ENGLISH HINDI Sunday, August 19, 2018
Follow us on
पंजाब

हाइवे से हटाए गए ढाबों के अवैध रास्ते फिर शुरू

May 31, 2018 09:20 PM
जीरकपुर, जेएस कलेर
जीरकपुर-अंबाला हाईवे पर कई ढाबों के लिए अवैध तौर पर रास्ते निकाले गए हैं। इन रास्तों को बंद करने की हाईवे अथॉरिटी ने बुधवार को कार्रवाई की। एक दिन बाद गुरुवार को फिर सभी ढाबों ने रास्ते बना लिए।
 
 
 
कहावत है सुरक्षा घटी और दुर्घटना घटी, लेकिन वहां पर क्या होगा जहां ढाबा मालिको को सारी हकीकत का पता होते हुए भी की एन.एच.आई.ए द्वारा हादसे रोकने के लिए रास्ते बंद करवाए थे। नैशनल हाइवे पर तेज गति से चलते वाहनों की वजह से इन जगहों पर हादसे होने का डर बना हुआ है। यहां जब लोग रुकते हैं तो पीछे का ट्रैफिक को प्रभावित होता हैं जिससे यहाँ हर समय हादसे का खतरा बना रहता है। यहां अकसर ट्रैफिक जाम भी लगा रहता है। पंजाब और हाईकोर्ट ने नेशनल हाईवे अथाॅरिटी को अवैध रास्ते बंद करने के निर्देश दिए हुए हैं।
जीएमआर कंपनी के अधिकारियों ने यहां रास्ते बंद करने के लिए जेसीबी मशीन से खुदाई तो की लेकिन ढाबा मालिकों ने दोबारा पाइप डाल के अपने जुगाड़ के रास्ते खोल लिए है। एनएचएआई के अधिकारी इकबाल सिंह ने कंपनी की टीम के साथ पाल ढाबा, सेठी ढाबा, सैनी ढाबा और पहलवान ढाबा के अवैध तौर पर बनाए गए रास्तों को बंद कर दिया था पर ढाबा मालिकों ने उन्हें दोबारा जोड़ लिया।  
इस बारे में जी एम आर के मैनेजर इकबाल सिंह ने कहा कि ज़िरकपुर अंबाला रोड़ से गुजरने वाले नेशनल हाईवे पर अवैध रास्ते बनाने पाबंदी के आदेश है। उन्होंने कहा कि अवैध रास्तों से नेशनल हाईवे पर यातायात में बाधा पैदा होती है, इससे हादसों का खतरा बना रहता है। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण समय समय पर अवैध रास्ते बंद करवाता है लेकिन ढाबा मालिक दोबारा रास्ते खोल लेते है, अब अगर किसी ने अवैध रास्ता जोड़ा तो उन खिलाफ केस दर्ज करवाया जाएगा।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें