और कनाडा कंपनियां 750 मिलियन डालर भारत में निवेश करेगी। इसके अलावा कनाड़ा सरकार ओर भी व्यापारिक विकल्प देख रही और आनेवाले समय में और भी निवेश करने की योजना बनाएगी।
इस मौके पर सांसद राज ग्रेवाल ने कहा कि कनाड़ा और भारत का रिश्ता आज से नही सालों पुराना रिश्ता है। इस रिश्ते में कड़वाहट आना मुश्किल है। वैसे भीकनाड़ा का भारत मेें बहुत प्यार है। दोनों पक्षों में अगर मनमुटाव भी होगा तो मिलबैठ कर उसे सुलझा लिया जाएगा। ऐसे ही अभी भी भारत और कनाड़ा में कोई मनमुटाव नही है।
उन्होंने कहा कि हालांकि मीडिया में इस बात बहुत गहमा गहमी चल रही है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कनाड़ा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रीडों का स्वागत करने नही पहुंचे और न ही अभी तब उनसे मुलाकात की। तो ऐसा नही है आप पिछले कुछ समय की विदेश यात्राओं को देखो तो दोनों ही राजनेता इक्टठा दिखाई देगें।हा इस बार शायद प्रधानमंत्री का अनुसूची पहले से तय होगी। शायद इस लिए मुलाकात नही हो पाई,परंतु दोनों राजनेता जल्द ही दिल्ली में इक्टठे मिलेंगें और वार्ता करेगें।
वीजा प्रणाली होगी सरल
इसके अलावा उन्होंने कहा कि हम जानते है कि दोनों देशों में बहुत से लोगों के रिश्तेदार है इसलिए हमारी सरकार पर्यटन वीजा को सरल बनाने की कुवायद कररही है। इसके लिए हमारे मंत्री भी विचार विर्मश कर रहे है। हर साल लगभग ढाई लाख पर्यटक कनाडा में आते है और काफी संख्या में लोगों को वीजा न मिलनेकी वजह से वो कनाड़ा आने से विंचित रह जाते है। इसलिए हम आने वाले समय में वीजा प्रणाली को और भी सरल करने की कोशिश करेगें।
कनाड़ा के रक्षा मंत्री सज्जन सिंह को कैप्टन अरमिंदर सिंह से मिलने के इनकार पर ग्रेवाल ने कहा कि इस सज्जन सिंह बहुत इमानदार एवं अच्छे इंसान है। सज्जन सिंह से मुख्यमंत्री को न मिलने के कारण कुछ राजनैतिक हो सकते है, लेकिन इससे दोनों देशों में कोई मनमुटाव नही है अगर कुछ होता तो भी इस मसले को मिल कर बातचीत से सुलझा लिया जाते।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और अंतर्राष्ट्रीय ख़बरें
सिध्दू का पाक दौरा, दोस्ती रंग लाई, करतारपुर कॉरिडोर खुला श्री राम मंदिर निर्माण की घोषणा व भूमि पूजन करने पर महंत जनमेजय शरण व दुष्यन्त सिंह को मिली जानलेवा धमकी भारत-थाइलैंड संयुक्त युद्धाभ्यास मैत्री 2018 का समापन समारोह बवेरियन संसद में संदीप मारवाह सम्मानित मनीला में महलकलां के नौजवान की हत्या भारत एवं नार्डिक देशों के बीच शिखर सम्मेलन का संयुक्त पत्रकार वक्तव्य सहयोग की प्रतिबद्धता के साथ राष्ट्रपति ने समाप्त की गिनी की यात्रा भारत तथा ईरान के बीच कृषि व संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग के लिए समझौता अमेरिका का न्यूयॉर्क शहर सबसे गंदे शहरों में शामिल भारतीय मूल की मॉरीश्यिन लेखिका ने किया दो पुस्तकों का विमोचन