ENGLISH HINDI Wednesday, June 19, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
यूक्रेन व रूस में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए सेमिनार 20 जून कोनशा मुक्त समाज निर्माण करने के लिए सभी वर्गों के लोग प्रयास करें: एसएसपीपीडि़ता मीना केस— दोषियों के विरुद्ध होगी सख्त कानूनी कार्यवाही: चन्नीकैप्टन द्वारा अनाज भंडारण के लिए ढके गोदामों के निर्माण हेतु प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप की मांगपंथ और पंजाब हितैषी होने की ड्रामेबाजी छोड़ें बादल: प्रो. बलजिन्दर कौरमहंगे सीमेंट-बजरी से लोगों को घर बनाना हुआ कठिन: चीमाहरमिलाप नगर रेलवे फाटक पर बनने वाले आर.यू.बी के लिए फिर होगा सर्वेप्रशिक्षण ले रहे 22 आईपीएस अधिकारियों ने की हरियाणा पुलिस महानिदेशक से मुलाकात
चंडीगढ़

आर्थिक आधार पर आरक्षण लागू किया जाये : श्याम लाल शर्मा

January 12, 2019 01:17 PM

चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री।

जनरल वर्ग को आरक्षण आर्थिक आधार पर दिया जाये।जनरल वर्ग की भलाई के लिए एक नैशनल कमिशन बनाया जाये। मुख्य मंत्री पंजाब से माँग की गई कि जनरल वर्ग की भलाई के लिए एक स्टेट कमिशन स्थापित किया जाये क्योंकि एैसा करने का वायदा उन्होनें पटियाला में विधन सभा के चुनावों के दौरान किया था। पदोन्नति के समय आरक्षण ज़ल्द बन्द किया जाये तथा पंजाब में 85वीं सवैंधनिक सोध् लागू ना की जाये क्योंकि ऐसा करने से सरकारी नौकरियों में जनरल वर्ग का खात्मा हो जायेगा।

  यह विचार  जनरल कैटागरीज़ वैल्फेयर फैडरेशन के चीफ ऑरगेनाईजऱ श्याम लाल शर्मा ने व्यक्त किये । उन्होंने कहा कि आरक्षण सारी जातियों के गरीबों को आर्थिक आधार पर दिया जाये। यह फैडरेशन शुरू से ही आर्थिक आधार पर आरक्षण की माँग कर रही है तथा भारत सरकार नेे जो गरीबों को आर्थिक आधार पर 10: आरक्षण दिया है, जिनको अभी तक आरक्षण का लाभ नहीं मिला था, उसका यह फैडरेशन स्वागत करती है। फैडरेशन यह माँग करती है कि इस समय जो 49ण्5: कोटा अलग-अलग आरक्षित कैटागरी के लिए निश्चित किया गया है, उसमें से 10: कोटा जनरल वर्ग के गरीबों को दिया जाये, क्योंकि 50: से ज़्यादा आरक्षण नहीं दिया जा सकता है।

इस समय मैरिट के आधर पर 50: कोटा जनरल वर्ग के लिए निश्चित है तथा इस कोटे में कोई कटौती ना की जाये। जिस कैटागरी के लिए अलग-अलग विनतीकर्ता नौकरी के लिए अप्लाई करते हैं, उनका नाम उसी कैटागरी में विचारा जाये क्योंकि वास्तव में जनरल वर्ग को यह 50: कोटा भी नहीं मिलता है, क्योंकि आरक्षित कैटागरी के विनतीकर्ता मैरिट के आधर पर जनरल वर्ग के कोटे के तहत नियुक्त हो जाते हैं। जनरल वर्ग महसूस करता है कि यह पहली बार हुआ है कि किसी राजनैतिक पार्टी की तरफ से जनरल वर्ग की वोट की अहमियत दी गई है। जनरल वर्ग ने अपने ऊपर आरक्षण के आधर पर किये जा रहे ज़ुल्म तथा एैस.सी./एैस.टी. एैक्ट की गलत इस्तेमाल के विरू( अपनी वोट का सही इस्तेमाल करते हुए तीन राज्यों में भाजपा के विरू( वोट डाली है या नोटा का इस्तेमाल किया है। यदि राजनैतिक पार्टीयों ने जनरल वर्ग की और अपनी सोच में तबदीली ना लाई तो उनको भाजपा की तरह इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे। आरक्षण के मुद्दे पर सारी राजनैतिक पार्टीयाँ राजनीति कर रही हैं तथा वास्तव में गरीबों को यह आरक्षण का लाभ देना ही नहीं चाहती हैं। जैसे कि 10: कोटे के तहत 8 लाख तक की आमदनी की शर्त तथा बाकी कुछ और शर्तें लगाई गई हैं, वो ही शर्तें बाकी आरक्षित कैटागरी जिनको पहले से ही आरक्षण का लाभ मिल रहा है, पर भी लागू की जायें तथा क्रीमी लेअर को आरक्षण का लाभ ना दिया जाये तथा एक परिवार को केवल एक बार ही आरक्षण का लाभ दिया जाये। 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
यूक्रेन व रूस में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए सेमिनार 20 जून को आईएचआरसी ने पौधारोपण अभियान चलाया समर फंक डांस नाइट आयोजित एम.एल.कौसर के 89वीं जयंति पर फोटो प्रदर्शनी एवं गजलो से सजेगी महफिल आधुनिक जीवनशैली में आयुर्वेद व योग के महत्व पर आख्यान दिया डॉ. कपिला ने नगर निगम निरीक्षकों से तंग दुकानदारों ने नारेबाजी की, दुकानों को बंद रखा सैलानियों के लिए दि रोडटिप्सको ने चंडीगढ़ चैप्टर की शुरूआत की निर्जला एकादशी पर श्री सनातन धर्म मंदिर-45 में महिला संकीर्तन मंडल द्वारा कीर्तन किया गया ट्विंकल हत्याकांड विरूद्ध उत्तराखंड भ्रातृ संगठन मानव श्रृंखला बनाई हेल्थ वर्कर्स ने मेयर और नगर निगम के खिलाफ खोला मोर्चा: मांगों को लेकर किया विशाल रोष प्रदर्शन