ENGLISH HINDI Sunday, August 25, 2019
Follow us on
 
हरियाणा

ढींगड़ा आयोग का गठन संवैधानिक: हाई कोर्ट

January 17, 2019 10:38 AM

चंडीगढ, फेस2न्यूज:
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने जस्टिस एस एन ढींगरा आयोग के गठन को कोर्ट में जो चुनौती दी थी कि मुख्यमंत्री इस आयोग का गठन नहीं कर सकता। हरियाणा के महा अधिवक्ता बलदेव राज महाजन ने बताया कि उस पर कोर्ट ने कहा है कि मुख्यमंत्री इस आयोग का गठन कर सकता है और ये गठन पूरी तरह से वैधानिक है।  

पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा ने जस्टिस एस एन ढींगरा आयोग के गठन को कोर्ट में दी थी चुनौती


महा अधिवक्ता बलदेव राज महाजन ने बुधवार को चण्डीगढ में पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताया कि जस्टिस एस एन ढींगरा आयोग के गठन के सम्बन्ध में बाद में मंत्री परिषद् से स्वीकृति भी ले ली थी। कोर्ट का कहना है कि रूल ऑफ़ बिज़नेस के नाते मुख्यमंत्री आयोग का गठन कर सकते हैं और ये उनके अधिकार क्षेत्र में है अर्थात ये कानूनी रूप से ठीक है। कोर्ट का यह भी कहना है कि इस आयोग का गठन राजनीतिक द्वेष के चलते नहीं लिया गया है बल्कि इस आयोग का गठन जनहित में है। कोर्ट का यह भी कहना है कि इस मामले की जांच होनी चाहिए और रिपोर्ट के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री को दोषी पाया जा रहा है लेकिन कमिशन ने उन्हें उचित नोटिस नहीं दिया है इसलिए दो जजों की राय अलग—अलग होने की वजह से तीसरे जज को दिया गया है जिनका फैसला आना अभी बाकी है। कोर्ट द्वारा दिए गए निष्कर्ष और निर्णय से ये प्राप्त होता है कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा दोषी पाए गए हैं। यदि आयोग की रिपोर्ट ओपन होती है तो पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा की छवि प्रभावित होगी।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
लोक प्रशासन विभाग परिषद का गठन पैंशन अदालत में पैंशनरों की समस्याओं को सुना एनएफएसएस योजना तहत प्राप्त आवेदनों का ड्रा 27 को डीसी ने 7वीं आर्थिक गणना के लिए सीएससी उद्यमियों व प्रगणकों की रैली को दिखाई झंडी जिला स्तरीय बेडमिंटन टूर्नामेन्ट में द सिरसा स्कूल की टीम रही प्रथम पोषण अभियान के तहत ब्लॉक रिसोर्स ग्रुप को दिया प्रशिक्षण उपन्यास मैं शिखंड नहीं पर चर्चा-परिचर्चा 25 को हरियाणा सरकार ने तुरंत प्रभाव से 24 आईपीएस और दो एचपीएस अधिकारियों के स्थानांतरण और नियुक्ति आदेश जारी किए 23 व 24 को जिला स्तरीय योग प्रतियोगिता का आयोजन साइबर अपराध और कानूनी जागरूकता पर 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू