ENGLISH HINDI Saturday, February 23, 2019
Follow us on
पंजाब

चुनावी बिगुल— झाड़ू को तिनका-तिनका करने वाला कोई पैदा नहीं हुआ: केजरीवाल

January 21, 2019 10:42 AM

चंडीगढ़, फेस2न्यूज:
आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय कनवीनर और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बरनाला में लोकसभा चुनाव का बिगुल बजाते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री पर हमला बोलते कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने किसानों-बेरोजगारें समेत पंजाब के दलितों और पिछड़े वर्ग के लोगों के साथ धोखा ही धोखा किया है। जबकि दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 3 वर्ष की सरकार ने सेहत, शिक्षा समेत हर क्षेत्र में प्रशंसायोग कार्य करके काया-कल्प ही बदल कर रख दी है, जो देशों विदेशों में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिसका हर वर्ग समेत आम लोग, दलित और पिछड़े गरीब भरपूर लाभ ले रहे हैं।
इस मौके अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी हमेशा लोगों के हक और सच की आवाज बुलंद करती आई है और वह लोग जो कह रहे हैं कि पंजाब में आम आदमी पार्टी तिनका-तिनका हो गई है आज की रैली उनके के लिए एक जवाब है। उन्होंने कहा कि किसी में भी इतनी हिम्मत नहीं है कि आम आदमी पार्टी को खत्म करे क्योंकि आम आदमी पार्टी आम लोगों की पार्टी है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में कांग्रेस और अकालीदल ने मिल कर आम आदमी पार्टी को खत्म करने की कोशिश की परंतु सच की ताकत को कभी झुका नहीं सके। 

 
कैप्टन अमरिन्दर सिंह और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर बरसते केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने दलितों, पिछड़े वर्ग और गरीब लोगों के हक और सच को हमेशा दबाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अकाली दल के राज में गरीब, दलित और पिछड़ा वर्ग हमेशा दुखी रहा है। उन्होंने कहा कि दलितों को उनकी बनती सुविधाएं और हक नहीं दिए गए।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह की लोक विरोधी और दलित विरोधी सोच पर केजरीवाल ने कहा कि राज्य में सरकारी शिक्षा और सेहत सुविधाओं की हालत बिल्कुल दयनीय हो चुकी है। जिस कारण गरीब और दलित शिक्षा और सेहत जैसी बुनियादी सहूलतों से वंचित हो गए हैं। कैप्टन अमरिन्दर सिंह सरकार द्वारा राज्य के सरकारी अस्पतालों को निजी हाथों में देने की आलोचना करते केजरीवाल ने कहा कि इससे वह गरीबों और दलितों से उनके जीने का हक भी छीनने जा रही है। उन्होंने पूछा कि यदि सरकार शिक्षा और सेहत जैसी बुनियादी सहूलतें प्रदान नहीं कर सकती तो उनको सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह राज्य के लोगों के कर्ज माफी, हर घर रोजगार, पैंशन और स्मार्ट फोन के झूठे वायदे करके सत्ता में आए थे, परंतु सरकार बनने के बाद सभी वायदों से पलट गए हैं। जिस कारण पंजाब के गरीब और दलित लोग ठग्गा हुआ महसूस कर रहे हैं।
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने शिक्षा और सेहत के क्षेत्र में जी-तोड़ मेहनत की है जिससे दिल्ली के स्कूलों और अस्पतालों की काया-कल्प हो गई है। उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने शिक्षा के क्षेत्र में नई तकनीकों का प्रयोग करके सरकारी शिक्षा को प्राईवेट शिक्षा की अपेक्षा और ज्यादा अच्छा बना दिया है। जिससे गरीबों और दलितों के बच्चों को यह सुविधा मिल रही है। उन्होंने कहा कि पिछले साल दिल्ली के सरकारी स्कूलों का नतीजा प्राईवेट स्कूलों की अपेक्षा बेहतर था और 90 प्रतिश्त से ज्यादा बच्चे पास हुए थे। इसी तरह सरकारी अस्पतालों का काया कल्प करते हुए गरीबों के लिए मुफ्त दवाएं और इलाज की सुविधा प्रदान करके दस लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज का प्रबंध किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने दिल्ली सरकार के कार्यों में रुकावटें डालने की बहुत कोशिश की परंतु सरकार को दलितों और गरीबों की भलाई के कार्य करने से रोक नहीं सकी।
भगवत मान की तारीफ करते अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि वह लोगों की आवाज को लोक सभा में जोर-शोर से उठाते आए हैं और उन्होंने एक सच्चे लोग नेता होने का सबूत दिया है। उन्होंने कहा कि भगवंत मान ने अपनी लाखों रुपए की कमाई वाला कलाकार जीवन छोड़ लोग सेवा के लिए राजनीति में आए हैं और अपना कार्य बाखूबी निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बादलों और कैप्टन ने पंजाब के लोगों को लूटा और पीटा है और भगवंत मान हमेशा सच की आवाज बुलंद करते आए हैं। उन्होंने कहा कि 2017 के चुनाव में भगवंत मान द्वारा जलालाबाद से सुखबीर बादल के खिलाफ चुनाव लडऩा उनकी लोगों के प्रति निष्ठा को जाहिर करता है। उन्होंने कहा कि सुखबीर बादल राज्य के सबसे अहंकारी व्यक्ति हैं जिस कारण भगवंत मान ने उनका अहंकार तोडऩे के लिए चुनाव लड़ा था परंतु अकाली दल और कांग्रेस की मिलीभुगत के कारण वह जीत नहीं सके।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें