ENGLISH HINDI Friday, February 22, 2019
Follow us on
पंजाब

ट्रैफ़िक इंचार्ज की हत्या का मामला: ये शराब चीज ही ऐसी है, इसलिए हुआ था झगड़ा

January 19, 2019 09:19 PM

डेराबस्सी, जेएस कलेर
डेराबस्सी पुलिस स्टेशन में बीते दिनों रात के मुंशी काला ख़ान की ओर से शराब के नशे में गोली मार कर ट्रैफ़िक इंचार्ज ए.एस.आई. लखविन्दर सिंह लक्खा की हत्या मामलें में पुलिस अब एक अधिकारी की जान जाने के बाद में चौकस हुई है। पुलिस ने लड़ाई के लिए जिम्मेवार दूसरे हवलदार लेखराज को भी लाईन हाजिर करते उसे सस्पेंड करने की सिफारिश की है। पुलिस जांच में सामने आया कि उसने भी शराब पी हुई थी।                                                                   

'झगड़े के लिए जिम्मेवार दूसरे हवलदार लेखराज को भी सस्पैंड करने की सिफारिश, लाईन हाजिर, डेराबस्सी थाने में दोनों मुलाजिम शराब पी कर दे थे ड्यूटी,थाना प्रमुख पर पहले ही हो चुकी है कार्रवाई

दूसरी ओर पुलिस की तरफ से दो दिन का रिमांड समाप्त होने पर रविवार को आरोपी काला ख़ान को अदालत में पेश किया जहाँ से उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। गौरतलब है कि 16 जनवरी की रात को नाइट मुंशी काला ख़ान और हवलदार लेखराज के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। दोनों की ओर से शराब पी होने के कारण बहस इतनी बढ़ गई कि दोनों के बीच हाथापाई हो गई। पुलिस स्टेशन में चालान जमा करवाने आए ट्रैफ़िक इंचार्ज ए.एस.आई. लखविन्दर सिंह लक्खा ने दोनों की मुश्किल से लड़ाई छुटवाई। लेखराज थाने के अंदर चला गया जबकि ट्रैफ़िक इंचार्ज लखविन्दर सिंह थाना प्रमुख को जानकारी देने के लिए अंदर पिछले ओर बने क्वार्टर की तरफ चला गया। इसी दौरान थाने में अचानक लाईट चली गई। इतने में क्रोधित हुए काला ख़ान अंदर से सरकारी राइिफल लेकर आया जिसने थाना प्रमुख के क्वार्टर की ओर पैदल जा रहे ट्रैफ़िक इंचार्ज लखविन्दर सिंह को लेखराज समझ कर गोली मार दी। गोली लगने पर लखविन्दर नीचे गिर गया जिस को देखने बाद में काला ख़ान को अहसास हुआ कि उसने गलती से लखविन्दर को गोली मार दी है।
थाना प्रमुख लखविन्दर सिंह ने कहा जांच में सामने आया कि लेखराज की ने भी शराब पी हुई थी जिसके ख़िलाफ़ विभागीय कार्रवाई करते हुए उसे सस्पैंड करने की सिफारिश की गई है और फ़िलहाल उसे पुलिस लाईन में भेज दिया है। शराब पी कर ड्यूटी करने वालों ख़िलाफ़ उन्होंने कहा कि सभी मुलाजिम और अधिकारियों को शराब पी कर ड्यूटी न करने की चेतावनी दी गई है और रोज़मर्रा की जांच की जाएगी। यदि कोई भी मुलाजिम शराब पी कर ड्यूटी करता पाया गया तो सख़्त कार्रवाई की जाएगी।
थाना प्रमुख की लापरवाही बनी कारण
ट्रैफ़िक इंचार्ज की हत्या के पीछे असली कारण नाइट मुंशी और हवलदार लेखराज की ओर से शराब पीकर ड्यूटी करना थी। परन्तु पुलिस स्टेशनों के मुलाजिमों ने बताया कि दोनों मुलाजिम शुरू से ही थानो में शराब पीकर ड्यूटी करते थे जिस बारे थाना प्रमुख को पता था परन्तु उन्होंने कभी इसको गंभीरतों के साथ नहीं लिया। इस पीछे थाना प्रमुख महेन्दर सिंह की बड़ी लापरवाही सामने आई है जिसकी सुपरवीजन में मुलाजिम शराब पी कर ड्यूटी कर रहे थे। वैसे एस.एस.पी. मोहाली कुलदीप चाहल ने इसको गंभीरता से लेते लापरवाही बरतने के आरोप में थाना प्रमुख को लाईन हाजिर कर यहाँ लखविन्दर सिंह को नया थाना प्रमुख तैनात कर दिया है। जबकि दूसरे ओर पूर्व थाना प्रमुख महेन्दर सिंह ने मुलाजिमों की तरफ से शराब पीकर ड्यूटी करने बारे कोई जानकारी न होने का दावा किया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें