ENGLISH HINDI Thursday, May 23, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
चुनाव समाप्त होते ही नखरे दिखाने लगी बिजलीट्रांसपोर्ट अथॉरिटी द्वारा अमृतसर, लुधियाना के चार डीलरों के विशेष अधिकार अस्थायी तौर पर रद्दहरित विवाह दिवस मनाकर दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेशजनरल समाज पार्टी का आरोप, प्रचार में अड़ंगा, उम्मीदवारों को सुरक्षा क्यों प्रदान नहींएम्स में बिना बेहोश किए ब्रेन ट्यूमर की सर्जरीअरदास में पंथ से विछोड़े गए गुरुधामों के दर्शन ए दीदार ते सेवा संभाल दा दान खालसा जी नू बख्शो की पंक्तियाँ लिखने वाले ज्ञानी से लोग आज भी अनजानकरंट लगने से 65 वर्षीय चालक की मौत, हाई टेन्शन तारों से ट्रक लगने से दो जने आए करंट की चपेट मेंरोडरेज इन जीरकपुर: युवकों ने हाइवे पर भाजपा नेता की कार से की तोड़फोड़
राष्ट्रीय

जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में संशोधन

December 07, 2018 11:18 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
मंत्रिमंडल ने जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में संशोधन को मंजूरी दे दी।
इस निर्णय का लक्ष्य जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में समुचित संशोधन करना है, ताकि न्यासियों के रूप में प्रतिनिधित्व हो सके। संशोधन अनुसार “लोकसभा में मान्य नेता प्रतिपक्ष या जब नेता प्रतिपक्ष न हो, तब की स्थिति में सदन में सबसे बड़े विपक्षी दल का नेता” शामिल होगा।
लाभ :
मौजूदा अधिनियम में सबसे बड़े राष्ट्रीय राजनीतिक दल के प्रतिनिधित्व के लिए प्रावधान है। न्यास से दल विशेष के सदस्य को हटाने से न्यास गैर-राजनीतिक हो जाएगा। प्रस्तावित संशोधन के तहत न्यास में विपक्षी दल के प्रतिनिधित्व को सुनिश्चित किया गया है। प्रस्तावित संशोधन से सरकार को न्यास के कामकाज में हिस्सा लेने या किसी अन्य कारण से न्यासी को हटाने या उसे बदलने का अधिकार प्राप्त हो जाएगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें