ENGLISH HINDI Monday, October 21, 2019
Follow us on
 
जीवन शैली

सम्मान आज की ज़रूरत - विमेन ऑफ वर्थ अवार्ड्स समारोह में व्हीलचेयर्स पर सुपर वूमँन ने फैशन रैम्प वाक किया

March 24, 2019 09:27 PM
चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री
चंडीगढ़ में पहली बार, रीढ़ की हड्डी की चोट से उबर चुकी सुपर वूमँन ने व्हीलचेयर्स पर रैम्प वाक किया । जीआईडी प्लानर्स ने आज यहां ‘सम्मान आज की जरूरत - विमेन ऑफ वर्द अवार्ड्स’ समारोह का आयोजन किया,पहली बार फैशन शो में शांतिपूर्ण संगीत  में रैम्प वाक हुआ।इस आयोजन में चंडीगढ़ स्पाइनल रिहैब की चार स्पाइनल इंजरी सर्वाइवर्स सहित छह महिलाएं व्हीलचेयर्स पर बैठकर बड़े ही स्टायल के साथ मंच पर सामने आयीं।
इस अवसर पर चंडीगढ़ स्पाइनल रिहैब की संस्थापक श्रीमती निकी पी कौर ने कहा कि यह वो महिलाये हैंजो एक बार गिरने के बाद दोबारा उठकर आज आत्मनिर्भर होकर सुपर वूमैन बन गई हैं। हेमंत मलिक, संस्थापक, जीआईडी प्लानर्स ने कहा, ‘इस आयोजन के बारे में तीन साल पहले तब सोचा गया था, जब मैं पहली बार चंडीगढ़ स्पाइनल रिहैब में गया था। वहां मैंने इस समस्या से उबर चुके लोगों की जब कहानियां सुनीं, तो हैरान रह गया। जीआईडी की ओर से हर साल मार्च में स्त्रीत्व के सम्मान में कार्यक्रम किया जाता है। इस बार हमने इन बहादुर महिलाओं की कहानियों को सामने लाने का निर्णय लिया। श्रीमती निकी पी कौर ने कह, ‘सौंदर्य हर किसी के पास होता है, लेकिन हर कोई इसे देख नहीं पाता है।
मैं चाहती हूं कि इन मजबूत इरादों वाली महिलाओं को समर्थ महिलाओं के साथ बराबरी पर रखा जाए और चाहती हूं कि अंतर्राष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिताओं में ये भी अन्य प्रतियोगियों की तरह भारत का प्रतिनिधित्व करें।जर्मनी के डॉ. रेनी मास्के (फिजिकल मेडिकल रिहैब स्पेशलिस्ट) ने इन स्पाइनल इंजरी सर्वाइवर्स को उनके साहस के लिए खास तौर पर आकर सम्मानित किया। स्पाइनल इंजरी सर्वाइवर कौशल्या देवी ने अपने जीवन के बारे में बताया कि‘रीढ़ की हड्डी की चोट के बाद मैं अपने प्रियजनों से मिले सहयोग के चलते ही दोबारा खड़ी होने में सक्षम हो पायी।
मैंने धीरे-धीरे अपना खोया हुए आत्मविश्वास वापस पाया और महसूस किया कि किसी महिला में बाहरी सुंदरता ही एकमात्र पहलू नहीं होता है। एक महिला के इससे अधिक पहलू होते हैं।’ सर्वाइवर, विद्या कुमारी ने कहा अपने आत्मविश्वास के भरोसे ही मैं जीवन को फिर से जी पा रही हूं ।
ऋषि खन्ना सेफहाउस के संचालक ने कहा,  हमारे समाज में महिलाओं को पूर्ण सम्मान दिये जाने की आवश्यकता है, दीक्षा सचदेवा ने कहा, ‘एक महिला अपनी अहमियत जानती है और दूसरी महिलाओं के मुकाबले खुद को नहीं मापती, लेकिन वो मजबूत, शांत और आत्मविश्वास से भरी होती है।’व्हीलचेयर पर बैठी स्पाइनल इंजरी सर्वाइवर्स ने चंडीगढ़ स्पाइनल रिहैब की एंथेम पर आकर्षक रैंप वाक किया। अभिनेत्री व गायिका सारा गुरपाल कार्यक्रम में उपस्थित थीं। साथ ही, रोहन बत्रा एवं शैफाली सिंह के बैंड डि-रगेड मिरेकल ने परफॉर्मेंस दी और ला बैला विस्टा के जीशान ने प्रस्तुति दी। 
 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
 
और जीवन शैली ख़बरें
ज़ीरकपुर में ‘ट्राइसिटी का करवा चौथ बैश’ में महिलाओं ने बिखेरे ब्यूटी के रंग ग्लोबल पेजेंट मिसेज क्वीन ऑफ़ इंडिया के दिल्ली ऑडिशन हुए संपन्न अभिनेता संजय कपूर को ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमन में किया सम्मानित बदलते खान-पान से हो रहे है अनेकानेक बीमारियों से ग्रस्त: डॉ. कौशल चंडीगढ में खुला महिलाओं की पलकों की सुन्दरता का राज ब्राइंडल के हॉट रैड को निमरत काहलों ने लाइट कलर्स शाही अंदाज में अभिनेत्री सारा ने पेश किया ऐज कम दिखने की कोशिश में40 प्लस महिलाएं ज्युलरी और मेकअप का प्रयोग अधिक करती हैं : सविता भट्टी जीवनशैली से बढ़ रही हैं दांतों की बीमारियां:अमरिंदर सिंह गुलमोहर ट्रेंड्स सोसाइटी की महिला सदस्यों ने धूमधाम से मनाई हरियाली तीज ये 'क़ल्हड़ करोड़पति 'बनाते हैं चाय