ENGLISH HINDI Monday, May 27, 2019
Follow us on
हरियाणा

मुख्यमंत्री ने भिवानी में 70वें गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर राष्ट्र ध्वज फहराया

January 26, 2019 08:03 PM
भिवानी, फेस2न्यूज:
हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने 70वें गणतंत्र दिवस की प्रदेश के लोगों को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए अपनी सादगी एवं मिलनसार व्यक्तित्व का उदाहरण पेश करते हुए हरियाणा पुलिस के कमांडो डेयर डेविल शो की मोटरसाईकिल पर परेड ग्राउंड का चक्कर लगाकर अभिनंदन किया और परेड व मार्च पास्ट में शामिल सभी प्रतिभागियों के साथ बारी-बारी से सामूहिक फोटो खिंचवाकर सभी का मन मोह लिया। 

हरियाणा गठन के बाद से अब तक की सरकारों की कार्यशैली की तुलना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पिछले सवा चार वर्ष के कार्यकाल में सूचना प्रौद्योगिक का अधिक से अधिक उपयोग कर भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया है और युवाओं को पारदर्शी व मैरिट के आधार पर नौकरियां प्रदान की है, जिसका एक उदाहरण हाल ही में 18 हजार 218 पदों पर की गई गु्रप डी की भर्ती है और उसमें भिवानी जिले के दो हजार से अधिक युवाओं का चयन हुआ है। 

 
 
 
 
 
 
मुख्यमंत्री ने शनिवार को भिवानी के भीम खेल परिसर में आयोजित 70वें गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर राष्ट्र ध्वज फहरा कर उपस्थित लोगों को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रताओं सेनानियों व युद्ध विरागंनाओं को शॉल भेंट कर सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन से भिवानी के मैडिकल कॉलेज का नाम स्वतंत्रता सेनानी पंडित नेकी राम शर्मा के नाम पर रखने की घोषणा भी की। समारोह के संपन्न होने के बाद मुख्यमंत्री ने भिवानी जिले के लिए 83 करोड़ 26 लाख 61 हजार रुपये की विभिन्न परियोजनाओं का उदघाटन व शिलान्यास किया। 
हरियाणा गठन के बाद से अब तक की सरकारों की कार्यशैली की तुलना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पिछले सवा चार वर्ष के कार्यकाल में सूचना प्रौद्योगिक का अधिक से अधिक उपयोग कर भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया है और युवाओं को पारदर्शी व मैरिट के आधार पर नौकरियां प्रदान की है, जिसका एक उदाहरण हाल ही में 18 हजार 218 पदों पर की गई गु्रप डी की भर्ती है और उसमें भिवानी जिले के दो हजार से अधिक युवाओं का चयन हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे हरियाणा एक व हरियाणवीं एक व सबका साथ-सबका विकास के मूल मंत्र पर चलते हुए बिना किसी क्षेत्रवाद, जातिवाद, भाई-भतीजावाद के साथ प्रदेश के लोगों की सेवा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें खुशी है कि लोग सरकार की कार्यप्रणाली से संतुष्ट हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के दिन साथ हमारे आजादी के आन्दोलन की कई गौरवपूर्ण घटनाएं जुड़ी हुई हैं। वर्ष 1930 में आज के दिन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के आह्वान पर लाखों देशवासियों ने ‘पूर्ण स्वराज’ की प्रतिज्ञा ली थी। 15 अगस्त, 1947 को आजादी हासिल करने के बाद आज के दिन 1950 में हमने अपना संविधान लागू कर उस ऐतिहासिक संकल्प को पूरा किया था। 
हमारा संविधान डॉ० राजेन्द्र प्रसाद के कुशल नेतृत्व में तैयार हुआ था। इसमें डॉ० भीमराव अम्बेडकर जी की दूरदर्शिता समाई है तथा यह संविधान सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के दृढ़ निश्चय का प्रतीक है। संसार के सबसे बड़े इस संविधान में सभी को बराबर के हक दिये हैं। ऊँच-नीच, छोटे-बड़े का भेदभाव मिटाकर हर आदमी को अपनी बात आज़ादी से कहने का अधिकार है। अपनी सात दशक की आजादी के दौरान देश ने एक सुदृढ़, परिपक्व और गतिशील प्रजातंत्र के रूप में दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। भिवानी की धरती को धार्मिक एवं वीर भूमि बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां पर तिरंगा फहराने का गौरव मिला है, जिसे छोटी काशी भी कहा जाता है। यहां के लोगों ने महात्मा गांधी जी द्वारा चलाए गये सभी आन्दोलनों में बढ़-चढ़ कर भाग लिया। आजाद हिन्द फौज में भी बड़ी संख्या में इस इलाके के लोग थे। पण्डित नेकी राम शर्मा, श्री बनारसी दास गुप्ता, श्री राधा कृष्ण वर्मा, श्री रामकृष्ण गुप्ता, कैप्टन दलीप सिंह जैसे जाने-माने स्वतंत्रता सेनानी इस इलाके की ही देन रहे हैं। इस जिले ने देश को रक्षा मंत्री और थल सेना अध्यक्ष तक दिये हैं।
उन्होंने कहा कि आज का दिन खुशियां मनाने के साथ-साथ आत्म विष्लेशण करने का भी दिन है कि हमने संविधान निर्माताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों का भारत बनाने का जो सपना लिया था उसमें हमने कहां तक सफलता अर्जित की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता के आशीर्वाद से सवा चार वर्ष पहले जब हमने प्रदेश में जनसेवा की बागडोर सम्भाली थी तो उस समय हमारे सामने भ्रश्टाचार, जातिवाद, क्षेत्रवाद आदि कई चुनौतियां थीं। इन चुनौतियों से निपटने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी मार्गदर्शन में हमने ‘हरियाणा एक-हरियाणवी एक’ तथा ‘सबका साथ-सबका विकास’ एवं पण्डित दीन दयाल उपाध्याय जी के अंत्योदय दर्शन पर चलते हुए प्रदेश में बदलाव के लिए ऐसे फैसले लिये, जो आम आदमी की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव ला रहे हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे यह बताते हुए बड़ा गर्व हो रहा है कि आज हरियाणा विकास के मामले में सर्वाधिक विकसित राज्यों में से एक है। सामान्यत: विकास को भौतिक विकास के आंकड़ों में दर्शाया जाता है। लेकिन विकास का एक और पैमाना भी है, जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता। और वह है भौतिक विकास के साथ-साथ समरसतापूर्ण और कुरीति रहित समाज की स्थापना करना। हमने इस दिशा में कई मील के पत्थर स्थापित किए हैं। उन्होंने कहा हमने योग्यता के आधार पर और पारदर्शी ढंग से युवाओं को नौकरियां देने का अपना वायदा पूरा किया है। हाल ही में हमने गु्रप ‘डी’ के 18,218 पदों पर रिकॉर्ड समय में निष्पक्ष भर्तियां की हैं। इनमें ऐसे-ऐसे युवाओं का चयन हुआ, जिनके परिवार में कभी किसी को सरकारी नौकरी नहीं मिली थी। आज प्रदेश का युवा सरकारी नौकरी पाने की तैयारी में मनोयोग से लगा रहता है, जबकि पिछली सरकारों में वह सरकारी नौकरी लेने के जुगाड़ में ज्यादा समय बिताता था। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 54 हजार से अधिक युवाओं को नियमित सरकारी नियुक्तियां दी गई हैं और 17 हजार पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया जारी है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि नौकरियों में सबको समान अवसर प्रदान करने के लिए ही प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया है। आप जानते हैं कि 20वीं शताब्दी में संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने अनुसूचित जातियों के लिए, सरकारी नौकरियों व शिक्षण संस्थानों में आरक्षण का प्रावधान किया था। अब 21वीं शताब्दी में मोदी जी ने हर गरीब को आगे बढने के अवसर प्रदान कर दिए हैं। नौकरियों में भ्रष्टाचार खत्म करने के अलावा हमने अनेक बड़े मील के पत्थर स्थापित किए हैं। 
उन्होंने कहा कि इस दिशा में हमने 115 अंत्योदय सरल एवं 4 हजार से अधिक अटल सेवा केन्द्र खोले हैं, जहां एक ही छत के नीचे सभी सरकारी सेवाओं एवं योजनाओं की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। हरियाणा देश का पहला राज्य है जहां इन केन्द्रों के माध्यम से 485 योजनाओं और सेवाओं को एक क्लिक से ऑन लाइन प्राप्त किया जा सकता है। यही नहीं फरवरी मास के अंत तक हम लगभग 600 योजनाओं और सेवाओं को ऑन लाइन कर देंगे। स्कीमों व सेवाओं का लाभ जनता तक सरलता से पहुंचाने के लिए हमने पिछले सवा चार वर्षों में 31 नये कानून बनाए हैं। उन्होंने कहा कि सक्षम योजना के तहत शिक्षित बेरोजगार युवाओं को हर महीने 100 घंटे के वेतन सहित काम की गारण्टी देने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। राज्य में 49 हजार 540 युवाओं को सरकार के विभिन्न विभागों और संगठनों में काम दिया गया है। युवाओं का कौशल विकास करने के लिए पलवल के दुधौला में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे गर्व है कि विकसित बुनियादी ढांचे से हरियाणा की विशेष पहचान बनी है। राज्य में मेट्रो रेल का विस्तार हो रहा है व अनेक ओवर ब्रिज व फ्लाई ओवर बन चुके हैं। 650 करोड़ रुपये की लागत से रोहतक-महम-हांसी रेलवे लाइन का कार्य चल रहा है। हिसार में घरेलू हवाई अड्डा बनाया गया है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का लक्ष्य वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुणी करने का है। इसके लिए स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिशों के अनुरूप फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्यों में उत्पादन लागत पर 50 प्रतिशत लाभ दिया गया है। सरसों, मूंग और बाजरे की पहली बार बड़े पैमाने पर सरकारी खरीद की गई। बाजरा तो 1950 रुपये प्रति क्विंटल के समर्थन मूल्य पर खरीदा गया, जोकि गेहूं के समर्थन मूल्य से अधिक है। इससे दक्षिणी हरियाणा के किसानों को काफी लाभ हुआ है। प्रदेश में हमने किसानों के कल्याण-उत्थान के लिए ‘हरियाणा किसान कल्याण प्राधिकरण’ का गठन किया है। किसान को जोखिममुक्त करने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और सब्जी की फसलों के लिए देश की पहली ‘भावांतर भरपाई स्कीम’ भी लागू की है। ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ के तहत 5 लाख 98 हजार किसानों को 1140 करोड़ 98 लाख रुपये के क्लेम मिले हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि छोटी होती जा रही जोत को लाभकारी बनाने के लिए बागवानी को बढ़ावा दिया जा रहा है। करनाल जिले में महाराणा प्रताप बागवानी विश्वविद्यालय स्थापित किया गया है। प्रदेश के 340 गांवों को बागवानी गांव के रूप में विकसित किया जा रहा है जिनमें भिवानी विधानसभा क्षेत्र के भी तीन गांव शामिल हैं। 
श्री मनोहर लाल ने कहा कि हमने पानी का समान और न्यायोचित बंटवारा करके दक्षिणी हरियाणा की ऐसी-ऐसी टेलों पर पानी पहुंचाया है, जिन पर पिछले तीन दशकों से पानी नहीं पहुंचा था। आपके जिला भिवानी व दादरी के लिए नहरी पानी आपूर्ति में सुधार करने के लिए आज भिवानी और दादरी रजबाहों के पुनर्निर्माण के कार्य का शिलान्यास किया जा रहा है। हमने प्रदेश में जल संरक्षण के लिए जल की कमी और अत्यधिक जल के दोहन वाले 36 खण्डों के लिए सूक्ष्म सिंचाई की एक विशेष परियोजना शुुरू की है। इसके तहत बिना भूमि की सीमा के 85 प्रतिशत सब्सिडी दी जाती है। भिवानी विधानसभा क्षेत्र में 70 हजार हैक्टेयर क्षेत्र को सूक्ष्म सिंचाई के अधीन लाया गया है। उन्होंने कहा कि बिजली क्षेत्र में हमने नए आयाम स्थापित किए हैं। प्रदेश के बिजली निगम पहली बार लाभ में आए हैं और लाइन लॉसिज कम हुए हैं। इससे उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम देश में 22वें से 10वें स्थान पर और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम 24वें से 13वें स्थान पर आ गए हैं। मुझे यह बताते हुए बड़ी खुशी हो रही है कि हम पूरी बिजली दे रहे हैं, लेकिन बिजली की दरें लगभग आधी की हैं। कृषि नलकूपों के सभी लम्बित कनेशनों के डिमांड नोटिस भी मार्च 2019 तक जारी होंगे। हमारा लक्ष्य 50 हजार नए सौर उर्जा कनेक्षन देने का है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘म्हारा गांव-जगमग गांव’ योजना के तहत प्रदेश के 3205 गांवों को शहरी तर्ज पर 24 घण्टे बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। इस तरह प्रदेश के लगभग आधे गांवों को 24 घंटे बिजली मिल रही है। आपके जिला भिवानी के भी 30 गांवों को 24 घंटे बिजली मिल रही है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि आवास क्षेत्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि वर्ष 2022 तक देश के हर नागरिक के सिर पर छत हो। इस सपने को साकार करने के लिए हमने प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत अब तक ग्रामीण क्षेत्रों में 7,954 मकानों का निर्माण किया है तथा 10,758 मकान निर्माणाधीन हैं। इसी प्रकार प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत केन्द्र सरकार ने हरियाणा के 80 कस्बों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 2 लाख 40 हजार 823 आवास बनाने के लिए 5,880 करोड़ 72 लाख रुपये की एक परियोजना स्वीकृत की है। इसी के तहत 21 शहरों में 7,533 फ्लैटों के आबंटन की प्रक्रिया चल रही है।  हमने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टरों में चौथी मंजिल बनाने की अनुमति दी है। लगभग 600 कॉलोनियों को नियमित किया है और इनके विकास के लिए 1000 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं।
उन्होंने कहा कि प्राथमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा तथा तकनीकी शिक्षा में गुणात्मक सुधार पिछले सवा चार वर्षों में किया है। इस अवधि में प्रदेश में सरकारी और निजी क्षेत्र में 10 नए विश्वविद्यालय खोले गए है।  भिवानी में ही चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि महिला शिक्षा पर विशेष बल दिया है। चार वर्षों में हमने 44 नए कॉलेज खोले हैं। इनमें से 29 लड़कियों के और 15 सहशिक्षा कॉलेज हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में 48 साल में लड़कियों के केवल 31 कॉलेज खोले गए थे जबकि हमारी सरकार ने चार साल में 29 नए कॉलेज खोले। उन्होंने कहा कि हमारा सकंल्प है कि हरियाणा में किसी भी लडक़ी को कॉलेज में पढऩे के लिए ज्यादा दूर न जाना पड़े। कैरू के राजकीय कन्या महाविद्यालय भवन का आज शिलान्यास किया जा रहा है, जिसके निर्माण पर  6 करोड़ 59 लाख रुपये से अधिक खर्च होंगे।
इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सुरक्षा को गंभीरता से लेते हुए हमने प्रदेश में 31 महिला पुलिस थाने खोले हैं। इससे पहले 48 सालों में केवल 2 महिला पुलिस थाने खोले गए थे। महिला सुरक्षा को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए ‘दुर्गा शक्ति’ एप शुरू किया गया है तथा दुर्गा शक्ति रैपिड एक्शन फोर्स का गठन किया है। बलात्कार या छेड़छाड़ के आरोपी की सभी सरकारी सुविधाएं बंद करने का कठोर निर्णय लेने वाला भी हरियाणा देश का एकमात्र प्रदेश है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब हमने प्रदेश की जनसेवा की बागडोर सम्भाली तो उस समय प्रदेश की लिंगानुपात और कन्या भू्रण हत्या के मामले में स्थिति बड़ी चिंताजनक थी। इस प्रतिकूल स्थिति को अनुकूल बनाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 22 जनवरी, 2015 को पानीपत की ऐतिहासिक धरती से ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ राष्ट्रीय महत्त्वाकांक्षी कार्यक्रम का शुुभारम्भ किया था। उन्होंने कहा कि सरकारी प्रयासों के साथ-साथ लोगों के सहयोग से हमने प्रदेश में इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाया। उसी का परिणाम है कि प्रदेश में जन्म के समय लिंगानुपात को दशकों के बाद पहली बार 900 से ऊपर ले जाया गया। आज यह आंकड़ा वर्ष 2014 के 871 के मुकाबले 914 है।
उन्होंने कहा कि ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को सफलतापूर्वक चलाने के लिए हरियाणा को राश्ट्रीय स्तर पर विभिन्न श्रेणियों में चार पुरस्कार मिले हैं। इनमें पीएनडीटी एक्ट को लागू करने में अनुकरणीय प्रदर्शन के लिए जिला कुरुक्षेत्र को, महिला एवं बाल विकास में अनुकरणीय कार्य के लिए जिला करनाल को, बेटियों की शिक्षा के क्षेत्र में अच्छी उपलब्धियां हासिल करने के लिए जिला झज्जर को तथा इस कार्यक्रम के समग्र क्रियान्वयन के लिए प्रदेश को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला है
हरियाणा की खेलों की उपलब्धियों में भिवानी जिले का नाम सबसे पहले आता है। छोटा क्यूबा के नाम से प्रसिद्ध यह जिला बाक्सिंग और कुश्ती में खिलाडिय़ों की खान कहा जाता है। इसीलिए भिवानी में खेल सुविधाओं का विस्तार करने पर हम विशेष बल दे रहे हैं। यहां के भीम खेल स्टेडियम में सिंथेटिक एथलेटिक ट्रैक बिछाया गया है। आज यहां पर नये सुविधा भवन का उद्घाटन किया जा रहा है। इस पर 3 करोड़ 35 लाख रुपये की लागत आई है। भिवानी विधानसभा क्षेत्र के 13 गांवों में व्यायामशालाएं स्थापित की हैं और दो गोल्डन जुबली खेल नर्सरियां बनाई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की नई खेल नीति के फलस्वरूप हरियाणा के खिलाडिय़ों ने कॉमनवेल्थ, एशियाई खेलों और ओलपिक खेलों में पदकों की झड़ी लगाकर देश का नाम रोशन किया है। हमें गर्व है कि हमारे खिलाडिय़ों ने कॉमनवैल्थ गेम्स-2018 में 22 पदक और एशियन गेम्स-2018 में 17 पदक जीते हैं। सरकार ने खिलाडिय़ों के लिए क्लास वन से क्लास फोर तक के पदों की सीधी भर्ती में आरक्षण का प्रावधान किया है। हमने अक्तूबर, 2014 से अब तक विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय खेलों में भाग लेने वाले 8 हजार से अधिक खिलाडिय़ों को सम्मान स्वरूप लगभग 243 करोड़ रुपये की राशि दी है। 
उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए विशेष कदम उठाये गए हैं। इस कड़ी में कई अस्पतालों को अपग्रेड किया गया है। कई नए अस्पताल बनाए गए हैं। कई जिला अस्पतालों में एम.आर.आई., सिटी स्कैन और हिमोडायलिसिस की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय जिला करनाल के कुटेल में स्थापित किया जा रहा है। जिला झज्जर के बाढ़सा में राष्ट्रीय कैंसर संस्थान चालू हो गया है। हमारी हर जिले में एक-एक मैडिकल कॉलेज खोलने की योजना है। इसी कड़ी में भिवानी में केन्द्रीय प्रायोजित स्कीम के तहत नया मैडिकल कॉलेज खोलने के लिए भवन का शिलान्यास किया जा चुका है। इसकी स्थापना पर 189 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। 
उन्होंने कहा कि यह तभी संभव होगा, जब गरीब से गरीब व्यक्ति को उच्चकोटि की स्वास्थ्य सेवाएं मिलें और वह भी बिना कोई पैसा खर्च करे। इसके लिए ‘आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ शुरू की गई है। ‘आयुष्मान भारत योजना’ के तहत हरियाणा के 15 लाख 50 हजार परिवारों का हर वर्ष पांच लाख रुपये तक का उपचार मुफ्त होगा। इस योजना को लागू करने के लिए हरियाणा राज्य में 230 अस्पतालों को पैनल पर रखा गया है। प्रदेश के 4 लाख 68 हजार पंजीकृत निर्माण श्रमिकों में से जो आयुष्मान भारत योजना के तहत कवर नहीं होते उन्हें भी सरकारी व चयनित निजी अस्पतालों में पांच लाख रुपये तक के मुफ्त उपचार की सुविधा दी जा रही है। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक कल्याणकारी राज्य होने के नाते हरियाणा सामाजिक न्याय के लिए प्रतिबद्ध है। समाज के कमजोर वर्गों की दषा सुधारने के लिए राज्य में अनेक कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई हैं। गत एक नवम्बर से बुढ़ापा, दिव्यांग व विधवा पेंशन बढ़ाकर दो हजार रुपये मासिक कर दी गई है। इसी प्रकार ‘विवाह शगुन योजना’ और छात्रवृत्तियों की राशि में बढ़ोतरी की गई है। उन्होंने कहा कि हमारे देश को आजाद हुए सात दशक हो गये हैं। लेकिन किसी भी सरकार ने हमारी गरीब महिलाओं को स्वच्छ ईंधन उपलब्ध करवाने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि गरीब महिला की रसोई भी धुआं रहित हो, इसके लिए प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना स्कीम शुरु की गई। इसके तहत हरियाणा में 7 लाख 85 हजार 324 गैस कनैक्शन गरीब परिवारों की महिलाओं को दिए गये हैं। आज हरियाणा देश का पहला कैरोसीन मुक्त राज्य है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार सामाजिक न्याय सुनिश्चित करने के लिए पिछले चार वर्षों के हमारी सरकार के कार्यकाल टपरीवास एवं विमुक्त जातियों के कल्याण-उत्थान के लिए ‘विमुक्त घुमन्तु जाति विकास बोर्ड’, सफाई कर्मचारियों के लिए ‘हरियाणा राज्य सफाई कर्मचारी आयोग’, पिछड़ा वर्ग आयोग और ‘हरियाणा केश कला एवं कौशल विकास बोर्ड’ बनाया है। 
दुर्गम घाटियों, गगनचुम्बी पहाडिय़ों, बर्फानी हवाओं, अथाह समुद्रों और तपते रेगिस्तान में देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे वीर जवानों को प्रणाम करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश की आजादी की लड़ाई में और आजादी के बाद सीमाओं की रक्षा करने में हरियाणा के वीर भी अग्रणी रहे हैं। सेना में हर 10वां सैनिक हरियाणा से है। प्रदेश सरकार स्वतंत्रता सेनानियों, उनके आश्रितों तथा भूतपूर्व और सेवारत सैनिकों के प्रति अपना फर्ज निभाने का हर प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी भूतपूर्व सैनिकों की ‘वन रैंक-वन पेंशन’ की सालों से लम्बित मांग को पूरा किया है। भूतपूर्व सैनिकों व अद्र्धसैनिक बलों के कल्याण के लिए हरियाणा सरकार ने अलग से सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण विभाग का गठन किया गया है। युद्ध के दौरान शहीद हुए सैनिकों के आश्रितों को दी जाने वाली अनुग्रह राशि 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की गई है। हमने 257 शहीदों के आश्रितों को विभिन्न विभागों में सरकारी नौकरियां दी हैं जिनमें 1971 के युद्ध के शहीदों के आश्रित भी शमिल हैं। जबकि 2014 से पहले मात्र 6 शहीदों के आश्रितों को ही नौकरी दी गई।
उन्होंने कहा कि हरियाणा में समान विकास का नया दौर शुरू किया है। हमने राजनीति से ऊपर उठकर सभी 22 जिलों और 90 हल्कों का समान विकास किया है। उन्होंने कहा कि जिला भिवानी में ही हमने विकास के विभिन्न कार्यों पर 1435 करोड़ 62 लाख रुपये खर्च किये हैं। मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर उपस्थित लोगों से अपनी महान सांस्कृतिक परम्पराओं और उच्च नैतिक मूल्यों पर चलते हुए राष्ट्र और हरियाणा को और अधिक स्वच्छ, स्वस्थ व विकसित बनाने के लिए एकजुट होकर काम करने का संकल्प लेने को कहा।
 समारोह में विधायक घनश्याम सर्राफ व बिशम्बर बाल्मिकी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक कानून एवं व्यवस्था मोहम्मद अकील, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक सीआईडी अनिल राव, आयुष विभाग के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार, उपायुक्त अंशज सिंह, पुलिस अधीक्षक गंगाराम पूनिया, अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. संगीता तेतरवाल, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह, प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष जेपी दलाल, जिला परिषद के चेयरमैन रमेश औला, जिला भाजपा अध्यक्ष नंदराम धानिया, नगर परिषद चेयरमैन रणसिंह यादव, एसडीएम सतीश कुमार, नगराधीश कंवर सिंह, मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी हिमांशु पांडे, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के सचिव कैप्टन मनोज कुमार, भाजपा नेता ताराचंद अग्र्रवाल, ठा.विक्रम सिंह, सोनू सैनी, मीना परमार, हर्षवधन मान, संजय शर्मा सहित न्यायिक व प्रशासनिक अधिकारी तथा अनेक गणमान्य नागरिक व भारी संख्या में नगरवासी एवं स्कूली बच्चे उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन प्रवक्ता मनोज कुमार शर्मा ने किया। 
विभिन्न परियोजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास किया
समारोह संपन्न होने के बाद मुख्यमंत्री भीम खेल परिसर से ही मुख्यमंत्री घोषणा के तहत लोहारू उपमंडल के गांव सहरयारपुर में एक करोड़ 85 लाख रुपये की लागत से नवनिर्मित जलघर का उद्घाटन किया व भीम खेल परिसर में तीन करोड़ 25 लाख रुपये की लागत से तैयार भवन, भिवानी में तीन करोड़ 35 लाख रुपये की लागत से तैयार राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा सिवानी में दो करोड़ 18 लाख 75 हजार रूपये की लागत से तैयार अग्रिशमन केंद्र के भवन का उदघाटन किया। भीम खेल परिसर से ही मुख्यमंत्री ने शहर में दस करोड़ 13 लाख 87 हजार रूपये की लागत से तालाबों की सौंदर्यकरण योजना का शिलान्यास किया। इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने दो करोड़ 47 लाख 91 हजार रुपये की लागत से बनने वाले देवराला से हसान संपर्क मार्ग का शिलान्यास, सिंचाई विभाग के तहत 19 करोड़ 78 लाख 90 हजार रुपये की लागत से पुर्ननिर्माण होने वाले रजबाहा आरडी 107200-189600 व 16 करोड़ 81 लाख 69 हजार रुपये की लागत से पुर्ननिर्माण होने वाले रजबाहा आरडी 0-67120 का शिलान्यास, भिवानी शहर में 9 करोड़ 88 लाख 8 हजार रुपये की लागत से बनने वाले तोशाम-भिवानी बाईपास का शिलान्यास, लोहारू में 83 लाख 86 हजार रुपये की लागत से बनने वाले अग्रिशमन केंद्र के भवन का शिलान्यास, सिवानी उपमंडल के गांव धुलकोट में दो करोड़ 99 लाख रुपये की लागत से बनने वाले जलघर, लोहारू उपमंडल के गांव बिठन में तीन करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से बनने वाले जलघर का शिलान्यास तथा कैरू में 6 करोड़ 59 लाख 53 हजार रुपये की लागत से बनने वाले राजकीय महिला महाविद्यालय का शिलान्यास किया।  
समारोह में शामिल हुई विकास परक झांकियां
गणतंत्र दिवस समारोह में शिक्षा विभाग द्वारा सक्षम हरियाणा, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ-बेटी बचाओ, स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना, वन विभाग द्वारा पौधा रोपण, कृषि विभाग द्वारा मृद्धा स्वास्थ्य/मेरी फसल-मेरा ब्यौरा, आयुष विभाग द्वारा प्राचीन व आधुनिक आयुर्वेद उपचार की विधि, जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी द्वार सरल केंद्र, नवीन एवं नवीकरणीय अक्षय ऊर्जा विभाग द्वारा सौर ऊर्जा, सिंचाई विभाग द्वारा सिंचाई से संबंधित, बागवानी, बिजली निगम द्वारा म्हारा गांव जगमग गांव/बिजली माफी योजना, जनस्वास्थ्य विभाग द्वारा जल संचयन, अग्रणी बैंक द्वारा डिजीटल साक्षरता, नगर परिषद व चौ. बंसी लाल विश्वविद्यालय ने संयुक्त रूप से और जिला उद्योग केंद्र और जीबीटीएम द्वारा छोटे व मध्यम उद्योगों की जानकारी झांकियों के माध्यम से दी जाएगी। झांकियों में जिला सूचना एवं विज्ञान विभाग की झांकी प्रथम, शिक्षा विभाग की झांकी द्वितीय व स्वास्थ्य विभाग की झांकी तृतीय स्थान पर रही।  
परेड कमांडर वरूण कुमार सिंगला एएसपी फरीदाबाद के नेतृत्व में मार्च पास्ट की टुकडिय़ां राष्ट्र ध्वज को सलामी देते हुए मंच के सामने से गुजरी। प्लाटून कमांडर एएसआई सुरेश कुमार के नेतृत्व में जिला पुलिस भिवानी पुरूष, एएसआई बबीता के नेतृत्व में जिला पुलिस भिवानी महिला, एएसआई कुसुम के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन महिला, प्लाटून कमांडर डंूगर राम ने नेतृत्व में राजस्थान सशस्त्र दल, एएसआई रोहतास कुमार के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन पुरूष, एएसआई अशोक कुमार के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन पुरूष, प्लाटून कमांडर एएसआई रमेश कुमार के नेतृत्व में गृह रक्षी, सीनियर अंडर ऑफिसर विधिराज शर्मा के नेतृत्व में एनसीसी लडक़े सीनियर डिवीजन, अंडर ऑफिसर सुमन वर्मा के नेतृत्व में एनसीसी लड़कियां सीनियर विंग, सार्जेंट बेंजाय गागुंग के नेतृत्व में एनसीसी एयर विंग और एसआई सतीश कुमार के नेतृत्व में हरियाणा आम्र्ड पुलिस मधुबन के पुलिस बैंड द्वारा शानदार मार्च पास्ट किया गया और टुकडिय़ों ने राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी। मार्चपास्ट में हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन से पुरूष वर्ग की टुकड़ी प्रथम, राजस्थान सशस्त्र दल की टुकड़ी द्वितीय व हरियाणा पुलिस एकेडमी मधुबन महिला वर्ग की टुकड़ी तृतीय स्थान पर रही। इसी प्रकार से पीटीआई विरेन्द्र सिंह के नेतृत्व में मास पीटी डंबल, लेजियम में केएम पब्लिक सीनियर.सेकेंडरी स्कूल, वैश्य सीनियर सेकेंडरी स्कूल, टीआईटी सीनियर.सेकेंडरी. स्कूल, पं.सीताराम शास्त्री स्कूल, डॉ. सर्व पल्ली राधाकृष्णन स्कूल, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सैनिक हाई स्कूल, सिटी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गौस्वामी चंद्रगिरी स्कूल, उत्तमी बाई कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, हलवासिया विद्या विहार, केएम हाई स्कूल जैन चौक के बच्चों ने शानदार मास पीटी शौ का प्रदर्शन किया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम
समारोह में विभिन्न स्कूलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई, जिनमें हलवासिया विद्या विहार, भिवानी पब्लिक स्कूल, डॉ. सर्व पल्ली राधाकृष्णन स्कूल, टीआईटी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, केएम पब्लिक स्कूल और राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थिंयों द्वारा गणतंत्र दिवस समारोह में देशभक्ति से औतप्रोत शानदार कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। सांस्कृतिक कार्यक्रमों से देशभक्ति से औतप्रोत प्रस्तुति देने वाले टीआईटी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ने प्रथम, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को संदेश वाले राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय ने द्वितीय तथा अपनी प्रस्तुति से योग का संदेश देने वाले डॉ. सर्व पल्ली राधाकृष्णन स्कूल तृतीय स्थान पर रहा। सभी स्कूलों ने शानदार कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर दर्शकों की तालियां बटौरी।  
मुख्यमंत्री ने किया कर्मठ एवं निष्ठावान अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित
समारोह के दौरान मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने निष्ठावान व कर्मठ अधिकारियों-कर्मचारियों को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने सबसे पहले आयुष्मान कार्यक्रम के शुभारंभ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने पर आयुष विभाग के महानिदेशक एवं आयुष्मान भारत योजना के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. साकेत कुमार व एचसीएस अधिकारी रूचि सिंह, डिप्टिी सीईओ डॉ. रवि विमल को प्रशंसा पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने लीड बैंक मैनेजर आशा देसाई, पुलिस निरीक्षक रविंद्र सिंह, सहायक उप निरीक्षक राजेश कुमार, प्रधान सिपाही सुरेश, कृष्ण कुमार, विश्वास, सिपाही जोगेंद्र, रविंद्र कुमार, कांता रानी, एसटीएफ से राहुल देव, साईबर सैल निरीक्षक जसवीर सिंह, निरीक्षक सतीश देसवाल, डीपीएम हंसराज, शिक्षा विभाग से शिक्षक राजबीर सिंह, प्रवक्ता अनिल अरोड़ा, राजकुमार, डीपीई मुकेश कुमारी, पवन कुमार, संदीप शर्मा, बिजली निगम से अनिल कुमार एसए, पैनल एडवोकेट अनिल कुमार, एआईपीआरओ सुरेंद्र सिंगल, समाज कल्याण विभाग से नरेेंद्र कुमार, रेडक्रास से संजय कामरा, डॉ. राजकुमार, रोडवेज निरीक्षक जयकिशन, बीडीपीओ नरेंद्र ढ़ुल, पशु चिकित्सक डॉ. प्रवीण व डॉ. राजेश ग्रेवाल, उपायुक्त कार्यालय से सहायक शिव कुमार शर्मा, राजस्व विभाग से सदर कानूनगो सतबीर सिंह, पटवारी शिवकेस व जतिन कुमार सफाई निरीक्षक विकास, संजय कुमार, राजेश वर्मा सचिव, ग्रीन सोसायटी से डॉ. पीके आनंद, लोक निर्माण विभाग से कार्यकारी अभियंता कृष्ण कुमार, जनस्वास्थ्य विभाग से अधीक्षक अभियंता विशाल बंसल, एसडीएम कार्यालय से निजी सहायक नीलम कुमारी, स्वास्थ्य विभाग से डॉ. हरेंद्र सिंह, सहायक राजकुमार, औषधाकारक अनिल कुमार,ग्राम सचिव विजेंद्र घणघस, डॉ. कमलेश ढिल्लो, हरसक से प्राचार्य सुल्तान सिंह, अजय कुमार, नितिन चौहान, वीएस आर्य, प्रदीप सिंह सरपंच तिगड़ाना, खरक सरपंच अनिल, सरपंच गुजरानी मंजू लता, एमई सुंदर सिंह व गुप्तचर से जलवाहक श्रीशास्त्री को प्रशंसा पत्र सम्मानित किया। इसी प्रकार से मुख्यमंत्री ने खेलों में अपना नाम कमाने वाले होनहार खिलाड़ी गणेश, ईशिका, सचिन, अमृत, पूजा, नुपूर, सचिन, नमन, सोनिका, जाटान, पिंकी, पूजा, ममता, नेहा, चैलसिया, सन्नी, करिश्मा, अन्नू, अंकिता, प्रीति, पूनम चौपड़ा, आरजू, विकाश, अमन तंवर, बृजेश यादव को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। 
घुड़सवारी और डेयर डेविल शौ रहा आकर्षण का केंद्र
समारोह के दौरान घुड़सवारी और पुलिस कमांडो को शौ मुख्य आकर्षण का केंद्र रहा। घुड़सवारी में कमांडो संजीव कुमार, निर्मल सिंह, परमजीत सिंह, प्रदीप कुमार, जितेंद्र सिंह, दिनेश कुमार, दिवान सिंह, जगदीश चंद्र ने घोड़ों पर सवार होकर बल्लम से अचूक निशाने साधे। दर्शकों ने तालियों से घुड़सवारों का हौसला अफजाही किया। 
मोटरसाईकिल शौ में मोटरसाईकिल पर सवार होकर कमांडो के जवान वीर सिंह ने वार्डर मैन सैल्यूट, आंनद ने बैले डांस पोजीशन, विजय कुमार, मंदीप, प्रदीप, अमरजीत ने मोटरसाईकिल पर फ्लावर शो किया। संदीप कुमार, मोहन, खुबी, नवाब, अमित ने लोटस फ्लावर, आनंद कुमार ने शोल्डर राईडिंग, संजय कुमार, कुलदीप, सुजीत व निदेश ने शिप पोजीशन, वीर सिंह, बलराज, मनजीत, विजय ने पाईप योगा शो का प्रदर्शन किया। गंगाराम, आनंद, कर्मपाल ने थ्री मैन स्टंट, खुबी ने स्टैड राईडिंग, संजय कुमार ने शीर्षासन, वीर सिंह ने लैग गार्उ ड्राईविंग, संदीप कुमार, कर्मपाल, प्रदीप, नवीन, अमरजीत व नसीब ने एरोप्लेन स्टंट, आनंद व प्रदीप ने फिश राईडिंग और सुरेंद्र सिंह, विक्रांत सिंह, मोहन व जितेंद्र भारत ने मोटरसाईकिल पर सवार होकर मैप इंडिया का प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री व दर्शकों की वाहीवाही लूटी। 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें