ENGLISH HINDI Sunday, May 26, 2019
Follow us on
पंजाब

लुधियाना सामुहिक बलात्कार: 6 दोषी काबू, 60 दिनों में होगी जांच मुकम्मल -डी. जी. पी. दिनकर गुप्ता

February 14, 2019 10:59 PM

लुधियाना/चंडीगढ़, :बीते दिनों स्थानीय ईसेवाल गाँव के नज़दीक हुए सामुहिक बलात्कार के मामले में पुलिस ने 6 दोषियों को काबू कर लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। इस मामले की जांच आई.जी. स्तर की महिला अधिकारी की निगरानी में डी.एस.पी. स्तर की महिला अधिकारी द्वारा अगले 60 दिनों में मुकम्मल की जायेगी। यह जानकारी आज पंजाब पुलिस प्रमुख श्री दिनकर गुप्ता आई.पी.एस. ने स्थानीय पंजाब कृषि यूनिवर्सिटी में पत्रकार सम्मेलन के दौरान दी।

 आई. जी. रोपड़ की निगरानी अधीन डी.एस.पी. दाखा करेंगे मामले की जांच,  कहा, ऐसे मामलों की जांच फास्ट ट्रैक अदालतों के द्वारा करवाने के लिए मुख्यमंत्री चीफ़ जस्टिस ऑफ इंडिया को मिलेंगे,181 हैल्पलाईन पुन:चालू की जाएगी,  महिलाओं के प्रति अपराधों को किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

जानकारी देते हुए श्री गुप्ता ने बताया कि दिनांक 9 फरवरी की रात को पीडि़त लडक़ी और उसका मित्र दोस्त गाँव ईसेवाल के नज़दीक अपनी कार से जा रहे थे तो तीन मोटरसाईकल सवारों ने उनको रास्ते में जबरन घेर कर लडक़ी के साथ सामुहिक बलात्कार किया और पीडि़तों को छोडऩे के लिए साथी लडक़े के मोबाइल फ़ोन से फ़ोन करके उसके दोस्त जसप्रीत सिंह से 1 लाख रुपए की फिरौती की माँग की थी। इस दौरान जसप्रीत सिंह ने पुलिस स्टेशन दाखा के ए.एस.आई. विद्या रत्न से तालमेल किया परन्तु वह पीडि़तों और दोषियों के साथ संबंध न कर सके। दोषी दिनांक 10 फरवरी की सुबह 2 बजे पीडि़त लडक़ा- लडक़ी को घटनास्थल पर ही छोड़ कर दौड़ गए। दिनांक 10 फरवरी की शाम को पीडि़त लडक़ी और उसके दोस्त ने पुलिस स्टेशन दाखा में पहुँच कर रिपोर्ट दर्ज करवाई तो इस मामले में एफ.आई.आर. नंबर 17 दिनांक 10 -02 -19 अधीन धारा 376-डी, 384, 342 आई. पी. सी. दर्ज कर ली गई। पीडि़ता का सिविल अस्पताल सुधार में मैडीकल करवाया गया और इसके साथ ही दोषियों की खोज के लिए डी.आई.जी. लुधियाना रेंज स. रणधीर सिंह खटड़ा के नेतृत्व में विभिन्न टीमों द्वारा दिन रात एक करके 6 दोषियों को काबू कर लिया गया है। इन दोषियों में सादिक अली पुत्र अब्दुल्ला गाँव रहिमपा जि़ला नवांशहर, जगरूप सिंह उर्फ रूपी पुत्र मलकीत सिंह निवासी गाँव जसपाल बाँगड़ जि़ला लुधियाना, सुरमू पुत्र रोशन दीन गाँव खानपुर जि़ला लुधियाना, अजय पुत्र ललन गाँव टिब्बा जि़ला लुधियाना, सैफ अली निवासी टिब्बा जि़ला लुधियाना और एक नाबालिग दोषी जो कि बस्ती चंगरां कठुआ का रहने वाला है, शामिल हैं।

श्री गुप्ता ने बताया कि इस मामले की जांच आई. जी. रोपड़ श्रीमती नीरजा की निगरानी में दाखा की डी.एस.पी. श्रीमती हरकंवल कौर द्वारा 60 दिनों में मुकम्मल की जायेगी। उन्होंने कहा पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने इस मामले की जांच जल्द मुकम्मल करने और दोषियों को सख्त से सख्त सज़ा दिलाने के लिए यत्न करने के लिए हिदायत दी है। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों का निपटारा फास्ट ट्रैक अदालतों के द्वारा कराने के लिए मुख्यमंत्री चीफ़ जस्टिस ऑफ इंडिया को मिलने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस की कोशिश रहेगी कि दोषियों को चार महीनों के अंदर सज़ा दिलाई जा सके।

श्री गुप्ता ने कहा कि इस मामले की सूचना मिलने पर तुरंत हरकत में न आने वाले पुलिस कर्मचारियों को मुअत्तल कर दिया गया है और इस मामले की भी जांच की जा रही है कि उसने इस घटना की गंभीरता को देखते हुए क्या उच्च अधिकारियों को अवगत कराया था या नहीं? श्री गुप्ता ने कहा कि भविष्य में ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएँ न घटेें, इसलिए पंजाब पुलिस द्वारा 181 हैल्पलाईन को फिर शुरू किया जायेगा। यदि ज़रूरत पड़ेगी तो ऐसे स्थानों पर निगरानी रखने के लिए उचित पुलिस स्टेशन आदि भी खोले जाएंगे। पी.सी.आर. और रुरल् रैपिड रिस्पांस सेवाओं को और कारगर किया जायेगा। इसके अलावा सूने स्थानों पर सी. सी. टी. वी. कैमरे आदि लगाए जाएंगे।

 श्री गुप्ता ने स्पष्ट किया कि पंजाब पुलिस द्वारा ऐसे अपराधों, ख़ास कर महिलाओं के प्रति अपराधों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। दोषियों का पुलिस रिमांड लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। यदि इस मामले में और दोषी भी सामने आऐंगे तो वह भी क्षमा नहीं किए जाएंगे। इस अवसर पर उनके साथ डी.आई. जी. लुधियाना रेंज स. रणधीर सिंह खटड़ा, पुलिस कमिशनर लुधियाना डॉ. सुखचैन सिंह गिल, जि़ला पुलिस प्रमुख लुधियाना (ग्रामीण) स. वरिन्दर सिंह बराड़, जि़ला पुलिस प्रमुख खन्ना श्री ध्रुव दहिआ और अन्य सीनियर पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें