ENGLISH HINDI Monday, February 18, 2019
Follow us on
पंजाब

डिस्को क्लब के गेट को बाहर से ताला ठोक अंदर चल रही थी ग्रैंड पार्टी

November 15, 2018 07:50 PM

ज़ीरकपुर, जीएस कलेर
ज़ीरकपुर स्थित नाइट क्लब चलाने वाले डिप्टी कमिशनर मोहाली के आदेशों को नहीं मानते और अभी भी सुबह होने तक बख़ौफ़ इन क्लबों में शराब के दौर चलते हैं।

 
 ज़िक्रयोग्य है कि ज़ीरकपुर थाना क्षेत्र में 5 डिस्को क्लब हैं और एक ढकोली थाना क्षेत्र में पड़ता है। चंडीगढ़ -अंबाला राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित ग्लोबल माल में तीन क्लब हैं जिन में से हूप हाईवे प्रबंधक क्लब बंद कर चुके हैं, दूसरा क्लब जंक लयार्ड है जिसका आबकारी विभाग ने शिकायत बाद में 15 दिनों के लिए लाइसैंस सस्पैंड किया होने के कारण बीती रात बंद था और तीसरा क्लब है अलमास जो दरवाज़े पर ताला ठोक रात 12:30 तक चला।  बीती रात पुलिस की गश्त दौरान डिप्टी कमिशनर मोहाली के आदेशों के उल्लंघन का नया मामला अलमास नाइट क्लब में सामने आया है।

 अलमास क्लब में चल रही बुद्धवार नाइट पार्टी में ज़ीरकपुर पुलिस की तरफ से 12 बजे जब छापा मारा गया तो उन्होंने देखा कि डिस्को क्लब के बाहर ताला लगा हुआ था, जबकि डिस्को क्लब अंदर पार्टी चलने की आवाज़ आ रही थी। पुलिस की तरफ से डिस्को क्लब का दरवाज़ा खुलवाने के लिए प्रबंधकों को फ़ोन किया परन्तु इसके बावजूद पुलिस पार्टी करीब आधा घंटा डिस्को क्लब के बाहर खड़े रही और आखिरकार आधे घंटे बाद प्रबंधकों ने क्लब का दरवाज़ा खोला गया और पुलिस चैकिंग के लिए अंदर गई। पुलिस जब अंदर गई तो देखा कि वहां 20 -25 के करीब नौजवान लड़के -लड़कियाँ और स्टाफ मौजूद था. वहां बीयर और व्हिसकी के आधे-अधूरे जाम मेजों पर पड़े थे। पुलिस ने 20 - 25 नवयुवक लड़के -लड़कियाँ समेत स्टाफ को क्लब से बाहर भेज दिया।

अलमास क्लब में चल रही बुद्धवार नाइट पार्टी में ज़ीरकपुर पुलिस की तरफ से 12 बजे जब छापा मारा गया तो उन्होंने देखा कि डिस्को क्लब के बाहर ताला लगा हुआ था, जबकि डिस्को क्लब अंदर पार्टी चलने की आवाज़ आ रही थी। पुलिस की तरफ से डिस्को क्लब का दरवाज़ा खुलवाने के लिए प्रबंधकों को फ़ोन किया परन्तु इसके बावजूद पुलिस पार्टी करीब आधा घंटा डिस्को क्लब के बाहर खड़े रही और आखिरकार आधे घंटे बाद प्रबंधकों ने क्लब का दरवाज़ा खोला गया और पुलिस चैकिंग के लिए अंदर गई। पुलिस जब अंदर गई तो देखा कि वहां 20 -25 के करीब नौजवान लड़के -लड़कियाँ और स्टाफ मौजूद था. वहां बीयर और व्हिसकी के आधे-अधूरे जाम मेजों पर पड़े थे। पुलिस ने 20 - 25 नवयुवक लड़के -लड़कियाँ समेत स्टाफ को क्लब से बाहर भेज दिया।

बताना बनता है कि इस क्लब में ज़ीरकपुर पुलिस के कर्मचारी उक्त क्लब में गए थे, परंतु बाहर से ताला लगा देख वह वापस आ गए थे परन्तु बिल्कुल मौके पर ही क्लब के बाहर खड़े दो युवकों ने पुलिस को शिकायत कि की क्लब प्रबंधकों ने उनकी एक साथी लड़की समेत अन्य कईयों को अंदर बंद कर रखा है और प्रबंधक पुलिस के जाने के बाद में फिर पार्टी चलाने की जुगाड़ में हैं । जब पुलिस पार्टी की तरफ से उक्त क्लब में फिर 12:30 पर प्रबंधकों से ताला खुलवाया गया तो क्लब अंदर से 20 -25 नौजवान लड़के लड़कियां व स्टाफ मीडिया कर्मियों के कैमरों से बचने के लिए एक दूसरे के पीछे छिपते हुए बाहर निकल कर भागने लगे। 

थानामुखी ज़ीरकपुर सुखविन्दर सिंह ने कहा कि वह रात के ड्यूटी अफ़सर से मामलें की जानकारी हासिल कर प्रबंधकों ख़िलाफ़ बनती कार्रवाई करेंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
जीरकपुर को अपराध मुक्त बनाने के लिए किराएदारों की वैरिफिकेशन जरूरी: एसएसपी मोहाली पंजाब के बजट में बड़ी राहत, पेट्रोल 5 रुपये व डीजल 1 रुपये सस्ता, कोई नया टैक्‍स नहीं शिक्षा के विना कोई समाज -देश विकसित नहीं हो सकता: के पी सिंह हाई कोर्ट के मौजूदा और सेवामुक्त जजों और आश्रितों को एयर ऐबूलैंस की सुविधा की मंजूरी 11 आई.ए.एस., 66 पी.सी.एस. अधिकारियों के तबादले आल इंडिया डिफेंस ब्रदरहुड और पूर्व सैनिकों ने पाकिस्तान का झंडा फूंक किया विरोध प्रदर्शन जीरकपुर : ट्रैफिक में उलझ रहा वीकेंड गांव दौलत सिंह वाला पभात में लगा 47वां आंखों का मुफ्त ऑपरेशन कैंप सब्जियों की रिटेल प्राइस, रेगुलैटरी अथॉरिटी बनाए जाने की मांग शहीद हुए जवानों के वारिसों को नौकरी व 12-12 लाख वित्तीय सहायता का ऐलान