ENGLISH HINDI Wednesday, June 19, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
यूक्रेन व रूस में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए सेमिनार 20 जून कोनशा मुक्त समाज निर्माण करने के लिए सभी वर्गों के लोग प्रयास करें: एसएसपीपीडि़ता मीना केस— दोषियों के विरुद्ध होगी सख्त कानूनी कार्यवाही: चन्नीकैप्टन द्वारा अनाज भंडारण के लिए ढके गोदामों के निर्माण हेतु प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप की मांगपंथ और पंजाब हितैषी होने की ड्रामेबाजी छोड़ें बादल: प्रो. बलजिन्दर कौरमहंगे सीमेंट-बजरी से लोगों को घर बनाना हुआ कठिन: चीमाहरमिलाप नगर रेलवे फाटक पर बनने वाले आर.यू.बी के लिए फिर होगा सर्वेप्रशिक्षण ले रहे 22 आईपीएस अधिकारियों ने की हरियाणा पुलिस महानिदेशक से मुलाकात
राष्ट्रीय

मुख्यमंत्री पद अब लगाने लगा राजस्थान के अमन को आग

December 14, 2018 11:58 AM

अलवर, धनेश विद्यार्थी:
राजस्थान में कांग्रेस सरकार बनने से पहले मुख्यमंत्री पद को लेकर गुर्जर समुदाय के युवा, जो खुद सचिन पायलट के समर्थक बता रहे हैं, ठंड के इस मौसम में इनका खून जोश खा रहा है। हद तो तब हो गई जब गुस्साए युवाओं ने रोडवेज बस के शीशे तोड़ डाले और गांव घाटोली के पास युवाओं ने रोड जाम कर दिया।    

सचिन पायलट को सीएम बनाने के पक्ष में रोड जाम, राजस्थान रोडवेज की बस के शीशे तोड़े


उधर इस मामले पर राजस्थान के करौली जिले के एक युवक का कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अशोक गहलोत की खैर नहीं और सरेआम दिन में आग लगाने के अलावा कई अन्य बातों वाला एक वीडियो राजस्थान में तेजी से वायरल हो रहा है। देर शाम आगरा-जयपुर रोड पर गुर्जर समाज के युवाओं का भारी गुस्सा दिखाई दिया। यहां वीरवार को दो जगहों पर युवाओं ने यातायात जाम कर दिया, जिससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस घटनाक्रम के पीछे, मुख्य वजह कांग्रेस हाईकमान की ओर से सचिन पायलट को मुख्यमंत्री घोषित नहीं करना, बताई जा रही है। बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीरवार को दिल्ली में उन राज्यों के मुख्यमंत्री पद के दावेदारों को बुलवाया था, क्योंकि पार्टी पर्यवेक्षकों से बातचीत के बाद कांग्रेस को मध्य प्रदेश व राजस्थान में मुख्यमंत्री और कांग्रेस विधायक दल के नेता के नाम पर अंतिम फैसला लेना था। मध्य प्रदेश में जहां कांग्रेस कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाने जा रही है जबकि पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसी एक को राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर देखा रहा था। बुधवार को सारा दिन सीएम पद को लेकर नवनिर्वाचित विधायकों की राय जानने के लिए पार्टी के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे और वेणु गोपाल ने बैठकें ली। वीरवार को मुख्यमंत्री पद के दोनों प्रबल दावेदारों अशोक गहलोत और सचिन पायलट को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली बुलाया था। अंतिम समाचार मिलने तक सचिन पायलट को मुख्यमंत्री नहीं बनाए जाने का गुर्जर समाज के युवाओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। ऐसे में राजस्थान के अगले मुख्यमंत्री और नई सरकार के लिए अभी से चुनौतियों का दौर शुरू हो गया है। अब देखना यह है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और नए मुख्यमंत्री इन चुनौतियों का किस प्रकार सामना कर पाते हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
चैनलों को रियलटी शो और कार्यक्रम दिखाए जाते समय बच्‍चों की भागीदारी में संयम और संवेदनशीलता बरतने की सलाह भारतीय तटरक्षक करेगा दिल्ली में 12वीं आरईसीएएपी आईएससी क्षमता निर्माण कार्यशाला की सह-मेजबानी ट्रांसपोर्ट वाहन चालकों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हटाने का निर्णय बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के बिना अच्छे समाज का निर्माण कठिन: प्रो. रविकांत 17वीं लोकसभा की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री के वक्तव्य राजनीति से परे कुछ सवाल उठाती डॉक्टरों की हड़ताल डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों संग मारपीट करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने हेतु मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा वायुसेना प्रमुख ने वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड की समीक्षा की मेघालय में तुरंत प्रतिनिधिमंडल भेजने का फैसला, पंजाबियों को धमकियों मद्देनजऱ उठाया कदम मरीजों और डॉक्‍टरों से संयम बरतने की अपील