ENGLISH HINDI Wednesday, February 20, 2019
Follow us on
पंजाब

नगला रोड़ पर स्थित फैक्ट्री के प्रदूषण के खिलाफ लोगों ने किया प्रदर्शन

December 15, 2018 07:31 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

नगला रोड़ पर स्थित इस्कॉन एरिना, माया गार्डन सिटी, बाजवा कलोनी, बाजीगर बस्ती नगला, एरो होमज जहाँ 20 हजार के करीब आबादी रह रही है इस क्षेत्र के बीचों बीच अजय जैलिटीन नामक फैक्ट्री जो जानवरों की हड्डियों से सुरेश ग्लू बनाती है, से निकली जहरीली और बदबूदार गैस उत्सर्जन के खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन रोष जताया।

इस संबंध में कई बार फैक्ट्री प्रबंधन से कहा, लेकिन प्रबंधन लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। इस कंपनी पर यहाँ रह रहे लोगों का आरोप है कि कंपनी पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के बिना किसी मानक के चल रही है जो कि क्षेत्र में वायु और जल प्रदूषण का कारण बन रही है और यहीं हवा और पानी का प्रयोग यह रह रहे लोग भी कर रहे है जो कि संविधान के विपरीत जीने के अधिकार, सांस लेने जैसे मौलिक अधिकारों का उलंघन है। उन्होंने तहसीलदार जीरकपुर व पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड से मामले में कार्रवाई करते हुए अजय जैलिटीन फैक्ट्री को बंद करने की मांग की।

आरोप है कि घनी आबादी के बीच स्थित अजय जैलिटीन फैक्ट्री से केमिकल युक्त गैसों और प्रदूषित पानी के निकलने से लोगों के स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने तहसीलदार जीरकपुर परमजीत सिंह व पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों जो कि इस क्षेत्र में इसी फैक्ट्री से निकलने वाले पानी की पाईपलाइन जो किसी अज्ञात ने तोड़ दी थी के मामलें की छानबीन करने आए हुए थे, से अजय जैलिटीन फैक्ट्री को बंद करने की मांग की। लोगों ने प्रशासन को आगाह किया कि यदि उनकी मांग पर गौर नहीं किया तो आंदोलन किया जाएगा।

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि इस क्षेत्र में कई रिहाइशी प्रोजेक्ट है जिनमे एस्कॉन एरिना, माया गार्डन सिटी, बाजवा कलोनी, बाजीगर बस्ती नगला, एरो होमज, मोतिया रॉयल सिटी आदी में हजारों की संख्या में लोग रह रहे है। जहाँ आबादी काफी घनी है इसके साथ साथ इस क्षेत्र के दो सरकारी स्कूल व कई प्राइवेट स्कूल भी हैं, जहां हजारों बच्चे पढ़ते हैं। बताया जाता है कि इसी घनी आबादी के बीचोंबीच एक सुरेश बनाने वाली केमिकल फैक्ट्री अजय जैलिटीन हैं जिसका प्रोडक्ट पेंट इंडस्ट्री में प्रयोग होता है। अक्सर इस फैक्ट्री से पानी व हवा के साथ केमिकल युक्त गैस निकलता है। इससे लोगों में संक्रमण बीमारी फैलने की संभावनाएं काफी बढ़ती जा रही हैं। 

आरोप है कि इस संबंध में कई बार फैक्ट्री प्रबंधन से कहा, लेकिन प्रबंधन लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। इस कंपनी पर यहाँ रह रहे लोगों का आरोप है कि कंपनी पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के बिना किसी मानक के चल रही है जो कि क्षेत्र में वायु और जल प्रदूषण का कारण बन रही है और यहीं हवा और पानी का प्रयोग यह रह रहे लोग भी कर रहे है जो कि संविधान के विपरीत जीने के अधिकार, सांस लेने जैसे मौलिक अधिकारों का उलंघन है। उन्होंने तहसीलदार जीरकपुर व पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड से मामले में कार्रवाई करते हुए अजय जैलिटीन फैक्ट्री को बंद करने की मांग की।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
मीटिंग में रुकावट डालने और मारपीट पर पति पत्नी ख़िलाफ़ केस दर्ज पंचकुला का कपड़ा व्यापारी डेराबस्सी से लापता नारी शक्ति का प्रतीक -शीनू के जुनून का परिचायक है ‘चन्न मखना’ जसपाल सिंह ने बजट का किया स्वागत वीर सैनिकों की शहादत का लोगों के मन में गुस्सा , नवजोत सिद्धू, सुखपाल सिंह खैहरा व इमरान खान का पुतला फूंका भारत-पाक सरहद पर गूंजे पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाने के नारे भारत-पाक सादकी चौकी पर रिट्रीट सेरेमनी का समय बदला चंडीगढ़ के लिए 22 फरवरी को फाजिल्का से चलेगी गाड़ी देश विरोधी बयान! अकालियों ने उठाई नवजोत सिंह सिद्धू की बर्खास्तगी की मांग शहीदों के लिए सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब, हाथों में लौ लिए हर आंख दिखी नम