ENGLISH HINDI Monday, April 22, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

अनाथ बच्चों के उत्थान के लिए साइकिल से 32 हजार किलोमीटर यात्रा पर निकला समित पठारे

April 03, 2019 06:58 PM

जीरकपुर, जेएस कलेर

महाराष्ट्र के समित पठारे नाम का एक शख़्स जो साइकिल पर 32 हजार किलोमीटर यात्रा पर  निकला है, का मकसद उन बच्चों के लिए पैसे जुटाना है, जो बेघर और अनाथ हैं।

 जीरकपुर पहुंचे समित पठारे जो भारतीय रेलवे साउथ सैन्ट्रल डिवीजन में बतौर जूनियर इंजीनियर के तौर पर कार्यरत हैं, ने बताया कि वह 6 महीने की छुट्टी लेकर 2 जनवरी को मुम्बई से निकले थे और गुजरात, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा होते हुए बुधवार यहाँ पहुचे हैं और वीरवार वे चंडीगढ़ से होते हुए शिमला व देहरादून के लिए निकलेंगे। उन्होंने बताया कि उनका लक्ष्य 32 हजार किलोमीटर का सफर तय कर वापिस मुंबई पहुँचने का है।

उन्होंने बताया कि इस यात्रा के लिए उन्होंने किसी से कोई मदद नहीं ली है और अपनी जमा पूंजी खानपान व समाजसेवियों के मदद से रात को रुकने का बंदोबस्त कर लेते हैं।

समित ने बताया कि वो भारत के कई शहरों में घूमे, लेकिन उन्हें सबसे ज़्यादा पसंद पंजाब आया जहाँ लोगों ने उनके मनोबल को बढ़ावा दिया। उन्होंने बताया कि वे शिरडी के साई आश्रम के साथ लंबे समय से जुड़े हुए हैं जहाँ वो बच्चे हैं जिनमें कोई कोई बोल नहीं पाता और कोई सुन नहीं पाता, कोई चल नहीं पाता। किसी का इस दुनिया में कोई नहीं है। इस आश्रम की सेवाभाव देख उनके मन मे भी ख्याल आया और वे निकल पड़े इन अनाथ बच्चों के उत्थान की आवाज उठाने के लिए भारत परिक्रमा पर।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
*"तेरी आवाज़ भी ज़रूरी तेरा वोट भी ज़रूरी "* जनता की अदालत में फैसला अभी बाकी है रेरा में अधिकारी होने के बावजूद भी उपभोक्ता मंच में सुने जा सकते है हाउसिंग मामले डेबिट कार्ड से भुगतान पर उपभोक्ता से शुल्क वसूली अवैध राष्‍ट्रपति ने महावीर जयंती की पूर्व संध्‍या पर देशवासियों को बधाई दी जयराम सरकार का एक साल का कार्यकाल शानदार : सुरेश कश्यप उत्तर ही नहीं दक्षिण भारत में भी कांग्रेस के पक्ष में माहौल: पराग शर्मा ज़ीरकपुर में नियम तोड़ते डिस्को मालिकों से लोग परेशान, पुलिस प्रशासन मेहरबान राष्ट्रीय प्रतिष्ठित महिला पुरस्कार 2019 समरोह में महिलाओं ने साबित कर दिया कि वह कमजोर नहीं जलियांवाला बाग नरसंहार शताब्दी मनाने के संबंध में फोटो प्रदर्शनी