ENGLISH HINDI Thursday, June 20, 2019
Follow us on
राष्ट्रीय

दांतों से तीन ट्रक खींचने का हैरतअंगेज कारनामा

April 06, 2019 09:49 PM

आबू रोड, फेस2न्यूज:

हाथों से ट्रक खींचना तो आपने सुना होगा लेकिन यदि दांतों से कोई एक नहीं बल्कि तीन ट्रक एक साथ खीचें तो यह किसी अजूबे से कम नहीं। परन्तु यह हकीकत है। ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन के राजयोग ध्यान शिविर में भाग लेने आये भोपाल के आशीष ने कुछ ऐसा ही किया जिससे लोग स्तब्ध हो गये।

आशीष पिछले कुछ समय से दांतों से खींचने का अभ्यास कर रहे हैं। पहले वे एक ट्रक खींचते थे, फिर दो और अब तो शांतिवन में तीन ट्रक एक साथ खींचकर कीर्तिमान बना दिया। इस कार्यक्रम के अवसर पर राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी, संस्था के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, सोशल एक्टिीविटी ग्रुप के अध्यक्ष बीके भरत समेत बड़ी संख्या में लोग इस हैरतअंगेज कार्यक्रम को देखने के लिए उपस्थित हुए।

इस बारे में पूछने पर आशीष ने बताया कि वे लम्बे समय से ट्रक खींचने का अभ्यास कर रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही यदि अध्यात्म और राजयोग की शक्ति हो तो सब सम्भव हो सकता है। शुद्ध शाकाहारी होने के बावजूद उसमें ताकत इतनी है कि वे दांतों से तीन तीन एक ट्रक एक साथ खींच लेते हैं।

कार्यक्रम में भोपाल की जोनल इंचार्ज बीके अवधेश, मोहन सिंघल समेत कई लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर बीके मोहन, बीके भानू, बीके सचिन, बीके धीरज, अनूप सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे। 

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और राष्ट्रीय ख़बरें
विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए भारतीय तीरंदाज सम्मानित बांग्लादेश और दक्षिण कोरिया के चैनल दूरदर्शन फ्री डिश पर चैनलों को रियलटी शो और कार्यक्रम दिखाए जाते समय बच्‍चों की भागीदारी में संयम और संवेदनशीलता बरतने की सलाह भारतीय तटरक्षक करेगा दिल्ली में 12वीं आरईसीएएपी आईएससी क्षमता निर्माण कार्यशाला की सह-मेजबानी ट्रांसपोर्ट वाहन चालकों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हटाने का निर्णय बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के बिना अच्छे समाज का निर्माण कठिन: प्रो. रविकांत 17वीं लोकसभा की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री के वक्तव्य राजनीति से परे कुछ सवाल उठाती डॉक्टरों की हड़ताल डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों संग मारपीट करने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने हेतु मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखा वायुसेना प्रमुख ने वायु सेना अकादमी में संयुक्त स्नातक परेड की समीक्षा की