ENGLISH HINDI Thursday, June 20, 2019
Follow us on
पंजाब

अलग-अलग कूड़ा ही कलेक्ट करेंगे डोर टू डोर कलेक्टर

April 09, 2019 08:32 PM

फिरोजपुर, मनीष बावा: शहर में मोहल्ला सोसाइटियों से जुड़े हुए डोर टू डोर वेस्ट कलेक्टर अब सिर्फ अलग-अलग कूड़ा ही कलेक्ट करेंगे। लोगों को किचन वेस्ट और अन्य कूड़ा अलग-अलग रखना होगा, जिसे डोर टू डोर वेस्ट कलेक्टर अलग-अलग जगह फेंकेंगे। डिप्टी कमिश्नर श्री चंद्र गैंद की अगुवाई में जिले के सभी प्राइवेट वेस्ट कलेक्टर्स की एक बैठक हुई, जिसमें डिप्टी कमिश्नर ने सभी वेस्ट कलेक्टर को कहा कि वह सिर्फ नगर काउंसिल की तरफ से चिन्हित सिर्फ 12 जगहों पर ही कूड़ा फेंके। इसके अलावा अगर किसी दूसरी जगह पर कूड़ा फेंका तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उनकी रेहड़ी भी जब्त होगी।   

निर्धारित स्थानों के अलावा किसी दूसरे जगह पर कूड़ा डंप करने वाले के खिलाफ होगी कार्रवाई, रेहड़ी भी होगी जब्त

इसलिए सिर्फ चिन्हित स्थानों पर ही कूड़ा फेंके। डिप्टी कमिश्नर ने सभी कलेक्टर्स को बताया फिरोजपुर शहर में 60 कंपोस्ट पिट्स तैयार की गई है, जिसमें गीले कूड़े (किचन वेस्ट) को डाला जाता है डिप्टी कमिश्नर श्री चंद्र गैंद ने शहर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह अपने घरों में दो डस्टबिन लगाएं। रसोई वाले किचन वेस्ट के लिए अलग बिन और अन्य कूड़े के लिए अलग डस्टबिन लगाएं। नगर काउंसिल के सैनेटरी इंस्पेक्टर सुखपाल सिंह ने कहा कि सभी कलेक्टर घरों से कूड़ा इकट्ठा करके सुबह 11 बजे से पहले-पहले निर्धारित 12 जगहों पर फेंके ताकि यहां से समय पर कूड़ा लिफ्ट करके मेन डंपिंग स्टेशन पर फेंका जा सके।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
रेलवे ट्रैक क्रॉस करते हुए बच्ची की हुई मौत 24 वर्षीय युवती ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में मकान मालिकन को ठहराया कसूरवार मैडीकल स्टोर्ज की नियमित जांच के आदेश छापेमारी के दूसरे दिन राज्य में से 3500 किलो प्लास्टिक बैग ज़ब्त नगर कौंसिल की उदासीनता से ट्रैफिक समस्या हुई विकराल सीवर की सफ़ाई करते 7 मज़दूरों की मौत पर दी श्रद्धांजलि नशा मुक्त समाज निर्माण करने के लिए सभी वर्गों के लोग प्रयास करें: एसएसपी पीडि़ता मीना केस— दोषियों के विरुद्ध होगी सख्त कानूनी कार्यवाही: चन्नी कैप्टन द्वारा अनाज भंडारण के लिए ढके गोदामों के निर्माण हेतु प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप की मांग पंथ और पंजाब हितैषी होने की ड्रामेबाजी छोड़ें बादल: प्रो. बलजिन्दर कौर