ENGLISH HINDI Monday, March 25, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

पुलवामा हमले के बाद भारत ने पीओके में जैस का बड़ा ठिकाना किया तबाह

February 26, 2019 05:05 PM

नई दिल्ली/चंडीगढ, फेस2न्यूज ब्यूरो/संजय मिश्रा:
भारत सरकार ने पुलवामा में शहीदों पर हुए हमले के बाद कड़ा रूख अपनाते हुए आज तड़के अंबाला एयरबेस से 12 मिराज विमानों ने एलओसी पार कर पीओके स्थित जैस के एक बड़े ठिकाने को तबाह कर दिया। एयर स्ट्राईक में आंतकी ठिकानों पर 1000 किलो के गोले बरसाए गए। भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने संवाददाता को बताया कि मंगलवार तड़के 12 मिराज विमान उड़े, विमानों ने एलओसी को पार किया और अलसुबह साढे 3 बजे पीओके के बालाकोट नाम के एक क़स्बे पर बम गिराए। ये सारा अभियान 21 मिनट में पूरा हुआ।
भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, "इस कार्रवाई में बहुत बड़ी संख्या में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी, ट्रेनर, सीनियर कमांडर और जिहादियों के समूह मारे गए हैं, ये लोग भारत पर फ़िदायीन हमले करने की तैयारी कर रहे थे। जिसके बाद नियंत्रण रेखा पार कर कार्रवाई का फ़ैसला किया गया। बालाकोट का ठिकाना मौलाना यूसुफ़ अज़हर चला रहा था जिसे उस्ताद ग़ौरी के नाम से भी जाना जाता था, वह मसूद अज़हर का साला है।"
भारतीय वायु सेना के इस कारनामें की भारत में सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है। बताया जा रहा है कि सेना के निशाने पर आंतकी अड्डे थे। ये हमला भी आतंकी ठिकानों को मिटाने के लिए किया गया। हमला पाकिस्तानी या पाकिस्तानी अवाम पर नहीं था।  

मंगलवार तड़के 12 मिराज विमान उड़े, विमानों ने एलओसी को पार किया और अलसुबह साढे 3 बजे पीओके के बालाकोट नाम के एक क़स्बे पर बम गिराए। ये सारा अभियान 21 मिनट में पूरा हुआ।


भारतीय वायुसेना के इस हमले पर पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफ़ूर ट्वीट कर दावा किया है कि भारतीय विमानों ने नियंत्रण रेखा को पार किया, जब पाकिस्तानी सेना ने जवाबी कार्रवाई की तो वो भाग निकले और जाते हुए बालाकोट के पास कुछ पेलोड गिरा गए।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि जिस बालाकोट पर हमला किया गया है वह पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर के आगे ख़ैबर पख़्तूनख़्वाह प्रांत का हिस्सा है जो मानशेरा ज़िले में है। भारतीय विमानों ने जिस जगह बम गिराए हैं उसका नाम जाबा टॉप है, जो एक पहाड़ी चोटी है। हिज़्बुल मुजाहिदीन जाबा में ट्रेनिंग कैंप चलाता रहा है। यह आंतकियों द्वारा वर्ष 2001 में स्थापित किया गया एक बड़ा अड्डा है।
पाकिस्तानी सेना ने इस इलाक़े की फ़ौरन घेराबंदी कर दी है, जाबा, गढ़ी हबीबुल्लाह और बालाकोट इलाक़ों के लोगों अनुसार सुबह के तीन से चार बजे के बीच उन्होंने ज़ोरदार धमाकों की आवाज़ें सुनीं। मारे जाने वाले लोगों की तादाद के बारे में अभी तक कोई अधिकारिक सूचना सामने नहीं आई है लेकिन मिली जानकारी अनुसार 300 के करीब आंतकी ढेर हो गए। जबकि पाकिस्तान
के किसी आम नागरिक या सेना के जवान इस एयर स्ट्राइक में शिकार नहीं हुए हैं। बालाकोट के आसपास के पुलिस अधिकारियों ने अपना नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उन्होंने धमाके की जगह पर जाने की कोशिश की लेकिन सुरक्षा बलों ने उस इलाक़े को अपनी निगरानी में ले लिया है।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
हिमालय और पर्यावरण की रक्षा के लिए कपड़ों को अधिक बार प्रयोग करे :भिक्खू संघसेना चंडीगढ़ में मतदाता जागरुक्ता पर चार दिवसीय चित्र प्रदर्शनी आरंभ रंगोत्सव में हुई पानी की बजाए पुष्पपत्तियों की बौछार पुलिस हिरासत में मौतों पर जांच रिपोर्ट रिलीज भारतीय वायु सेना अंतर्राष्ट्रीय मैरीटाईम एयरो एक्सपो में भाग लेगी आईएसआई ने निर्वाचन आयोग को वीवीपीएटी काउंटिंग नमूने पर रिपोर्ट प्रस्तुत की हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है फाग मेला संभावी उम्मीदवारों को दो अतिरिक्त फोटो जमा करवाने के निर्देश दलाई लामा टेरिस पीस एंड फ्रीडम अवार्ड 2019 से सम्मानित सकारात्मक सोच के बिना उपभोक्ता अधिकार दिवस मनाना सिर्फ एक ढकोसला