ENGLISH HINDI Saturday, December 15, 2018
Follow us on
राष्ट्रीय

जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में संशोधन

December 07, 2018 11:18 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
मंत्रिमंडल ने जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में संशोधन को मंजूरी दे दी।
इस निर्णय का लक्ष्य जलियांवाला बाग राष्ट्रीय स्मारक अधिनियम, 1951 में समुचित संशोधन करना है, ताकि न्यासियों के रूप में प्रतिनिधित्व हो सके। संशोधन अनुसार “लोकसभा में मान्य नेता प्रतिपक्ष या जब नेता प्रतिपक्ष न हो, तब की स्थिति में सदन में सबसे बड़े विपक्षी दल का नेता” शामिल होगा।
लाभ :
मौजूदा अधिनियम में सबसे बड़े राष्ट्रीय राजनीतिक दल के प्रतिनिधित्व के लिए प्रावधान है। न्यास से दल विशेष के सदस्य को हटाने से न्यास गैर-राजनीतिक हो जाएगा। प्रस्तावित संशोधन के तहत न्यास में विपक्षी दल के प्रतिनिधित्व को सुनिश्चित किया गया है। प्रस्तावित संशोधन से सरकार को न्यास के कामकाज में हिस्सा लेने या किसी अन्य कारण से न्यासी को हटाने या उसे बदलने का अधिकार प्राप्त हो जाएगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
गहरे विक्षोभ के कारण अगले 12 घंटों में चक्रवाती तूफान की आशंका राष्ट्रीय चिकित्सा उपकरण संवर्धन परिषद का गठन सुनयना द्वारा फिर से हथियार और गोला-बारूद बरामद व्यास ने ली संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ व्यास ने ली संघ लोक सेवा आयोग के सदस्य के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ स्टार्ट-अप्स को जल्दी ही लाया जाएगा जीईएम प्लेटफॉर्म पर दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर विक्षोभ, चक्रवात-पूर्व चेतावनी जारी इंसाफ की बजाए जख्मों पर नमक छिडक़ रही है कांग्रेस: चीमा कांग्रेस द्वारा एच.ए.एल. कर्मियों के हक़ में संसद के बाहर यैलो वेस्ट प्रदर्शन मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग