ENGLISH HINDI Friday, November 16, 2018
Follow us on
हरियाणा

मोरनी पंचकूला मार्ग पर आधा दर्जन स्थानों पर दिनो दिन खिस्कते पहाडो से मार्ग का अस्तित्व खतरे में

September 30, 2018 09:34 PM
मोरनी , जेएस कलेर
मोरनी पंचकूला मार्ग दिनों दिन दरकने के कारण इसके अस्तीत्व पर खतरे के बादल मंडरा रहे है। हालांकि लोकनिर्माण विभाग द्वारा बरसात के बाद मार्ग को बचाव दिवारे बना कर बचाया जा रहा है लेकिन मोरनी पंचकूला मार्ग भूडी गांव के निकट तथा थाना गांव के निकट दिनों दिन निचे खिसक रहा है। जिसके चलते यह इस मार्ग से मोरनी का संपर्क पंचकूला से कभी भी कट सकता है। 

*भूडी व थाना गांव के निकट मार्ग दो से तीन फुट धंसा , मार्ग के पर खतरे के बादल मंडराये*कभी भी मार्ग हो सकता है बंद मोरनी का पंचकूला से कट सकता है संपर्क *लोकनिर्माण विभाग द्वारा थाना गांव के निकट एक किलोमीटर के वैक्ल्पिक मार्ग के निर्माण मंजूरी वन विभाग के पास पेंडिग

    
जानकारी के अनुसार बरसात में मोरनी पंचकूला मार्ग थाना गांव के निकट खिस्क रहा है, इसके अलावा इससे आधा किलोमीटर आगे मार्ग पर दो तीन स्थानों पर दरारे आ गई है। वहीं यह मार्ग भूडी गांव के निकट दो से तीन फुट तक नीचे धंस गया है। जिसके कारण इस मार्ग के अस्तित्व पर ही खतरे के बादल मंडरा रहे है। यदि दो चार रोज की लगातार बारिश शुरू हो जाये तो यह मार्ग पूरी तरह नीचे धंस जाये और मोरनी का पंचकूला से संपर्क कट जाये। 
मोरनी क्षेत्र के गा्रमीण राजेन्द्र, फूल सिंह, नरेश, पिंकी, नरेश, अरूण, चमन, रामदत्त आदि ने बताया कि मोरनी पंचकूला मार्ग थाना गांव के निकट हर रोज इंच व इंच खिस्क रहा है। पिछले साल तो सडक़ का आधा हिस्सा खाई में समा गया था। बाद में लोकनिर्माण विभाग द्वारा इसे कंकरीट व बचाव दिवार लगाकर मात्र 10 फुट ही चौडा किया जा सका है। 
इसके साथ ही भूडी गांव के निकट आश्रम के पास मार्ग चार फुट के करीब धंस गया है। यहां लोकनिर्माण विभाग कई बार बचाव दिवारे बना चुका है। लेकिन दिनो दिन खिस्कता पहाड के कारण बचाव दिवारे ज्यादा टीक नहीं पाती। इसके अलावा अन्य दो तीन स्थानों पर मार्ग के बीचोबीच दरारे आ गई है। जो खतरे की घंटी बजा रही है। 
लोगों ने बताया कि पिछले दो साल से प्राकृति इस अपात स्थिित का संदेश दे रही है लेकिन अभी तक भी इसे समझा नहीं गया है। न ही इस दिनो दिन खिस्कते पहाडो को जानने की किसी ने जहमत उठाई है। लोगों में इस बात की चिंता है कि यदि फिर से दो चार दिन की लगातार जोरदार बारिश शुरू हो जाये तो यह मार्ग दरक जायेगा और मोरनी का संपर्क पंचकूला से पूरी तरह कट जायेगी। 
वहीं इस बारे में विभाग के एक्सईयन हरपाल सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि थाना गांव के पास धंसते मार्ग को लेकर विभाग पूरी तरह संचेत है। विभाग द्वारा गांव के पूराने एक किलोमीटर रास्ते से वैकल्पिक मार्ग तैयार करने का प्रपोजल मंजूरी के लिए वन विभाग को भेजा गया है। ताकि यदि ऐसी स्थिित आ जाये तो विभाग इससे पहले ही मार्ग को तैयार कर सके। उन्होंने बताया कि भूडी गांव के निकट भी पहाड खिस्क रहा है, जो केवल बरसात में ही खिस्कता है। इसे भी सुचारू करवा दिया जायेगा। 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें