ENGLISH HINDI Monday, April 22, 2019
Follow us on
चंडीगढ़

लोकसभा चुनाव सीपीआई (एमएल) रेड स्टार ने चंडीगढ व पंजाब से उमीदवार की घोषणा की

April 10, 2019 08:54 PM
चंडीगढ़, सुनीता शास्त्री
लोकसभा चुनावों के मद्देनजर सी पी आई ( एम एल) रेड स्टार ने चंडीगढ़ढ़ और पंजाब में दो जगह चुनाव लडऩे जा रही है। इसके लिए पार्टी ने अपने दो उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। पार्टी ने इस मौके अपने घोषणा पत्र को भी रिलीज किया। सी पी आई ( एम एल) रेड स्टार की ओर से चंडीगढ़ के लिए यहाँ कामरेड लश्कर सिंह उमीदवार होंगे, वही पंजाब के जिला संगरूर से कामरेड जीत सिंह का नाम पार्टी उमीदवार होंगे।
लश्कर सिंह ने बताया कि अगर देश की सता से भाजपा को परास्त करना है तो निश्चित रूप से जन विकल्प के लिए सभी एकजुट हों। मोदी और भगवा ताकतों द्वारा चुनावों के ऐन पूर्व चालाकी से आतंकवाद- विरोधी युद्धोन्माद और पाकिस्तान के प्रति नफरत का माहौल पैदा किया गया है। हालांकि बॉर्डर पर तनाव काम हों चूका है, लेकिन मीडिया जगत अब भी युद्धोन्माद को हवा दे रहा है। हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों से पता चलता है कि नव उदारवादी मोदी राज के खिलाफ जन असंतोष बढ़ रहा है।
विद्यार्थियों और नौजवानों के आंदोलन, मर्दवादी उत्पीडन और लैंगिक असमानता के खिलाफ महिलाओं का आक्रोश, पर्यावरण और आवास स्थलों कि रक्षा के लिए संघर्ष इत्यादि धीरे धीरे गति पकड़ रहे हंै। उन्होंने आगे कहा कि देश में फैल रही आराजकता के साथ साथ बेरोजगारी और भ्रष्टाचार उनके मुख्य एजेंडों में शामिल है। उन्होंने बताया कि देश में इस समय मोदी राज नहीं,बल्कि फासीजिम है।
आरएसएस की बागडोर में देश की सरकार चल रही है । आज देश का हर नागरिक जानता है, देश को बी जे पी नहीं आरएसएस ऑपरेट कर रही है। अगर मोदी सरकार कहती है कि जी एस टी और नोटबंदी वाकई में ऐतिहासिक फैसले थे, तो मोदी सरकार क्यों नहीं इन मुद्दों पर वोट मांगती। क्यों वो हिन्दुवाद और कांग्रेस के 70 साल के शासन को लेकर ही हमेशा भाषण देते रहेंगे और कांग्रेस को कोसते रहेंगे। मोदी और उनके मंत्री अपने भाषणों में हमेशा यही कहते है कि मोदी के राज में देश का भरपूर विकास हुआ है।अगर ऐसा है तो क्यों नहीं वो अपने किये विकास के दम पर वोट मांगते।लश्कर सिंह ने बताया की उनकी पार्टी के मुख्य मुद्दे हैं।चंडीगढ़-पंजाब का अभिन्न अंग है। इसे पंजाब से छीना गया है।चंडीगढ़पंजाब की राजधानी थी, लेकिन इसे यू टी का दर्जा दे दिया गया है । जो की पूर्णत: गलत है। इससे पंजाब की जनता अपने को ठगा सा महसूर कर रही है। केंद्र सरकार इसे सिंगल स्टेट कैपिटल डिक्लेअर करे,अन्यथा लोग संघर्ष करने को मजबूर होंगे। पंजाब का पानी भी केंद्र सरकार ने अपने कब्जे में ले कर अन्य राज्यों लुटा दिया है।
अकाली दल-भाजपा का सहयोगी दल होने के चलते राज्य के ज्वलंत मुद्दों से भाग रहा है ।जबकि केंद्र में भाजपा की सरकार होने के बाबजूद भी बी जे पी ने पंजाब के लिए कुछ नहीं किया, बल्कि स्थानीय भाजपा नेतृत्व ने भी इन मुद्दों को नजरअंदाज ही किया है । बेरोजगारी और भ्रष्टाचार का मुद्दा भी उनके मुख्य एजेंडे में शामिल है। राज्य सरकार की जन विरोधी और व्यवसाय विरोधी नीतियों के चलते राज्य से लगभग 20000 इंडस्ट्रीज पलायन कर अन्य राज्यों में शिफ्ट कर गयी है, यहाँ उन्हें इंडस्ट्री लगाने के लिए सब्सिडी मिल रही है ।
कांग्रेस और भाजपा एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगा रही है। देश के विकास को लेकर इनके पास कोई ठोस एजेंडा नहीं है, मकसद है तो सिर्फ और सिर्फ सता पर काबिजहोना। उन्होंने बताया कि उनके चुनाव घोषणा पत्र में अफस्पा और  यू ए पी ए जैसे अहम मुद्दे को भी बेहद गंभीरता से उठाया गया है।
कुछ कहना है? अपनी टिप्पणी पोस्ट करें
और चंडीगढ़ ख़बरें
मानवता की सेवा जीवन जीने की खुशी देता है: संजय टंडन धूम धाम से मनाया गया ईस्टर सीपीआई (एमएल) ने विद्यार्थियों पर जबरन थोपे जा रहे हिंदी और इंग्लिश मीडियम का किया विरोध विश्व वैष्णव राज सभा के अन्तर्राष्ट्रीय वैष्णव सम्मेलन में देशी विदेशी संतों ने लिया हिस्सा चंडीगढ़ के फूड लवर्स के लिए खुला वसाबी रैमन सर्कस के कलाकारों ने लोगों को मतदान के लिए किया जागरूक एलईडी के माध्यम से मोदी सरकार की उपलब्धियाँ प्रचार करेंगे भाजपा के 2 रथ चण्डीगढ़ कांग्रेस के स्पेशल इन्वाइटी राज नागपाल झूठे वादे करने पर किरण खेर पर बरसे भीमराव अंबेडकर की जयंती पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन स्टडी वीजा पर सेमिनार का आयोजन, सेमिनार आयोजित किया, इनोवेटिव 50 लाख के स्टार्टअप को फैमिली वीजा