ENGLISH HINDI Friday, July 19, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

स्वच्छ भारत अभियान में अग्रणी ग्रामीण महिलाएं, महिला सरपंचों को किया जाएगा सम्मानित

February 12, 2019 08:12 AM

नई दिल्ली, फेस2न्यूज:
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 12 फरवरी को हरियाणा के कुरुक्षेत्र का दौरा करेंगे और वहां महिला सरपंचों के स्वच्छ शक्ति 2019 सम्मेलन को संबोधित करेंगे तथा स्वच्छ शक्ति-2019 पुरस्कार वितरित करेंगे। प्रधानमंत्री कुरुक्षेत्र में स्वच्छ सुंदर शौचालय प्रदर्शनी भी देखने जाएंगे और फिर वहां एक सार्वजनिक सभा को भी संबोधित करेंगे। इसके बाद वह हरियाणा में विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास/ उद्घाटन करेंगे।
स्वच्छ शक्ति -2019 एक राष्ट्रीय आयोजन है, जिसका उद्देश्य स्वच्छ भारत मिशन में ग्रामीण महिलाओं द्वारा निभाई गई नेतृत्वकारी भूमिका पर प्रकाश डालना है। पूरे देश की महिला सरपंच और पंच इस कार्यक्रम में शामिल होंगी। इस वर्ष महिलाओं के सशक्तिकरण के उद्देश्य से लगभग 15,000 महिलाओं के स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में भाग लेने की उम्मीद है।
पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय, हरियाणा सरकार के साथ मिलकर स्‍वच्‍छ शक्ति 2019 का आयोजन कर रहा है। स्वच्छ भारत के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जमीनी स्तर पर अपनायी गयी बेहतरीन पद्धतियों को इसमें महिला सरपंचों द्वारा साझा किया जाएगा। इस कार्यक्रम में स्वच्छ भारत की उपलब्धियों और हाल ही में आयोजित स्वच्छ सुंदर शौचालय, (स्वच्छ और स्वच्छ शौचालय) जो कि विश्‍व में अपनी तरह का एक अनूठा अभियान है का भी पहली बार इसमें प्रदर्शन किया जाएगा।
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने 2017 में गुजरात के गांधीनगर से स्‍वच्‍छ शक्ति कार्यक्रम का आगाज किया था। महिला दिवस के अवसर पर स्‍वच्‍छ शक्ति के बैनर तले देशभर से 6 हजार महिला संरपंच इसमें शामिल हुयी थीं। प्रधानमंत्री ने उन्‍हें संबोधित और सम्‍मानित किया था। दूसरा स्‍वच्‍छ शक्ति सम्‍मेलन 2018 उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में आयोजित हुआ था। इसमें 8 हजार महिला सरपंच, 3 हजार महिला स्‍वच्‍छाग्रही तथा देशभर में विभिन्‍न क्षेत्रों से आयी महिलाओं ने बड़ी संख्‍या में भाग लिया था। स्‍वच्‍छ भारत अभियान के क्षेत्र में किए गए सराहानीय कार्यों के लिए इन महिलाओं को सम्‍मानित किया गया था। अब तीसरा स्‍वच्‍छ शक्ति सम्‍मेलन कुरुक्षेत्र में आयोजित किया जा रहा है।
स्‍वच्‍छ शक्ति इस बात का एक नायाब उदाहरण है कि किस तरह ग्रामीण महिलाएं जमीनी स्‍तर पर स्‍वच्‍छ भारत के लिए काम कर रही हैं और इसके लिए सामुदायिक चेतना का माध्‍यम बन रही हैं। यह अभियान स्‍वच्‍छ भारत मिशन के तहत संचालित गतिविधियों का हिस्‍सा है। प्रधानमंत्री ने स्‍वच्‍छ भारत मिशन की शुरुआत 2 अक्‍टूबर 2014 को की थी। इसका मुख्‍य उद्देश्‍य 2 अक्‍टूबर 2019 तक भारत को पूरी तरह स्‍वच्छ बनाना और खुले में शौच से मुक्‍त करना है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
बढ़ रहे हैं डाइबिटिक फुट व लकवा के रोगी भारत और यूएई के बीच सेतू करेगा भविष्य का निर्माण प्रो. रविकांत डीएमए विशेष चिकित्सा रत्न अवार्ड से सम्मानित सरकार ने रोजगार नहीं घर-घर बेरोजगारी बढ़ाई: भगवंत मान सिद्धू अपना काम नहीं करना चाहता तो मैं क्या कर सकता हूं: कैप्टन पानी के संकट से निपटने के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सर्वदलीय मीटिंग का सुझाव बढ़ती उम्र के साथ कम्पन की बीमारियां आम एम्स में दो दिवसीय नेशनल मूवमेंट डिस्ऑर्डर्स काॅन्क्लेव आज से चिंताजनक: तेजी से बढ़ रहा है महिलाओं में ब्रेस्ट एवं गर्भाश्य ग्रीवा कैंसर: डा. राजेश्वर कांवड़ यात्रा: 24 से 30 तक ऋषिकेश में नो एंट्री