ENGLISH HINDI Tuesday, December 11, 2018
Follow us on
पंजाब

पीरमुच्छल्ला हादसा : पुलिस को नगर काउंसिल ने नहीं दिया रिकार्ड, खाली हाथ लौटी पुलिस

April 16, 2018 08:01 PM
जीरकपुर जे एस कलेर
गांव पीरमुच्छल्ला में गत् वीरवार को हुए हादसे में सोमवार को ढकोली पुलिस टीम जीरकपुर नगर काउंसिल कार्यालय दस्तावेज लेने के लिए पहुंची, लेकिन सारा दिन इंतजार करने के बाद पुलिस अधिकारियों को बिना कोई डाक्यूमेंट के खाली हाथ वापस लौटना पड़ा। वहीं, अब पुलिस पार्टी मंगलवार को दोबारा दस्तावेज लेने के लिए नगर काउंसिल जाएगी।
इसी तरह, पुलिस द्वारा आरोपियों के कार्यालय को सील करने के लिए कोर्ट में अर्जी लगाई गई है, जिस पर सुनवाई होना बाकी है।
 
उल्लेखनीय है कि पीरमुच्छल्ला में इम्पीरियल गार्डन नामक कालोनी में एक तीन मंजिला ईमारत अचानक गिरकर धराशाही हो गई। वहीं, मामले में डीसी द्वारा जहां मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए और साथ ही पुलिस द्वारा कालोनाइजर मनदीप सिंगला, अमित सिंगला, पवन गोयल, पुष्विंदर गोयल, ओपी सिंगला, सुरेश मित्तल, संजीव गोयल, प्रवीन, विनोद, सुनील अग्रवाल के अलावा पार्षद अजैब सिंह, तत्कालीन ईओ, एसई, एसडीओ, आर्कीटैक्ट, नक्शा पास करने वाला, बिल्डिंग इंस्पेक्टर व अन्य बिल्डिंग बनाने वाले ठेकेदारों खिलाफ अलग-अलग धाराओं के तहत केस दर्ज कर किया गया है।
जानकारी के मुताबिक, गांव पीरमुच्छल्ला के अंदर कालोनाइजरों द्वारा तैयार की गई कालोनी, उसमें काटे गए अलग-अलग प्लाट्स को बेचने संबंधी मंजूरी, उन पर किए जाने वाले निर्माण कार्यों को लेकर मंजूरियां आदि संबंधी के दस्तावेजों के लिए नगर काउंसिल जीरकपुर को नोटिस भेजा था। दूसरी ओर, नगर काउंसिल द्वारा पुलिस को उक्त सारे दस्तावेज के लिए सोमवार का दिन तय किया गया, जिसके चलते सोमवार को पुलिस अधिकारी सुबह 10 बजे नगर काउंसिल कार्यालय पहुंच गए। लेकिन देर शाम तक इंतजार करने के बाद भी पुलिस को बिना कोई दस्तावेज लिए खाली हाथ लौटना पड़ा। 
सुबह 11 बजे ऑफिस पहुंचे अधिकारी :
जानकारी के अनुसार, नगर काउंसिल में अधिकारियों के लिए ड्यूटी पर पहुंचने का समय सुबह 9 बजे हैं, परन्तु जीरकपुर नगर काउंसिल में अधिकारी समय पर न आकर सारा-सारा दिन ऑफिस से नदारद ही रहते हैं। वहीं, सोमवार को भी अधिकारी सुबह 11 बजे ऑफिस दाखिल हुए, जिसके बाद उन्होंने अपना काम शुरू किया। दूसरी ओर, पिछले तीन दिन से अधिकारी सीटों पर न मिलने की वजह से शहरवासियों को अपनी शिकायतों को लेकर परेशान होना पड़ रहा है, जो सोमवार को एक साथ नगर काउंसिल कार्यालय पहुंच गए। वहीं, देरी से कार्यालय पहुंचे अधिकारी लोगों के कार्यों में लग गए, जो देर शाम तक चलता रहा।
 
नामजद आरोपियों के ऑफिसों की सीलिंग को लेकर कोर्ट से मांगी इजाजत : 
सहायक इंस्पेक्टर व ढकोली चौकी इंचार्ज जगजीत सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा दर्ज किए गए मामले में नामजद आरोपियों के कार्यालयों की सीलिंग के लिए कोर्ट से इजाजत मांगी गई है। उन्होंने बताया कि सोमवार को पुलिस द्वारा डेराबस्सी की कोर्ट में अर्जी लगा दी हैं, जिस पर सुनवाई होना बाकी है। उन्होंने बताया कि कोर्ट से इजाजत मिलने के बाद केस में नामकज आरोपियों के ऑफिस, घर व अन्य ठिकानों को पुलिस द्वारा सील किया जाएगा और कालोनी से संबंधित सारे रिकार्ड को कब्जे में लेकर जांच की जाएगी। उन्हें पूरी उम्मीद है कि मंगलवार को कोर्ट से पुलिस को इजाजत मिल जाएगी, जिसके बाद आगामीं कार्रवाई को अंजाम दिया जाएगा।
 
:::::नामजद आरोपियों के जमीनी रिकार्ड व निर्माण कार्यों की मंजूरियों के दस्तावेजों मुहैया करवाने के लिए नगर काउंसिल द्वारा सोमवार का समय दिया था। उन्होंने बताया कि सोमवार सुबह 10 बजे पुलिस अधिकारी नगर काउंसिल पहुंच गए, लेकिन शाम तक अधिकारियों ने उन्हें रिकार्ड मुहैया नहीं करवाया, जिसके चलते अब मंगलवार को दोबारा पुलिस रिकार्ड के लिए नगर काउंसिल अधिकारियों के पास जाएगी।
-जगजीत सिंह, जांच अधिकारी कम एसआई, ढकोली पुलिस चौकी।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
डेराबस्सी काउंसिल प्रधान का चुनाव 11 दिसंबर को 11 बजे भाजपा महिला मोर्चा मीटिंग में औरतों ने भाजपा को जिताने का लिया संकल्प घोर कलयुग: शराबी युवक ने किया गाय के साथ दुष्कर्म, पटियाला जेल भेजा जीरकपुर : शराब की तस्करी करने के आरोप में एक गिरफ्तार, 35 पेटी शराब बरामद नवजीवन फाउंडेशन का सपना, भूखा न सोये कोई अपना रक्षा बलों को कवर करने में अधिक निडर और गंभीर होने की आवश्यकता टिकाऊ जल प्रबंधन पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन मोहाली में करतारपुर कॉरिडोर मामले में पाकिस्तान सेना की बड़ी साजिश: मुख्यमंत्री पंजाब दीपइन्दर ढिल्लों की ओर से 'हैड मास्टरज़ सैलून' का उद्घाटन रॉयल ग्रुप ने करवाए जरूरतमंद जोड़ों के सामूहिक आनंककारज