ENGLISH HINDI Friday, June 21, 2019
Follow us on
पंजाब

पशु को बचाने के चक्कर में पलटी कार, चालक घायल

March 24, 2019 07:49 PM
जीरकपुर,जेएस कलेर  
जीरकपुर शहर में आवारा पशु वाहन चालकों व राहगीरों के लिए दुर्घटना का लगातार कारण बन रहे। अक्सर मुख्य बाजार व मुख्य सड़क के बीचों-बीच बैठे, लड़ते व फिरते दिखाई देने वाले इन सांडों से हर दिन लोग दुर्घटना का शिकार होते रहते है। स्थानीय लोगों ने कई बार प्रशासनिक व नगर कौंसिल जीरकपुर के  अधिकारियों को भी अवगत करवाया है लेकिन कहानी वही ढाक के तीन पात। 
  
इन आवारा पशुओं का ताजा शिकार डेराबसी के सुखमनी डैंटल कालेज का 20 वर्षीय छात्र चंदन हुआ है जिसकी ब्रेजा कार आवारा पशु को बचाने के चक्कर में पलट गई। हालांकि हादसे में चंदन को  मामूली चोटें आई हैं। गनीमत यह रही कि पीछे से कोई तेज रफ्तार बड़ी गाड़ी नहीं आ रही थी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची हाईवे ट्रैफिक पुलिस ने कार को क्रेन की सहायता से सीधा किया अौर यातायात को सामान्य किया। 
 
 
गौरतलब है कि शहर में इन दिनों आवारा पशुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। शहर के मुख्य चौराहों, गलियों, बाजारों में ये आवारा पशु घूमते रहते हैं। शहर में एक ओर जहां ये आवारा पशु आवागमन में दिक्कत बने हैं वहीं हादसों को न्यौता भी दे रहे हैं। दुपहिया वाहन चालक एवं बाजारों में विशेषकर बच्चे इन पशुओं का शिकार हो रहे हैं। शहर में आवारा घूम रहे पशुओं को लेकर स्थानीय नगर परिषद द्वारा कोई कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। यहां तक कि स्वयं सरकारी कार्यालयों के बाहर भी इन पशुओं का जमावड़ा देखा जा सकता है। भीड़ वाले क्षेत्रों में पशुओं का झुंड सड़क हादसों का कारण बन रहा है। 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
नाजायज़ फीस मामला: अनुसूचित जाति आयोग द्वारा कार्यवाही के आदेश पंजाब राज्य खाद्य आयोग ने वैबसाईट की लांच रेलवे ट्रैक क्रॉस करते हुए बच्ची की हुई मौत 24 वर्षीय युवती ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में मकान मालिकन को ठहराया कसूरवार मैडीकल स्टोर्ज की नियमित जांच के आदेश छापेमारी के दूसरे दिन राज्य में से 3500 किलो प्लास्टिक बैग ज़ब्त नगर कौंसिल की उदासीनता से ट्रैफिक समस्या हुई विकराल सीवर की सफ़ाई करते 7 मज़दूरों की मौत पर दी श्रद्धांजलि नशा मुक्त समाज निर्माण करने के लिए सभी वर्गों के लोग प्रयास करें: एसएसपी पीडि़ता मीना केस— दोषियों के विरुद्ध होगी सख्त कानूनी कार्यवाही: चन्नी