ENGLISH HINDI Wednesday, June 26, 2019
Follow us on
चंडीगढ़

शहीदों को दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

March 24, 2019 09:17 AM

चंडीगढ़ (मनोज शर्मा) बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी चंडीगढ़ ने बलिदान दिवस पर शहीदों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी। बजरंग दल चंडीगढ़ संयजोक दविंदर सिधु ने शहीदों के साथ 23 मार्च 1931 के दिन किस तरह का बर्ताव हुआ था उसकी जानकारी देते हुए बताया कि 23 मार्च 1931 की रात भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की देश-भक्ति को अपराध की संज्ञा देकर फाँसी पर लटका दिया गया। फांसी के लिए 24 मार्च की सुबह तय की गई थी लेकिन किसी बड़े जनाक्रोश की आशंका से डरी हुई अँग्रेज़ सरकार ने 23 मार्च की रात्रि को ही इन क्रांति-वीरों की हत्या कर रात के अँधेरे में ही लाहौर से काफी दूर फिरोजपुर जिले के हुसैनीवाला गांव के नजदीक सतलुज नदी के किनारे इन्हें जलाने का प्रयास किया जिसे सुबह होने तथा स्थानीय लोगो के आ जाने से अधजली लाश को छोड़कर अंग्रेजो को भाग जाना पड़ा।
इसी स्थान पर बाद में सम्मान पूर्वक उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनकी स्मृति में आज वहां एक भव्य स्मारक स्मारक बना हुआ है। जहाँ देश भर के लोग उन्हें श्रद्धा सुमन भेंट करने प्रतिदिन आते है ।
दुर्गावाहिनी संयोजिका शिप्रा बंसल ने कहा कि ऐसे क्रांतिकारी जिन्होंने इस देश पर सब कुछ न्योछावर कर दिया उन वीरो को हमेशा याद करना चाहिए। आज के युवाओं को हमेशा उनसे प्रेरित होना चाहिए और देशभक्ति की भावना और जज़्बा उनकी तरह होना चाहिये। किसी सवंत्रता सेनानी ने सच ही कहा है कि " शहीदों की चिताओ पर लगेंगे हर दिन मेले वतन पे मरने वालो का ही नामो निशाँ होगा।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
श़िपिग में महिलाओँ की संख्या बढ़ाने को लेकर सीफेरर डे का आयोजन डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलाया हम्बल टू बी चंड़ीगढ़ीअन्स-ऐ फेसबुक ग्रुप ने हम्बल हार्ट्स मीट-2 का किया आयोजन गांव दड़ुआ से मक्खनमाजरा को जोडऩे वाली सडक़ पर हाईमास्ट लाइट की स्थापना पत्रकार प्रतिनिधिमंडल ने स्वास्थ्य मंत्री को दिया स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ देने के लिए मैमोरैंडम शूलिनी यूनिवर्सिटी रिसर्च के क्षेत्र में देश में शीर्ष स्थान पर: खोसला चण्डीगढ़ के सैक्टर 17 प्लाजा में तीन-दिवसीय योगा प्रदर्शनी शुरू यूक्रेन व रूस में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए सेमिनार 20 जून को आईएचआरसी ने पौधारोपण अभियान चलाया