ENGLISH HINDI Sunday, July 22, 2018
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
तम्बाकू छुड़वाने के लिए सहायक सिद्ध हो सकते हैं बच्चे: डा. रुपिन्दर कौर15 लाख से लगवाए 12 सीसीटीवी कैमरे हैं खराब, ट्रैफिक पुलिस ने एमसी को लिखे 13 लेटर, फिर भी नहीं हुए रिपेयरशिव और सावन जीरकपुर में सारी रात दौड़ती रही संदिग्ध नंबर वाली कार, सोई रही पुलिसविदेश ले जाने के नाम पर पादरी ने किया रेप, इंगलैंड भागने की फिराक में दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तारजीरकपुर के दशमेश नगर में 20 घंटे गुल रही बत्ती मचा हाहाकार बिजली गुल तो गुल पनाग ने ट्विटर पर बारिश के बावजूद तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की प्रशंसा के पुल बांधे 104 साल बाद लगेगा 27 व 28 जुलाई की रात्रि सबसे लंबा चंद्र ग्रहण
राष्ट्रीय

पंजाब और चंडीगढ में बैंकों की दो दिवसीय हड़ताल का रहा व्यापक असर

May 31, 2018 05:42 PM
चंडीगढ़, जीरकपुर(जेएस कलेर ):
दूसरे दिन सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारियों की हड़ताल का व्यापक असर दिखा और बैंकिंग सेवाएं प्रभावित रहीं। भारतीय बैंक संघ द्वारा वेतन में दो प्रतिशत वृद्धि की पेशकश के विरोध में कर्मचारी दो दिन की हड़ताल पर थे। 
  
हड़ताल के दौरान विभिन्न राज्यों से बैंकिंग कामकाज में दिक्कत रही और हड़ताल का असर पंजाब और चंडीगढ़ में भी दिखा। जीरकपुर में बैंक काम काम पूरी तरह ठप रहा और लोगों को लेन.देन में परेशानी हुई. कई एटीएम में कैश न होने से लोगों को निराशा का सामना करना पडा.सेक्टर 17 सी में विभिन्न बैंकों के कार्यालयों के आगे बारी-बारी एकत्रित होकर शांतिपूर्वक अपना विरोध जाहिर किया। इस हड़ताल में ही प्रदर्शन कर रहे एक बैंक की अधिकारी यूनियन अनंत दत्ता ने बताया कि  यह हड़ताल युनाइटेड  फोरम ऑफ बैंकिंग यूनियन (यूएफबीयू) द्वारा बुलाई गयी है और ये  बैंक कर्मियों की एकता का प्रतीक है। इस हड़ताल में अधिकारी और कर्मचारी यूनियन समान रूप से भाग ले रही हैं। 2 प्रतिशत की वेतन वृद्धि का प्रस्ताव, एक तरह से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मियों का अपमान है। हमारे पास हड़ताल पर जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था। उन्होंने कहा कि सरकार की मुद्रा योजना, जनधन योजना और नोटबंदी जैसी सभी योजनाओं की सफलता सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक सुनिश्चित करते हैं और बदले में उसके कर्मचारियों को सिर्फ दो प्रतिशत वेतन वृद्धि की पेशकश की जाती है। यह उन बैंक कर्मियों के साथ अन्याय  जो देश निर्माण में कठिन परिश्रम करते है।
इस मौके श्री वसुदेव सिंगला, कार्यकारी सचिव, बैंक ऑफ महाराष्ट्र ऑफिसर यूनियन, श्री अनंत दत्ता राज्य सचिव, बोमू, श्री परमीत सहारण, प्रदेश सचिव, एन ओ बी डब्ल्यू, श्री आशुतोष अंचल सचिव बोमू, श्री सौरभ सैनी, विनीत कुमार, श्रीमती कुलविंदर कौर, अनिता चौहान, श्री अमित कुमार, श्री मुनीश कुमार, अंकित शर्मा, अमित मिश्र, केनरा बैंक, सोमनाथ मिश्र आदि मौजूद थे।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
महिला आयोग की लोक अदालत में 35 मामलों का निपटारा नाबार्ड ने 37वां स्थापना दिवस मनाया वो भाई ही होता है... अफगानिस्तान में बसे सिख-हिन्दुओं को सहायता देगी भारत सरकार: सांपला मेडिकल कॉलेज शिक्षा की गुणवत्ता भारत के स्वस्थ भविष्य का जीवन आधार: उपराष्ट्रपति राष्ट्रपति 7 और 8 जुलाई को गोवा यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, दिल्ली के असली बॉस मुख्यमंत्री है, उपराज्यपाल नहीं कोसली-दिल्ली वाया रेवाड़ी रेल-सेवा शुरू होने का सैनिकों को बेसब्री से इंतजार दिल्ली में निजी स्वामित्व भूमि के नियोजित विकास के लिए अधिसूचना जारी इसरो ने अंतरिक्ष यात्री बचाव प्रणाली का सफलतापूर्वक किया परीक्षण