ENGLISH HINDI Sunday, March 24, 2019
Follow us on
हिमाचल प्रदेश

बेसहारा दीपा और शारदा के घर पहुंचकर सहायता प्रदान करवाई डीसी ने

January 11, 2019 08:33 PM

कुल्लू, (विजयेन्दर शर्मा)
भरी जवानी में पति की मौत के बाद पहाड़ सी जिंदगी गुजर-बसर करने की चुनौती और तिस पर नन्हे बच्चे के पालन-पोषण एवं पढ़ाई की जिम्मेदारी। ऐसे में बेचारी बदनसीब दीपा करे भी तो क्या करे। ‘बड़ी बेरहम होती है ये बदनसीबी भी, कमबख्त उम्र का लिहाज भी नहीं करती’, किसी शायर के ये शब्द 26 वर्षीय दीपा की वर्तमान स्थिति पर बिलकुल सटीक बैठते हैं। जिला मुख्यालय के ठीक सामने खराहल घाटी के गांव चंसारी की रहने वाली इस बेसहारा महिला के दर्द को देखकर कोई पत्थर दिल भी पिघल जाए।

  
  
लगभग पांच माह पूर्व पति राम चंद्र की असामयिक मृत्यु के बाद ऐसे हालातों का सामना कर रही दीपा के दर्द को बांटने और उसकी ओर मदद के हाथ बढ़ाने वाला कोई भी नहीं था। उसकी ऐसी हालत का पता चलने पर शुक्रवार को जिलाधीश यूनुस विभागीय अधिकारियों और जिला रैडक्राॅस सोसाइटी के पदाधिकारियों के साथ दीपा की मदद के लिए उसके घर पहुंचे तो मानो इसकी तकदीर ही बदल गई हो। जिलाधीश ने मौके पर ही दीपा को महिला एवं बाल विकास विभाग की मदर टेरेसा मातृ संबल योजना और खाद्य आपूर्ति विभाग की योजना से लाभान्वित किया तथा जिला रैडक्राॅस सोसाइटी की ओर से भी कंबल व अन्य आवश्यक सामग्री भेंट की। उसे तत्काल राशन भी उपलब्ध करवाया गया।
दीपा को मकान की व्यवस्था करने के लिए भी जिलाधीश ने मौके पर ही सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की गृह निर्माण अनुदान योजना तथा ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से शौचालय निर्माण के फार्म भरवाए। दीपा की तरह ही लगभग एक वर्ष पूर्व छोटी उम्र में पति को खो चुकी पुईद गांव शारदा देवी की मदद के लिए भी जिलाधीश शुक्रवार को ही उसके घर पहुंचे। उन्होंने शारदा देवी को भी आवश्यक सामग्री प्रदान की तथा विभिन्न सरकारी योजनाओं के फार्म मौके पर ही भरवाए, ताकि वह इन योजनाओं का तत्काल लाभ उठा सके।
यूनुस ने कहा कि दीपा और शारदा को सरकार की अन्य कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से भी अतिशीघ्र लाभान्वित किया जाएगा। जिलाधीश की इस पहल से बहुत बड़ी राहत और सहारा मिलने पर दीपा और शारदा ने उनका आभार व्यक्त किया। जिलाधीश ने कहा कि दीपा और शारदा की तरह जिला के अन्य जरूरतमंद लोगों विशेषकर बेसहारा महिलाओं की मदद के लिए त्वरित कदम उठाए जाएंगे। विभिन्न विभागों के अधिकारी स्वयं ऐसे लोगों के घर जाकर मौके पर सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करेंगे।
इस अवसर पर जिलाधीश के साथ महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी वीरेंद्र सिंह आर्य, जिला रैडक्राॅस सोसाइटी के सचिव वीके मोदगिल, खाद्य आपूर्ति और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें