ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
चंडीगढ़

डॉ. गिल की पुस्तक‘फाइंडिंग जूलिया’ का विवेक अत्रे ने किया विमोचन

April 05, 2019 09:34 PM
चंडीगढ़,सुनीता शास्त्री।
राणा प्रीत गिल ने अपनी नई किताब, फाइंडिंग जूलिया को लॉन्च किया है, जो कि कई राष्ट्रीय समाचारपत्रों में प्रकाशित उनके मिडिल्स का संकलन है। ये किताब फाइंडिंग जूलिया के रूप में उनका दूसरा साहित्यिक काम है। पिछले साल उन्होंने अपनी किताब रिलीज की थी जो कि लगातार बेस्टसेलर में से एक बना हुई है। प्रसिद्ध लेखक और प्रेरक वक्ता विवेक अत्रे द्वारा चंडीगढ़ प्रेस क्लब में उनकी इस नई किताब को रिलीज किया गया। राणा प्रीत गिल पशुपालन विभाग, पंजाब के साथ काम करने वाली एक पशु चिकित्सा अधिकारी हैं, जो कि होशियारपुर, पंजाब में कार्यरत हैं। पुस्तक लॉन्च के बाद लेखक और लेखिका सीरत गिल के बीच एक रोचक इंटरएक्टिव सेशन भी हुआ। 
राणा प्रीत गिल ने अपनी पुस्तक के बारे में कहा कि ‘‘31 मई, 17 को द ट्रिब्यून में मेरा पहला मिडल ‘पेट पीव नो मोर’ प्रकाशित हुआ था। यह मेरी फेसबुक पोस्ट थी जिसने बहुत से लाइक्स और कमेंट्स मिले थे। इस रिस्पांस से प्रोत्साहित होकर, मैंने इसे एक मिडिल में बदल दिया और द ट्रिब्यून को भेज दिया। अगस्त 17 में, मैंने एक और फेसबुक पोस्ट को ‘मिंडो-द अनफोरगेटेबल चाची’, नाम से मिडिल में बदल कर  बहुचर्चित कॉलम स्पाइस ऑफ लाइफ (हिंदुस्तान टाइम्स) को भेजा। इसे भी स्वीकार कर लिया गया और मेरा दूसरा पीस हिंदुस्तान में 9 अगस्त, 17 को प्रकाशित हुआ। उस साल तीस पीस द ट्रिब्यून, हिंदुस्तान टाइम्स और डेली पोस्ट में प्रकाशित हुए। जो मेरे लिए एक बड़ी बात है।
राणा प्रीत गिल ने कहा कि‘2018 में, मैंने अपने मिडिल्स को द हिंदू, द न्यू इंडियन एक्सप्रेस, डेक्कन हेराल्ड, द हितवादा और वुमेंस इरा में भेजने शुरू कर दिए। 2018 के अंत तक, मेरे पास आठ प्रकाशनों में 99 प्रकाशित आर्टिकल्स थे। मैंने हमेशा पूरी ईमानदारी के साथ लिखा है और हर मिडिल/ पीस मेरे जीवन और विचारों का एक छोटा सा हिस्सा है। 
उन्होंने अपने कलेक्शन को ‘फाइंडिंग जूलिया’ का नामके बारे में बताया कि यह उनके सबसे यादगार मिडिल्स में से एक है। यह किताब राणा प्रीत गिल की प्रकाशित पीसेज का एक बेहतरीन संकलन है। इसे सात खंडों में विभाजित किया गया है जिनमें पेट्स, पीपुल, प्रोफेशन, चाइल्डहुड मेमोरीज, सोसायटी एंड एजुकेशन, सेहर और सोल मेेटर्स शामिल हैं। 
 
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलाया हम्बल टू बी चंड़ीगढ़ीअन्स-ऐ फेसबुक ग्रुप ने हम्बल हार्ट्स मीट-2 का किया आयोजन गांव दड़ुआ से मक्खनमाजरा को जोडऩे वाली सडक़ पर हाईमास्ट लाइट की स्थापना पत्रकार प्रतिनिधिमंडल ने स्वास्थ्य मंत्री को दिया स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ देने के लिए मैमोरैंडम शूलिनी यूनिवर्सिटी रिसर्च के क्षेत्र में देश में शीर्ष स्थान पर: खोसला चण्डीगढ़ के सैक्टर 17 प्लाजा में तीन-दिवसीय योगा प्रदर्शनी शुरू यूक्रेन व रूस में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए सेमिनार 20 जून को आईएचआरसी ने पौधारोपण अभियान चलाया समर फंक डांस नाइट आयोजित