ENGLISH HINDI Sunday, August 25, 2019
Follow us on
 
राष्ट्रीय

संस्कार से यदि तपे नहीं होते तो फिसल चुके होते: मोदी

January 13, 2019 03:09 PM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी ने दिल्ली के राम लीला मैदान में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में दिए उद्बोधन में कहा कि संगठन के संस्कार से अगर हम तपे नहीं होते तो दूसरों की मीठी—मीठी बातों से हम फिसल चुके होते। पार्टी परंपराओ को अपने जीवन में ढाल कर, अनुशासन और लाखों कार्यकर्ताओ के तप व त्याग से आज हम यहाँ पहुंचे है। प्रधानमंत्री के उक्त उद्धबोधन की चर्चा करते हुए भाजपा पंजाब के महासचिव राकेश राठौर ने कहा कि राष्ट्रीय अधिवेशन के दौरान कार्यकर्ताओ में नव ऊर्जा का संचार हुआ है। अब यह बात भी तय है कि कर्मठ कार्यकर्ताओं की सक्रियता से ही 2019 में 2014 से बड़ी जीत दर्ज करेंगे।
श्री राठौर ने कहा कि श्री मोदी ने भाजपा की मजबूत और कांग्रेस की मजबूर सरकार का तथ्यों सहित अंतर भी समझाया। इस दौरान केन्द्रीय सरकार द्वारा हर वर्ग विशेष, क्षेत्रविशेष के लिए शुरू की गई योजनाओं, सरकार की स्वर्णिम उपलब्धियों सबंधी जानकारी भी सांझा की गई।
श्री राठौर ने इस दौरान पारित प्रसतावों की चर्चा करते हुए कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में स्थिरता और अस्थिरता प्रमुख मुद्दा होगा। 2019 के आम चुनाव ईमानदारी और बेईमानी के मुद्दों पर लड़े जाएंगे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें