ENGLISH HINDI Friday, February 22, 2019
Follow us on
हिमाचल प्रदेश

वीरभद्र सिंह चुनावों के नजदीक कांग्रेस को कमजोर करने का प्रयास कर भाजपा को लाभ की कोशिश: नरदेव कंवर

January 15, 2019 05:25 PM

धर्मशाला( विजयेन्दर  शर्मा ) 

नरदेव कंवर ने यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुये कहा कि पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह  पार्टी आलाकमान पर नकली द बनाने की कोशिश कर रहे हैं।  ताकि वह अपने चहेते  को पार्टी टिकट दिलवा सकें।  यह एक तरह से भाजपा प्रत्याशी की ही मदद होगी।  वीरभद्र सिंह को पार्टी में फूट डालने के बजाये पार्टी के हित में बात करनी चाहिये।  पार्टी टिकट पार्टी आलाकमान ही तय करती है।  न कि कोई व्यक्ति विशेष। 

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को आड़े हाथों लेते हुये उन्हें अपनी जुबान पर नियंत्रण रखने की नसीहत 

कांग्रेस पार्टी के जिला अध्यक्ष नरदेव कंवर ने आज यहां पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को आड़े हाथों लेते हुये उन्हें अपनी जुबान पर नियंत्रण रखने की नसीहत दी है।  व कहा कि वीरभद्र सिंह अपनी आदत के अनुसार हर बार चुनावों के नजदीक कांग्रेस को कमजोर करने का प्रयास कर भाजपा को लाभ देने की कोशिश करते हैं। लेकिन वह जान लें कि अब पार्टी मजबूत संगठन बन चुकी है,व किसी की मोहताज नहीं। 

नरदेव कंवर ने कहा कि जिस तरीके से कांग्रेस के जिला अध्यक्षों को कबाड़ कहा है,उससे कार्यकर्ताओं की मनोबल आहत हुआ हैं। कार्यकर्ता पार्टी के लिए रीढ़ की हड्डी होते हैं न कि कूड़ा-कबाड़। वीरभद्र सिंह को ऐसा कहना शोभा नहीं देता। वीरभद्र सिंह उन्हें कबाड़ सिद्ध करके दिखाएं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसी एक का कुनबा नहीं है। कांग्रेस विचारधारा से चलने वाला संगठन है। प्रदेशाध्यक्ष के पद से बदल जाने के बाद सुखविंदर सिंह सुक्खू पर वीरभद्र सिंह की टिप्पणी अनुचित है, जब वह पद पर नहीं रहे तो उनके खिलाफ कोई भी टिप्पणी करने का औचित्य ही नहीं बनता है। सुक्खू के कार्यकाल में प्रदेश में कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को बेहद सम्मान मिला है। कार्यकर्ता 2019 के लोकसभा चुनावों को लेकर जोश से भर रहे थे। नरदेव कंवर ने कहा कि वीरभद्र सिंह हमेशा ही पार्टी आलाकमान से भी बड़ा अपने आपको समझते रहे हैं।  जा कि गलत धारणा है। उन्होंने कहा कि जल्द ही इस मामले को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी  व प्रदेश मामलों की प्रभारी रजनी पाटिल के समक्ष भी के समक्ष उठाया जायेगा।
नरदेव कंवर ने कहा कि वीरभद्र सिंह को यह याद रखना चाहिये कि वह छह बार अगर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं,तो कभी भी पार्टी की सरकार रिपीट नहीं करवा पाये हैं।  व जिस मुकाम पर आज पहुंचे हैं,पार्टी की बदौलत ही पहुंचे हैं।  उन्होनें कहा कि अपनी सरकार में उन्होंने जिन लोगों को चैयरमैन व वाईस चैयरमेन बनवाया, और उन्हें विधानसभा चुनावों में टिकट दिलवाया,उन्हें चुनाव नहीं जितवा पाये। इसी वजह से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बन पाई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के संगठन को मजबूत करने के लिये सुखविन्दर सिंह सुक्खू के योगदान को पूरा प्रदेश जानता है। उसे नजरअंदाज करना एक भूल होगी। सुक्खू पार्टी का भविष्य हैं। व पार्टी के हर कार्यकर्ता को उन पर पूरा भरोषा है। उ नकी जगह नये अध्यक्ष की नियुक्ति हुई है तो यह पार्टी आलाकमान का फैसला है न कि किसी ओर का। 
 इस अवसर पर उनके साथ जिला उपाध्यक्ष पुष्पेन्दर  ठाकुर, उपाध्यक्ष अशोक गौतम,  जिला महासचिव अनीता चौधरी ओबीसी सेल के अध्यक्ष अमन चौधरी हैप्पी भी मौजूद रहे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हिमाचल प्रदेश ख़बरें
विश्व बैंक और कोरियन टीम ने हिमाचल प्रदेश में ठोस कचरा प्रबन्धन पर की बातचीत आतंकी हमले की कठोर शब्दों में निंदा सभी पार्टी कार्यकर्ता चुनावी मोड़ में आ जाएं-वीरेंद्र कंवर थानाकलां रोजगार मेले में 515 युवाओं को मिला रोजगार, दो हजार से अधिक युवाओं ने लिया भाग लोकतांत्रिक प्रणाली का ज्ञान आज की आवश्यकता : डॉ0 बिन्दल नीरजा भनोट इंस्टीच्यूट ऑफ हॉस्पिटेलिटी की पालमपुर में शुरुआत 27 देशों के प्रतिनिधियों ने देखी पेपरलैस विधान सभा कार्यवाही अस्पताल में सेनेटरी पैड मशीन व कैशलैस सुविधा का लोकार्पण कुल्लू में पालमपुर की तर्ज पर स्थापित होगा कूड़ा-कचरा निदान संयंत्र: युनूस 17 फरवरी को थानाकलां में रोज़गार मेला