ENGLISH HINDI Saturday, January 19, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

रेल कर्मी को संथाली भाषा में उपन्यास ‘मारोम’ के लिए दिया साहित्य अकादमी पुरस्कार

December 11, 2018 10:04 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
पूर्वी रेलवे के आसनसोल डिविजन में मुख्य टिकट निरीक्षक श्याम सुन्दर बेसरा को प्रतिष्ठत साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया है। उन्हें संथाली भाषा में उनके उपन्यास ‘मारोम’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला है। यह उपन्यास संथाल परगना के प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक तथा राजनीतिक परिस्थितयों पर आधारित हैं। इस उपन्यास में स्वतंत्रता के बाद संथाल क्षेत्र में दुमका में मसानजोर बांध तथा चितरंजन में लोकोमोटिव कार्याशाला स्थापित किये जाने के बाद की स्थितियों को चित्रित किया गया है।
उनकी दो साहित्य कृतियां ‘दुल्लर खातिर’ तथा ‘दमिया रिया (उदास) कहानी को’ सिद्धू कान्हु विश्वविद्यालय के स्नाकोत्तर पाठ्यक्रम का हिस्सा हैं। श्री बेसरा संथाली भाषा में जी बी रारेक के नाम से तथा हिंदी में संथाल प्रगनवी के नाम से लिखते हैं। श्री श्याम बेसरा ने हिंदी साहित्य में एम.ए. किया है तथा 1987 में संथाली भाषा में एम.ए. की डिग्री ली। उन्हें राज्य स्तर पर अनेक पुरस्कार दिये गये हैं। श्री बेसरा को 1992 में भारतीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा डॉ अम्बेडर फेलोशिप प्रदान किया गया।
डीआरएम, आसनसोल ने इस सम्मान के लिए श्री श्याम सुन्दर बेसरा का अभिनंदन किया। भारतीय रेल ने श्री बेसरा को बधाई दी है और भविष्य में उनकी सफलता की कामना की है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
19 जनवरी को भारतीय सिनेमा के राष्ट्रीय संग्रहालय का प्रधानमंत्री करेंगे उद्घाटन पत्रकार छत्रपति हत्याकांड: राम रहीम सहित चारों आरोपियों को उम्रकैद की सजा स्कूलों में वैक्सीनेशन कैंपेन पर हाई कोर्ट की रोक एनडीएमसी ने किया बजट प्रस्तुत, सुरक्षा व प्रदूषण नियंत्रण होगा जोर शाही स्नान से पहले घटित हुआ हादसा, टैंटों में लगी आग, जानी नुक्सान नहीं मिलिट्री कालेज में दाखि़ले हेतु लिखित परीक्षा की तारीखों का ऐलान देश में सांस्कृतिक पुनर्जागरण की आवश्यकता: उपराष्ट्रपति स्वामी विवेकानन्द के सपनों को पूरा करने का संकल्प लें युवा: दादी रतनमोहिनी संस्कार से यदि तपे नहीं होते तो फिसल चुके होते: मोदी सवर्ण आरक्षण बिल पर सरकारी स्पीड से हुआ एक्सीडेंट, मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट