ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
संपादकीय

मां तुझे सलाम! मां की ममता ने बनाया दबंग, अब क्रिमिनल्ज को ले रही आडे हाथों

May 13, 2018 07:42 PM

चंडीगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा की दबंग महिला पुलिस अध्किारी, जो आज कानून व्यवस्था की देखभाल की जिम्मेवारी संभाल रही हैं और अपराधियों से लोहा ले रही हैं, वह इस मुकाम पर पहुंच कर अपनी मां को ही मदर्स डे पर इसका श्रेय देती हैं; इन महिला अधिकारियों ने जहां भी काम किया वहीं पर अपनी दबंगता से अपराधिक तत्वों पर नकेल कसी. 

राहुल मेहता
chandigarh ssp jagdle
चंडीगढ़, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा की दबंग महिला पुलिस अध्किारी, जो आज कानून व्यवस्था की देखभाल की जिम्मेवारी संभाल रही हैं और अपराधियों से लोहा ले रही हैं, वह इस मुकाम पर पहुंच कर अपनी मां को ही मदर्स डे पर इसका श्रेय देती हैं; इन महिला अधिकारियों ने जहां भी काम किया वहीं पर अपनी दबंगता से अपराधिक तत्वों पर नकेल कसी.

एसएसपी चंडीगढ़ निलांबरी विजय जगदले, देश की पहली महिला आईपीएस किरण बेदी के बाद दूसरी महिला आईपीएस हैं, यूटी में तैनात हैं और आजकल झपटमारी करने वालों से निपट रही हैं. झपटमारों ने लगता अब अपना इलाका बदल लिया है, जगदले ने दावा किया स्नैचिंग में 56 प्रतिशत की कमी आई है, अब वह खुल कर सामने आई हैं और रोजाना चैकिंग और निर्देश के साथ साथ वह खुद इस सिलसिले में कमान संभाले हैं.

फतेगढ़ साहिब की एसएसपी अलका मीना हमेशा ही अपनी दबंगई कार्यप्रणाली से चर्चा में रही हैं. मीना हर महिला को निडर होकर अपनी आवाज़ उठाने को कहती हैं.. एसएसपी मीना पंजाब के कई जिलो में रह चुकी हैं और कई आपराधिक तत्वों को सलाखों के पीछे पहुंचा चुकी हैं.
एसपी पंडोंह ( अंजुम आरा) हिमाचल के कई जिलो में बतौर एसपी काम कर चुकी हैं, जिन्हों शहीद सैनिक परमजीत सिंह की बेटी को गोद लेकर बेहतर समाजसेवा का परिचय और पूरी दुनिया को संदेश दिया.बेशक वह मुस्लिम हैं, परंतु बिना किसी भेदभाव के वह अपनी डयूटी को सर्वापरि मानती हैं.

एसपी शिमला सौम्या संबासिवन- एसपी सौम्या संबासिवन एक दबंग महिला पुलिस अधिकारी हैं, जिन्होंने अपनी कार्यक्षमता से हिमाचल के कई जिलों में रहकर कई बड़े केस सुलझाए बदमाशों को सलाखों के पीछे पहुँचाया।

Saritya Rai
Anjum Ara
)
डीएसपी साउथ चंडीगढ़ हरजीत कौर, जो यूटी कैडर की पहली महिला डीएसपी बनी हैं। वह अपनी डयूटी को बाखूबी निभाना जानती हैं और आपराधिक तत्वों से कैसे निपटना है, तो वह इनसे सीखे.
इंस्पेक्टर परमजीत कौर सेखों चंडीगढ़ ट्रैफ़िक पुलिस की चलानिंग शाखा की इंचार्ज है और इसके साथ साथ उनके अच्छे कार्यभार को देखते हुए उन्हें ट्रैफ़िक की ईस्ट डिविजन का भी चार्ज सौंपा गया है। सेखों हर वक़्त अपनी डयूटी के प्रति सजग रहती हैं.।

थाना सेक्टर 3 की एसएचओ पूनम दिलावरी हर रोज़ अपने एरिया में स्पेशल नाके लगाकर हर आने जाने वाली गाड़ी की चेकिंग करती हैं और अपने एरिया में लोगों की सहायता को तत्पर रहती हैं.

सेक्टर 31 की एसएचओ गुरजीत कौर चंडीगढ़ पुलिस में हमेशा अपने कर्मचारियों को ईमानदारी और नेकनीति से कार्य करने की प्रेरणा देती हैं.

Rajesh Kumari
पंचकुला पुलिस की डीएसपी ममता सोधा ने बताया की उनकी माता श्रीमति मेवा देवी जी ही उनके लिये सब कुछ हैं। उन्होंने बताया की उनके पिता जी के देहांत के बाद उनकी माता जी ने ही सभी भाई बहनों को पढ़ाया लिखाया और आज इस मुक़ाम पर पहुँचाया। उन्होंने बताया की उनकी माता जी ने बेहद संघर्ष किया है और हमें पढ़ा लिखाकर इस मुक़ाम पर पहुँचाया..उन्होंने कहा की हम सभी बहन भाई अपनी माँ को भगवान का रूप मानते हैं और ऐसा मां का प्यार सभी बच्चों को मिलना चाहिए। उन्होंने अपनी ज़िंदगी में जो भी हासिल किया उसके पीछे उनकी मां का आशीर्वाद है।

Paramjit Kaur sekhon with mother
एसएचओ राजेश कुमारी ने कहा, हर किसी बच्चे को मां का प्यार मिलना बहुत ज़रूरी है। उन्होंने बताया की उनकी माँ श्रीमती ओम्वती मल्हान दुनिया ने ही उसे इस मुक़ाम तक पहुँचाया.।

चंडीगढ़ पुलिस की सब इंस्पेक्टर सरिता रोय ने बताया की उनकी माँ श्रीमती शांति देवी उनके लिये भगवान हैं जिन्होंने हमें पढ़ा लिखाकर इस मुक़ाम तक पहुँचाया। उन्होंने कहा की वह अपनी माँ के प्यार और डाँट से आज इस मुक़ाम पर हैं.। सरिता रोय इस वक़्त चंडीगढ़ पुलिस के सेक्टर 17 प्लाज़ा इंचार्ज है.। उन्होंने कहा की बच्चों को हमेशा अपनी माँ का सत्कार करना चाहिये। 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और संपादकीय ख़बरें