ENGLISH HINDI Sunday, March 24, 2019
Follow us on
हरियाणा

पूरा देश एकजुट होकर राष्ट्र-निर्माण में लग जाए, तभी हम चुनौतियों का सामना करके विश्वगुरू का दर्जा दिला सकते हैं: राज्यपाल

January 26, 2019 04:42 PM
पंचकूला,  फेस2न्यूज:
हरियाणा के राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य  ने 70वें गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर पंचकूला के सैक्टर 5 स्थित परेड ग्राऊण्ड में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में ध्वजारोहण किया तथा परेड की सलामी ली।
 
 
 
राज्यपाल ने परेड का निरीक्षण किया और लोगों को गणतन्त्र दिवस की बधाई एवमं शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर राज्यपाल ने अमर शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों को नमन् करते हुए कहा कि उनके लम्बे संघर्ष एवं महान त्याग और बलिदानों की बदोलत हमें आजादी मिली। फलस्वरूप आज हम सबसे बड़े लोकतंत्र देश में स्वतन्त्र रूप से सांस ले रहे है।
उन्होंने कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने जिस स्वतंत्र, शक्तिशाली व महान भारत के सपने संजोये थे, आजादी के बाद उनको पूरा करना हर भारतवासी का कर्Ÿाव्य बन गया। उस समय व्यवस्था के अनुकूल शासन प्रणाली स्थापित करना बहुत बड़ी चुनौती थी। बाबा साहेब डा0 भीमराव अंबेडकर ने इस चुनौती को स्वीकारा और भारत के संविधान की रचना की। हमारा संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान है।

प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी ने 2022 के जिस नए भारत की परिकल्पना की है, हरियाणा उसे साकार करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ा है। प्रदेश में आॅनलाइन सेवाएं शुरू करने से भ्रष्टाचार पर तो चोट हुई है। जनता को तत्पर सेवाएं प्रदान करने में भी सफलता मिल रही है। डिजिटल इण्डिया विजन को आगे बढ़ाते हुए राज्य में 37 विभागों की 485 योजनाऐं एवं सेवाएं आॅनलाइन की गई हंै। प्रदेश में अधिक से अधिक युवाओं को अपरंेटिस कार्यक्रम से जोड़ा गया है जिसके फलस्वरूप राज्य को ‘‘चैम्पियन आॅफ चेंज‘‘ सर्वश्रेष्ठ राज्य के अवाॅर्ड से सम्मानित किया गया है।

राज्यपाल ने कहा कि आज समय की मांग है कि पूरा देश एकजुट होकर राष्ट्र-निर्माण में लग जाए, तभी हम चुनौतियों का सामना करके भारत को 21वीं सदी में फिर से विश्वगुरू का दर्जा दिला सकते हैं। हम सभी ने कड़ी मेहनत और सच्ची लग्न से हरियाणा को कई क्षेत्रों में देश का अग्रणी राज्य बनाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश मंे सुदृढ़ कानून-व्यवस्था के चलते हरियाणा निरंतर प्रगति कर रहा है।   स्कूल, काॅलेज जाने वाली छात्राओं व अन्य महिलाओं की सुरक्षा के लिए ‘‘दूर्गा रैपिड एक्शन फोर्स‘‘ का गठन किया गया है। पुलिस विभाग द्वारा ‘‘सिटिजन पोर्टल‘‘ तैयार किया गया है। इस पोर्टल पर कोई भी व्यक्ति शिकायत दर्ज करवा सकता है।
श्री आर्य ने कहा कि राज्य में किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से 47 लाख  से भी अधिक ‘‘साॅयल हेल्थ कार्ड‘‘ बनाए गए है। किसानों की समस्याएं दूर करने के लिए प्रदेश में नया कानून बनाकर हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण का गठन किया जा चुका है। इतना ही नहीं प्रदेश में सभी फसलों का न्यूनतम मूल्य उनकी उत्पादन लागत से कम से कम डेढ़ गुणा किया गया है। फसलों के खराब होने पर दिए जाने वाली मुआवजा राशि को बढ़ाकर 12 हजार रूपये प्रति एकड़ तक किया गया है। इसके साथ-साथ सिचाई की जरूरतों को पूरा करने के लिए सभी टेलों पर पानी पहुंचाया गया है। हरियाणा सुक्ष्म ‘‘सिचाईं योजना‘‘ बनाने वाला भी देश का पहला राज्य बन गया है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में पंचायती-राज प्रणाली को सशक्त और पारदर्शी बनाने के उद्देश्य से साक्षर पंचायतों का गठन किया गया है। ऐसा करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में शहरों का भी कायाकल्प हुआ है। पूरे राज्य में 600 से भी अधिक अनाधिकृत कालोनियों को नियमित किया गया है। प्रदेश के फरीदाबाद, करनाल और गुरूग्राम शहरों को ‘‘स्मार्ट सिटी‘‘ बनाया जा रहा है। सरकार ने पूरी प्रशासनिक व्यवस्था को नई तकनीक से जोड़कर नव-हरियाणा के निर्माण के सार्थक प्रयास किए जा रहे हंै। नई तकनीक का यह उपयोग व्यवस्था के लिए परिवर्तनकारी सिद्ध हो रहा है। तकनीकी व्यवस्था से पारदर्शिता और ईमानदारी के साथ पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति को योजनाओं का लाभ पहुंच रहा है।
राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2022 के जिस नए भारत की परिकल्पना की है, हरियाणा उसे साकार करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ा है। प्रदेश में आॅनलाइन सेवाएं शुरू करने से भ्रष्टाचार पर तो चोट हुई है। जनता को तत्पर सेवाएं प्रदान करने में भी सफलता मिल रही है। डिजिटल इण्डिया विजन को आगे बढ़ाते हुए राज्य में 37 विभागों की 485 योजनाऐं एवं सेवाएं आॅनलाइन की गई हंै। प्रदेश में अधिक से अधिक युवाओं को अपरंेटिस कार्यक्रम से जोड़ा गया है जिसके फलस्वरूप राज्य को ‘‘चैम्पियन आॅफ चेंज‘‘ सर्वश्रेष्ठ राज्य के अवाॅर्ड से सम्मानित किया गया है।
श्री आर्य ने कहा कि हरियाणा ने अपनी स्टार्ट-अप नीति लागू की है। इससे हरियाणा ‘‘ईज आॅफ डूईंग बिजनेस में देश में तीसरे स्थान पर और उत्तर भारत में प्रथम स्थान पर आ गया है। इसी प्रकार प्रदेश में नई उद्यम प्रोत्साहन नीति लागू की गई है, जिससे प्रधानमंत्री के ‘मेक इन इंडिया’ विजन को साकार करने का सार्थक प्रयास हुआ है।
राज्यपाल श्री आर्य ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान में भी अग्रणी भूमिका निभाते हुए हरियाणा राज्य खुले में शौच मुक्त हो गया है। ग्रामीण स्वच्छता सर्वेक्षण में हरियाणा देश में पहले स्थान पर है। इसके साथ-साथ प्रदेश कैरोसीन मुक्त भी हो गया है।प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के 2022  तक हर परिवार को अपना घर मुहैया करवाने के सपने के अनुरूप गरीबों के लिए फ्लैट्स और मकान बनाने का काम प्रगति पर है।
उन्होंने कहा कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान में भी हरियाणा ने उल्लेखनीय उपलब्धि प्राप्त की है।वर्ष 2014 में एक हजार लड़कों के पीछे केवल 871 लड़कियां ही रह गई थीं, जबकि इस समय प्रदेश  में लिंगानुपात 914 हो गया है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री जनधन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, जीवन ज्योति योजना, अटल पेंशन योजना, सांसद आदर्श ग्राम योजना, प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना आदि योजनाएं भी तेजी से लागू की गई हैं।
राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा के किसानों ने दूध व खाद्यान्न उत्पादन में नए रिकार्ड बनाए हैं। सरकार सन् 2022 तक किसानों की आय दोगुणा करने के लिए प्रतिबद्ध है।  हरियाणा आज आॅटोमोबाइल, आई.टी. और अन्य उद्योगों का बड़ा केन्द्र है। यहां आधुनिक शिक्षा के विश्वस्तरीय संस्थान भी खुल चुके हैं। इस छोटे से राज्य में कुल 43 विश्वविद्यालय हैं जिनमें 21 सरकारी, 22 गैर सरकारी विश्वविद्यालय  शामिल हैं। इनमें श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय शामिल है।
उन्होेंने कहा कि राज्य के खिलाड़ियों ने विभिन्न अन्तर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में पदक जीतकर देश का मान बढ़ाया है। भौतिक विकास के साथ हरियाणा ने सांस्कृतिक मूल्यों को भी संजोए रखा है। यह प्रदेष भारतीय संस्कृति का मूल केन्द्र है। यहीं कुरूक्षेत्र में भगवान् श्रीकृष्ण ने गीता का पावन संदेष दिया था। गीता ज्ञान का विश्व भर में प्रचार-प्रसार करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव का आयोजन आरंभ किया है।इसी प्रकार राज्य में गौ-संरक्षण के लिए कडे़ कानून लागू हैं। जिस पावन सरस्वती नदी के तटों पर कभी वेदों की रचना हुई थी, उसे फिर से भूमि पर लाने का प्रयास जारी है। उन्होंने इस ऐतिहासिक दिवस पर हम गणतंत्र दिवस पर राष्ट्र की एकता और अखण्डता को बनाये रखने तथा देश के नव-निर्माण के लिए मिलकर काम करने का संकल्प लेने का आहवान किया।  
इस अवसर पर हरियाणा पुलिस पुरूष एवं महिला, गृह रक्षी, एनसीसी (सीनियर) लड़के व लड़कियां, एनसीसी (जूनियर) लड़के व लड़कियां, गल्र्स एण्ड स्काउट व अन्य स्कूलों की टुकड़ियों  ने शानदार मार्च पास्ट का प्रदर्शन किया। इसके साथ साथ पीटी शो, डम्बल की बेहतरीन प्रस्तुति दी गई। मधुबन पुलिस द्वारा शानदान डाॅग शौ का आयोजन किया जिसमें कुतोें ने हेरतअंगेज कारनामे दिखाए। इसके अतिरिक्त रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा विभिन्न विभागों द्वारा सरकार की विकासात्मक गतिविधियों पर आकर्षक झांकिया भी निकाली गई। इससे पहले राज्यपाल ने सैक्टर 12 स्थित शहीदी स्मारक पर शहीदों को श्रद्वंाजलि अपिर्त की। उन्होंने विभिन्न कार्यक्रमों की शानदान प्रस्तुति से खुश होकर 5 लाख रुपए देने की घोषणा की।
इस मौके पर लेडी गर्वनर श्रीमति सरस्वती देवी, अम्बाला के सांसद रतन लाल कटारिया, कालका की विधायक लतिका शर्मा, हरियाणा के मुख्य सचिव डी एस ढेसी,  प्रधान सचिव वित केसनी आनन्द अरोड़ा, हरियाणा पुलिस के महानिदेशक बी एस सिंधु, आयुक्त दीप्ति उमाशंकर, राज्यपाल के सचिव, श्री विजय सिंह दहिया, डीआईजी सीआईडी सत्येन्द्र गुप्ता, पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह, उपायुक्त मुकुल कुमार व सेना के वरिष्ठ अधिकारी तथा शहर के गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे।
 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और हरियाणा ख़बरें
आचार संहिता दौरान प्राकृतिक आपदा जैसी घटना पर वीडियो कॉन्फ्रसिंग की जा सकती गंगा जल प्रकरण में सियासी पंच, अब पुलिस कह रही ड्राइवर बोला गंगाजल नहीं बोर का पानी था सेना, पुलिस और प्रशासन ने दिखाया दम: सवा साल के बच्चे को 48 घंटे के बाद बोर वेल से सही सलामत निकाला होली पर कानून व्यवस्था को बनाए रखने के विशेष निर्देश, ड्रंक एंड ड्राइव की जाँच के लिए विशेष नाके चुनाव के दौरान आयकर विभाग की रहेगी नकद लेन-देन पर नजर आदर्श आचार संहिता दौरान विज्ञापन सामग्री छपवाने या प्रसारण पर एम.सी.एम.सी से सर्टिफिकेट अनिवार्य हरियाणा में अब टच स्क्रीन से मिलेगी वोट से सम्बन्धित तमाम जानकारी: रंजन अधिकारियों को चुनावी खर्च पर सख्त रहने के दिए निर्देश शिवसेना हरियाणा में10 लोक सभा सीटो और सभी विधान सभा सीटो पर चुनाव लड़ेगी पांच एचसीएस अधिकारी स्थानांत्रित