ENGLISH HINDI Sunday, September 22, 2019
Follow us on
 
चंडीगढ़

कला भवन में जगाई साहित्यक गीतों की लौ

March 06, 2018 06:22 PM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
पंजाब कला परिषद् की ओर से बीती शाम कला भवन में ट्रांटो में बसे पंजाबी गायक और ब्रॉडकास्टर कुलदीप दीपक के साहित्यक गीतों की साहित्यक शाम करवाई गई। कुलदीप दीपक ने पंजाबी के चोटी के कवियों के गीत गाकर कला भवन का प्रांगण साहित्यक गीतों की लौ के साथ रौशन कर दिया।
कुलदीप दीपक ने गिटार की मधुर और दिलकश धुनों से गीतों की प्रस्तुति दी और गौतम धर ने तबले पर साथ दिया। दीपक ने शिव कुमार बटालवी का ‘शिकरा यार’, ‘कौण मेरे शहर आ के मुड़ गया’, अमृता प्रीतम का ‘आईयां सी यादां तेरियां’, सोहण सिंह मीशा का ‘अध्धी रात पैहर देतडक़े’ गाकर रंग बांधा। शाम का शिखर उस समय हुआ जब दीपक ने इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि और पंजाब कला परिषद् के चेयरमैन डा.सुरजीत पातर की उपस्थिति में उनकी गज़लें ‘इस तरां है दिन रात विच विचला फासला’, ‘की ख़बर सी तैनूें एह जग भुल्ल जाऐगा’ गाईं। दीपक ने माहीया-टप्पे नये रूप में पेश किया।
इस अवसर पर डा. सुरजीत पातर ने दीपक को परिषद् द्वारा सम्मानित किया। डॉ. पातर ने दीपक के गीतों के चुनाव की सराहना करते हुये कहा कि संगीत शब्दों को पंख लगा देता है और आज की महफि़ल में दीपक ने अमृता प्रीतम, मीशा और शिव की यादों को ताज़ा कर दिया है। प्रोग्राम का मंच संचालन भुपिंदर मलिक ने किया। इस अवसर पर पंजाब ललित कला अकादमी के प्रधान दीवाना माना, डॉ. दीपक मनमोहन सिंह, निंदर घुगियाणवी, दीपक शर्मा चनारथल और सबदीश आदि उपस्थित थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
उभरते लेखक प्रमोट करने के लिए लिटरेचर फेस्टिवल 27 को कसौली रिसोर्ट में भागवत कथा सुनने रिपब्लिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया(अ) के सचिव हरिकृष्ण हैरी आपातकाल में 100 की जगह मिलाए 112 इंटीग्रेटेड होगा आपातकाल सिस्टम राजविन्द्र सिंह गुड्डू बने रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान सांसद किरण खेर ने एडवाइजर-चंडीगढ प्रशासन को लिखा पत्र ऑटो वर्कर्स यूनियन ने मनाई विश्वकर्मा जयंती कहो प्लास्टिक को न जागरूकता शिविर भगवान वाल्मीकि शोभायात्रा आयोजक कमेटी के चेयरमैन बने गुरचरण सिंह: निकाली जाएगी भव्य रथ यात्रा ट्राईसिटी वेटर एसोसिएशन ने किया पौधरोपण लास्ट बेंचर्स"-हेल्पिंग द हेल्पलेस ने की"कहो प्लास्टिक को ना" मुहिम की शुरुआत