ENGLISH HINDI Thursday, June 20, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

शाहरुख खान द यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ, लंदन द्वारा मानद डॉक्टरेट से सम्मानित

April 05, 2019 06:59 PM
मुंबई,  फेस2न्यूज
सुपरस्टार शाहरुख खान सिर्फ एक अभिनेता नहीं हैं, बल्कि वैश्विक आइकन भी है जिसने एक परोपकारी व्यक्ति के रूप में खुद के लिए जगह बना ली है, और अब अभिनेता ने अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों द्वारा मानद डॉक्टरेट के रूप में मान्यता प्राप्त कर ली है। एक और उपलब्धि अपने नाम करते हुए, हाल ही में अभिनेता को लंदन विश्वविद्यालय से एक अन्य डॉक्टरेट द्वारा सम्मानित किया गया है।

द यूनिवर्सिटी ऑफ़ बेडफोर्डशायर और द यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिनबर्ग से मानद डॉक्टरेट करने के बाद, अब शाहरुख खान को द यूनिवर्सिटी ऑफ़ लॉ, लंदन द्वारा एक मानद डॉक्टरेट से सम्मानित किया गया है। अभिनेता ने 4 अप्रैल 2019 को लंदन के बारबिकन में 350 से अधिक छात्रों के लिए आयोजित एक ग्रैजुएशन समारोह के दौरान यह योग्यता प्राप्त की है।

खुद को एक सफल भारतीय अभिनेता, फिल्म निर्माता, टेलीविज़न होस्ट, परोपकारी और एक उद्यमी के रूप में स्थापित करने वाले शाहरुख खान ने 80 से अधिक बॉलीवुड फिल्मों में अभिनय किया है और करोड़ो लोगों का दिल जीत चुके है। शाहरुख खान रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट, रेडचिल्स वीएफएक्स और कलर, एक प्रमुख फिल्म स्टूडियो के साथ भारत में एक अत्याधुनिक वीएफएक्स स्टूडियो के मालिक है। सुपरस्टार भारत, दक्षिण अफ्रीका और कैरिबियन में क्रिकेट टीमों के साथ 'नाइट राइडर्स' नामक एक वैश्विक खेल फ्रैंचाइजी के भी सह-मालिक है।

अपनी व्यावसायिक उपलब्धियों के अलावा, शाहरुख खान ने भारत में मानव अधिकारों के लिए चैंपियन के रूप में भी प्यार प्राप्त किया है, क्योंकि वह भारत के सरकारी अभियानों के ब्रांड एंबेसडर है, जिसमें पल्स पोलियो और राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन शामिल हैं, साथ ही साथ मेक-ए-विश फाउंडेशन जैसे कई धर्मार्थ संगठनों के साथ मिलकर भी काम किया है।

शाहरुख खान अपने गैर-लाभकारी संगठन, मीर फाउंडेशन के माध्यम से लोगों के कल्याण के लिए अपना समर्थन देते हैं, जो मुख्य रूप से एसिड अटैक पीड़ितों के साथ काम करता है और महिलाओं को सशक्त बनाने वाली दुनिया का निर्माण के लिए जमीनी स्तर पर बदलाव शुरू करने का लक्ष्य रखता है।

सम्मान स्वीकार करते हुए शाहरुख खान ने कहा, -  “मेरा मानना है कि दान चुपचाप और गरिमा के साथ किया जाना चाहिए। कोई भी उनके धर्मार्थ कार्यों के बारे में नहीं बोल सकता क्योंकि ऐसा करने पर यह अपना उद्देश्य खो देता है। मुझे विशेषाधिकार मिला है कि मैं एक सार्वजनिक व्यक्तित्व के रूप में अपनी स्थिति का उपयोग करने में सक्षम हूं, जो मेरे दिल के करीब है। मैं महिला सशक्तिकरण, वंचितों के पुनर्वास और बुनियादी मानवाधिकारों के लिए सक्रिय रूप से भाग लेता रहता हूं। मेरा दृढ़ विश्वास है कि मुझे उस दुनिया को वापस देना है जिसने मुझे इतना कुछ दिया है। मैं इस मानद डॉक्टरेट के लिए अभिभूत महसूस कर रहा हूँ और मुझे चुनने के लिए शामिल सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं। ”


बॉलीवुड में अपने 25 साल के करियर में, शाहरुख खान ने वैश्विक मंच पर बातचीत के साथ-साथ अपनी बुद्धि और समझदारी से असंख्य दिल जीते हैं।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
रीज़नल आउटरीच ब्यूरो अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर कल योग सत्र का आयोजन योग मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भारतीय तीरंदाज सम्मानित बांग्लादेश और दक्षिण कोरिया के चैनल दूरदर्शन फ्री डिश पर चैनलों को रियलटी शो और कार्यक्रम दिखाए जाते समय बच्‍चों की भागीदारी में संयम और संवेदनशीलता बरतने की सलाह भारतीय तटरक्षक करेगा दिल्ली में 12वीं आरईसीएएपी आईएससी क्षमता निर्माण कार्यशाला की सह-मेजबानी ट्रांसपोर्ट वाहन चालकों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हटाने का निर्णय बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के बिना अच्छे समाज का निर्माण कठिन: प्रो. रविकांत 17वीं लोकसभा की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री के वक्तव्य राजनीति से परे कुछ सवाल उठाती डॉक्टरों की हड़ताल