ENGLISH HINDI Tuesday, June 25, 2019
Follow us on
ताज़ा ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ाडॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस भाजपा ने श्रद्धांजलि दी डडू माजरा में जानवर जलाने के प्लांट के प्रस्ताव के विरोध में रोष प्रदर्शन, मेयर का पुतला जलायासीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहींअवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लमजीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौतहाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता
पंजाब

सड़कों पर परेशानी का सबब बने बे—सहारा पशु

April 09, 2019 08:48 PM

जीरकपुर, जे एस कलेर:
शहर की सड़कों पर घूमने वाले बे—सहारा पशु अब आफत बनने लगे है। इनकी संख्या कहीं ज्यादा बढ़ गई है। नेशनल हाईवे तक पर इनका जमावड़ा होने लगा है। इधर नगर काउंसिल के पास इस समस्या से निपटने का कोई समाधान नहीं है।
शहर की शायद ही कोई ऐसी सड़क होगी, जिस पर बेसहारा/आवारा घूमते पशु न दिखाई देते हों। बैल और गाय के रूप में ये पशु कहीं-कहीं पर तो भारी जमावड़े में मिलते है। नेशनल हाइवे तक पर इनसे समस्या हो रही है। सड़कों पर इधर-उधर घूमने से वाहन चालकों को परेशानी तो होती ही है। अक्सर कोई न कोई पशु हाइवे पर बीच सड़क में ही बैठकर जुगाली करता नजर आता है। ऐसे में किसी के लिए भी संभलकर चलना आसान नहीं रह जाता। इस स्थिति में कई बार हादसे होते-होते बचे है। कई बार ऐसी भी स्थिति पैदा हुई है कि कोई पशु बीच बाजार आतंक मचा चुका है। कुछ दिन पहले एक आवारा सांड ने अंबाला रॉड पर मंडी के नजदीक बाजार में आतंक मचाया था। जिससे कई लोग घायल भी हुए थे। प्रीतम, छोटे लाल, अब्दुल, रिजवान व रमेश लाल आदि का कहना है कि नगर काउंसिल को इन आवारा पशुओं की समस्या से निपटने के लिए सख्त कदम उठाने चाहिए जो लोग इन पशुओं को छोड़ते है उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। कर्मजीत सिंह निवासी दशमेश कलोनी का कहना है कि कई पशु पालक ऐसे है जो नगर काउंसिल के नजदीक स्टेडियम के पास वाली कालोनी में इन पशुओं को पालते है। सुबह होते ही वे इन्हे आवारा छोड़ देते है शाम होते ही फिर बांध लेते है। ऐसे लोगों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।   


प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि समय-समय पर आवारा पशुओं को पकड़ा जाता है और उन्हें उनकी सही जगह पर भेजा जाता है, ताकि किसी भी व्यक्ति को कोई परेशानी न हो। लेकिन पंचकूला की तरफ से आवारा पशु जीरकपुर की ओर खदेड़ दिए जाते हैं।

कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और पंजाब ख़बरें
विजिलेंस जांच के चलते कई अफसर नदारद, चौथे दिन भी हुई पूछताछ, हाईप्रेाफाइल मामले पर एआईजी ने कहा, जांच जारी पंजाब में गतका खेल गतिविधियों में और तेज़ी लाई जायेगी: लिबड़ा सीवरेज ओवरफ्लो की बदबू से लोग बेहाल, कोई सुनवाई नहीं अवैध निर्माणों से जीरकपुर लगातार बन रहा है अर्बन स्लम जीजा के साथ बलटाना का युवक बुलेट पर काजा घूमने निकला पहाड़ से बोल्डर गिरा, दोनों की मौके पर मौत हाई—वे किनारे मनमर्जी की पार्किंग, हादसों को न्यौंता 6 किलो भुक्की पोस्त सहित एक गिरफ्तार जीरकपुर में ट्रक ने 15 गाड़ियां ठोकीं, लगा लंबा जाम विजीलैंस के छापे के बाद कई कॉलोनाइजरों के दफ्तरों में छाया सन्नाटा ढकोली में एक ही रात में आठ दुकानों के ताले चटका लाखों का माल उड़ाया, दुकानदारों में भारी रोष